Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजयति नरसिंहानंद की जमानत याचिका फिर खारिज, मुस्लिम महिलाओं पर 'अपमानजनक' टिप्पणी को हरिद्वार...

यति नरसिंहानंद की जमानत याचिका फिर खारिज, मुस्लिम महिलाओं पर ‘अपमानजनक’ टिप्पणी को हरिद्वार कोर्ट ने बताया- गंभीर मामला

कथित तौर पर नरसिंहानंद को ने कहा था कि मुसलमानों ने सब कुछ कब्जा कर लिया है। वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए हैं, आरएसएस पर कब्जा कर लिया है। उन्होंने कहा था कि इस्लाम की सेवा के लिए उनकी (मुस्लिमों की) महिलाएँ अपने पुरुष की मिस्ट्रेस के रूप में काम करती हैं और वही महिलाएँ) उनकी सबसे बड़ी ताकत हैं।

उत्तराखंड की जेल में बंद उत्तर प्रदेश के डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद (Yati Narsinghanand) की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। मुस्लिम महिलाओं पर तथाकथित अभद्र टिप्पणी के मामले में हरिद्वार की सीजीएम कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज करते हुए उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया।

नरसिंहानंद के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 295A और 509 के तहत मामला दर्ज किया गया है। नरसिंहानंद पर आरोप है कि उनके दो वीडियो ट्विटर और यूट्यूब पर पोस्ट किए गए थे, उनमें मुस्लिम महिलाओं के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है।

अपनी जमानत याचिका में नरसिंहानंद ने तर्क दिया कि वह गंभीर रूप से बीमार हैं और उन्हें झूठे मामले में फँसाया गया है। इसलिए उन्हें जमानत दी जाए। उन्होंने खुद को निर्दोष बताते हुए यह भी कहा कि FIR में उनके खिलाफ कोई आरोप नहीं लगाया गया है और ना ही यह बताया गया है कि उन्होंने किसी समुदाय के खिलाफ क्या बयान दिया था और किनकी भावनाओं को ठेस पहुँचा है।

उनके तर्कों पर गौर करते हुए सीजेेएम मुकेश आर्य ने कहा कि आरोपित के खिलाफ गंभीर प्रकृति के अपराध हैं। उन्होंने आगे कहा, सीआरपीसी की धारा 41A के तहत नोटिस जारी करने के बावजूद याचिकाकर्ता (नरसिंहानंद) ने सोशल मीडिया के माध्यम से धार्मिक भावनाओं को भड़काकर सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने का प्रयास करता रहा।”

कथित तौर पर नरसिंहानंद को ने कहा था कि मुसलमानों ने सब कुछ कब्जा कर लिया है। वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए हैं, आरएसएस पर कब्जा कर लिया है। उन्होंने कहा था कि इस्लाम की सेवा के लिए उनकी (मुस्लिमों की) महिलाएँ अपने पुरुष की मिस्ट्रेस के रूप में काम करती हैं और वही महिलाएँ) उनकी सबसे बड़ी ताकत हैं।

इस मामले एफआईआर दर्ज कराने के बाद नरसिंहानंद को 16 जनवरी 2022 को गिरफ्तार कर लिया गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -