Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजनाम - गीता रुचिका, काम - हिन्दू धर्म और देवी-देवताओं को लेकर अश्लील पोस्ट,...

नाम – गीता रुचिका, काम – हिन्दू धर्म और देवी-देवताओं को लेकर अश्लील पोस्ट, आतिशी के साथ तस्वीर: लिखा – ‘भगवान को खिलाते हो लेकिन ह$%ते क्यों नहीं?’

एक अन्य कमेंट में उसने लिखा, "भगवन कंडोम लगाते थे सृष्टि रचना के लिए।" आलोचनाओं के बावजूद अब ही वो लगातार इस तरह के पोस्ट कर रही है।

दक्षिणी दिल्ली की एक महिला है – गीता रुचिका। नाम भले ही हिन्दुओं वाले हों, लेकिन इसका एक ही काम है – हिन्दू धर्म का मजाक बनाना और हिन्दू देवी-देवताओं पर अश्लील टिप्पणियाँ करना। सोशल मीडिया में ये ऐसा ज़हर फैलाती है कि इससे हिन्दू धर्म को लेकर इसकी घृणा साफ़-साफ़ झलकती है। इसकी कुछ टिप्पणियाँ इतनी अभद्र हैं, जिन्हें लिखा भी नहीं जा सकता। AAP की मंत्री आतिशी मार्लेना के साथ भी इसने तस्वीर डाल रखी है।

इसका जो ताज़ा पोस्ट वायरल हो रहा है, उसे इसने अपने फेसबुक हैंडल से डाला है। इसमें उसने लिखा है, “मेरा तो एक ही सवाल है। भगवान को खिलाते हो लेकिन ह$%ते क्यों नहीं? उसकी दाढ़ी भी नहीं कटवाते हो। झाँ$ का बाल भी बड़ा हो गया होगा। सदियों से भक्तों ने ध्यान नहीं दिया।” कई लोगों ने इस महिला के पोस्ट का स्क्रीनशॉट लेकर दिल्ली पुलिस को टैग किया है, लेकिन अब तक उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई है।

लोग इस दौरान ये भी पूछ रहे हैं कि क्या AAP और आतिशी मार्लेना ऐसे तत्वों से संबंध रखती हैं? इतना ही नहीं, आलोचनाओं के बावजूद इस फेसबुक पोस्ट की कमेंट में गीता रुचिका जहर उगलती रही। उसने लिखा, “ह%ने के बाद भक्त गाँ# धोता है या भगवान खुद धोते हैं? या टिशू पेपर से पोछ कर काम चला लेते हैं?” एक अन्य कमेंट में उसने लिखा, “भगवन कंडोम लगाते थे सृष्टि रचना के लिए।” आलोचनाओं के बावजूद अब ही वो लगातार इस तरह के पोस्ट कर रही है।

हिन्दू धर्म और देवी-देवताओं को लेकर गीता रुचिका का अश्लील फेसबुक पोस्ट व कमेंट्स

उसकी पूरी की पूरी टाइमलाइन ही इस तरह की पोस्ट्स से भरी पड़ी है। उसने ये भी लिखा कि सनातन धर्म में महिलाओं का कोई सम्मान नहीं है। एक अन्य कमेंट्स में बागेश्वर बाबा की तस्वीर लगा कर उसने लिखा, “राम जी के 5 बाप थे। स्वीकार करना बड़ा मुश्किल है।” साथ ही उसने भारत को खंडित करने की बात भी की और लिखा कि महिलाओं-पुरुषों का अलग-अलग देश होना चाहिए। उसने ‘वट सावित्री’ व्रत और सिंदूर लगाने की प्रथा के खिलाफ भी अपनी घृणा दर्शाई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2018, 2019, 2023, 2024… साल दर साल ‘ये मोदी सरकार का अंतिम बजट’ कह-कह कर थके संजय झा: जिस कॉन्ग्रेस ने अनुशासनहीन कह कर...

संजय झा ने 2023 के वार्षिक बजट को उबाऊ बताया था और कहा था कि ये 'विनाशकारी' भाजपा को बाय-बाय कहने का समय है, इसे इनका अंतिम बजट रहने दीजिए।

मानहानि मामले में यूट्यूबर ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली कोर्ट ने जारी किया समन, BJP नेता की शिकायत के बाद सुनवाई: अदालत ने कहा-...

ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली की एक कोर्ट ने मानहानि मामले में समन जारी किया है। ये समन भाजपा नेता सुरेश करमशी नखुआ द्वारा द्वारा शिकायत के बाद जारी हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -