Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजगुल से हसीना बानो करती थी दॉंतों की सफाई, मोहम्मद वैश ने दिया तीन...

गुल से हसीना बानो करती थी दॉंतों की सफाई, मोहम्मद वैश ने दिया तीन तलाक

सात महीने पहले ही हुआ था निकाह, तीन लाख रुपए और बुलेट की मॉंग पूरी नहीं होने पर ससुराल वाले बानो को कर रहे थे प्रताड़ित। पिता के सामने पति ने दे दिया तीन तलाक।

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में नवविवाहिता को तीन तलाक देने का मामला सामने आया है। पीड़िता हसीना बानो का सात महीने पहले ही मोहम्मद वैश से निकाह हुआ था। बानो के मुताबिक दहेज की मॉंग पूरी नहीं करने और गुल से दातुन करने की वजह से वैश ने उसे तीन तलाक दे दिया।

वैश ने बानो को उसके पिता के सामने ही तलाक दिया, जिसके कारण उन्हें लकवा मार गया। मसौली थाने में पीड़िता ने इस संबंध में तहरीर दी है। वैश का दावा है कि उसकी बीवी को गुल की लत थी और जब वह बाजार से गुल लाना भूल गया तो उसने घर में हंगामा खड़ा कर दिया। उसने बताया, “सात महीने पहले हमारा निकाह हुआ था। लेकिन कौन इस तरह की आदतें बर्दाश्त करेगा? उसके मोबाइल फोन में भी आपत्तिजनक चीजें थीं।”

वहीं, बानो का दावा है कि निकाह के बाद से ही दहेज के लिए वैश उसे प्रताड़ित कर रहा था। उसने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा, “निकाह के बाद से ही वैश और उसके परिजन दहेज के लिए मुझे प्रताड़ित कर रहे थे। मेरे गंदे वीडियो बनाकर वह सभी को दिखाने की धमकी देता था। इन सब बातों से परेशान होकर मैंने अपने घर वालों को खबर की थी।”

बानो के भाई सगीर ने भी दावा किया है कि उसकी बहन को दहेज के लिए अरसे से प्रताड़ित किया जा रहा था। उसने कहा, “बानो को उसके ससुराल वाले प्रताड़ित कर रहे थे। वैश की मोबाइल की दुकान है। वह नशा देकर बानो की आपत्तिजनक वीडियो बनाता था। हमने शादी के वक्त उसे दहेज दिया था, लेकिन अब वह तीन लाख रुपए और बुलेट की मॉंग कर रहा था।”

हालाँकि एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि दहेज के लिए प्रताड़ित करने के साक्ष्य अब तक नहीं मिले हैं। अधिकारी ने बताया, “बानो ने अपनी तहरीर में तीन लाख रुपए और बुलेट के लिए प्रताड़ित करने की बात कही है। लेकिन अब तक की जॉंच में इसके साक्ष्य नहीं मिले हैं।” उन्होंने बताया कि मामले की जॉंच जारी है और कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -