Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजट्रेन में पति-पत्नी पर कर दिया पेशाब, दम भर पी रखी थी शराब: जुर्माना...

ट्रेन में पति-पत्नी पर कर दिया पेशाब, दम भर पी रखी थी शराब: जुर्माना भरने के बाद आरोपित रिहा

सीनियर सिटीजन जीएन खरे और उनकी पत्नी ट्रेन के एसी कोच में निचली बर्थ पर थे। उसी डिब्बे में यात्रा कर रहे रितेश शराब के नशे में था। कोच के भीतर ही उसने पेशाब कर दी, इसकी कुछ बूंदें बुजुर्ग कपल पर गिर गईं।

फ्लाइट के बाद अब ट्रेन में साथी पैसेंजर पर पेशाब करने का मामला सामना आया है। घटना यूपी में संपर्क क्रांति ट्रेन में बुधवार (4 अक्टूबर, 2023) को हुई है। इसमें सफर कर रहे वैज्ञानिक बुजुर्ग कपल ने जब एक शख्स के ट्रेन में शराब पीने को लेकर एतराज जताया तो उसने उन पर पेशाब कर दी।

इस घटना की शिकायत रेलवे को दी गई। ट्रेन के टिकट चेकर (टीटीई) के बयान के आधार पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। आरोपित को रेलवे पुलिस बल (आरपीएफ) ने झाँसी रेलवे स्टेशन पर उतार लिया। उसे हिरासत में लेकर मामले की जाँच शुरू कर दी गई है। ये ट्रेन उत्तर प्रदेश के मानिकपुर जंक्शन और दिल्ली के हज़रत निज़ामुद्दीन के बीच चलती है।

उत्तर मध्य रेलवे के चीफ पीआरओ हिमांशु शेखर उपाध्याय ने बताया कि सीनियर सिटीजन जीएन खरे और उनकी पत्नी ट्रेन के बी3 एसी कोच में निचली बर्थ पर थे। उसी डिब्बे में यात्रा कर रहे रितेश कथित तौर पर शराब के नशे में था। इस दौरान उसने पेशाब कर दी और इसकी कुछ बूंदें बुजुर्ग कपल पर गिर गईं।

उन्होंने बताया कि आरोपित झाँसी से 164 किलोमीटर दूर यूपी के महोबा से दिल्ली जा रहा था। इस घटना के बाद कोच के सह-यात्रियों ने टीटीई को सूचना दी, जिसके तुरंत बाद कोच को साफ किया गया। उन्होंने आगे बताया कि मध्य प्रदेश के हरपालपुर से हज़रत निज़ामुद्दीन का सफर कर रहे कपल की शिकायत पर टीटीई ने झाँसी के रेलवे नियंत्रण कक्ष को इसकी सूचना दी थी।

वहीं उत्तर मध्य रेलवे के पीआरओ मनोज सिंह ने बताया कि जब ट्रेन झाँसी पहुँची तो आरपीएफ ने रितेश को उतार लिया और उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपित पर रेलवे अधिनियम की धारा 145 के तहत आरोप लगाया गया, जो नशे और उपद्रव से संबंधित है। झाँसी में आरपीएफ के प्रभारी आर कौशिक ने कहा कि रेलवे अधिनियम के प्रावधानों के मुताबिक, जुर्माना भरने के बाद आरोपित को रिहा कर दिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -