Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजभाई सरिया चोर, अब्बा और जीजा बेचते थे चोरी का माल: यूट्यूबर फरमानी नाज...

भाई सरिया चोर, अब्बा और जीजा बेचते थे चोरी का माल: यूट्यूबर फरमानी नाज के अपने निकले लूटेरे, UP पुलिस ने 8 को पकड़ा

जिस फरमानी नाज के परिवार के सदस्यों को डकैती के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, वह इस साल सावन के महीने में शिव शंभू का गाना गाकर यूट्यूब पर छा गई थीं।

‘हर-हर शंभू’ गाना गाकर चर्चा में आई यूट्यूबर फरमानी नाज के सगे भाई अरमान को पुलिस ने डकैती के आरोप में गिरफ्तार किया है। इस मामले में फरमानी के अब्बा आरिफ और जीजा इरशाद की भी पुलिस तलाश कर रही है। एक महिंद्रा पिकअप और लूटा गया सरिया भी बरामद किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला उत्तर प्रदेश के मेरठ के सरधना का है। सरधना पुलिस ने सोमवार (7 नवंबर 2022) को सरिया लूटने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए निर्माणाधीन साइट से डकैती करने वाले आठ बदमाशों को गिरफ्तार किया। उन्होंने इनके कब्जे से चोरी का 200 किलो सरिया और घटना में इस्तेमाल किया गया महिंद्रा पिकअप भी बरामद किया। बताया जा रहा है कि महिंद्रा पिकअप का इस्तेमाल ये लोग लूट की घटना को अंजाम देने के लिए करते थे।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि फरमानी नाज का भाई अरमान ग्रुप का सक्रिय सदस्य है। इसके अलावा उसके अब्बा और जीजा लूट के माल को खपाने में अहम भूमिका निभाते हैं। ये तीनों अपराधी डकैती की वारदात को अंजाम देने के साथ ही चुराए गए माल को बाजार में बेचने का काम करते थे। फिलहाल पुलिस इस गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी करने में जुट गई है।

एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि करीब एक महीने पहले टेहरकी गाँव में बन रही पानी की टंकी पर चौकीदार को बंधक बनाकर सरिया लूटा गया था। बदमाश चौकीदार का मोबाइल भी लूटकर ले गए थे। सरधना पुलिस ने जाँच की तो कुछ लोगों के नाम सामने आए। उन्हें रविवार (6 नवंबर 2022) रात को सूचना मिली कि सरिया लूट गिरोह के सदस्य खिर्वा जलालपुर में वारदात करने जा रहे हैं। तभी पुलिस ने घेराबंदी करके कंकरखेड़ा निवासी अनुज, मोनू, शाकिर, इरशाद, शाहरुख, टेहरकी गाँव सरधना निवासी फिरोज और मोहम्मदपुर लोहड्डा मुजफ्फरनगर निवासी अरमान को गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने आगे बताया कि गिरफ्तार आठ आरोपितों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है। फरार आरोपितों को पकड़ने के लिए मुजफ्फरनगर में कई जगह दबिश दी गई है।

कौन हैं फरमानी नाज

जिस फरमानी नाज के परिवार के सदस्यों को डकैती के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, वह इस साल सावन के महीने में शिव शंभू का गाना गाकर यूट्यूब पर छा गई थीं। इसकी वजह से फरमानी नाज को कट्टरपंथियों की नफरत भी झेलनी पड़ी थी। गंदी-गंदी गालियों के अलावा उन्हें इस्लाम का ज्ञान दिया जा रहा था। मजहबी उलेमा उन्हें ये बता रहे थे कि कैसे उनका ‘हर हर शंभू’ गाना इस्लाम के खिलाफ है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली हाईकोर्ट ने शिव मंदिर के ध्वस्तीकरण को ठहराया जायज, बॉम्बे HC ने विशालगढ़ में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक: मंदिर की याचिका रद्द, मुस्लिमों...

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मकबूल अहमद मुजवर व अन्य की याचिका पर इंस्पेक्टर तक को तलब कर लिया। कहा - एक भी संरचना नहीं गिराई जाए। याचिका में 'शिवभक्तों' पर आरोप।

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -