Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को नहीं पचा पाए मुस्लिम कट्टरपंथी: बिहार-झारखंड से लेकर कर्नाटक...

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को नहीं पचा पाए मुस्लिम कट्टरपंथी: बिहार-झारखंड से लेकर कर्नाटक और महाराष्ट्र तक हिंदुओं पर हुए हमले

अयोध्या के राम मंदिर में 22 जनवरी 2024 को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हो गई। इसको लेकर देश भर के हिन्दू हर्षोल्लास में मना रहे थे। हालाँकि, कट्टरपंथी मुस्लिमों को हिंदुओं का यह उत्साह पसंद नहीं आया। प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव मनाते हुए हिन्दुओं पर कई जगह हमले किए गए।

अयोध्या के राम मंदिर में 22 जनवरी 2024 को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हो गई। इसको लेकर देश भर के हिन्दू हर्षोल्लास में मना रहे थे। हालाँकि, कट्टरपंथी मुस्लिमों को हिंदुओं का यह उत्साह पसंद नहीं आया। प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव मनाते हुए हिन्दुओं पर कई जगह हमले किए गए। कहीं शोभायात्रा पर पथराव हुआ तो कहीं भगवा ध्वज का अपमान किया गया। ऑपइंडिया ने इन घटनाओं को संकलित किया है।

21 जनवरी: मीरा रोड में हिन्दुओं पर हमला, ध्वज का अपमान

प्राण प्रतिष्ठा से एक दिन पहले यानी 21 जनवरी 2024 की रात को महाराष्ट्र स्थित ठाणे के मीरा रोड में कुछ हिन्दू युवक गाड़ियों पर शोभा यात्रा निकाल रहे थे। यात्रा जैसे ही भायंदर इलाके में मीरा रोड पर पहुँची, मुस्लिमों ने इसे निशाना बनाया दिया। उपद्रवियों ने गाड़ियों में तोड़फोड़ की और यात्रा में शामिल महिलाओं के साथ मारपीट और अभद्रता की। जिहादियों ने भगवान हनुमान के पोस्टर पर उलटी तक कर दी। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करके कुछ उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है।

21 जनवरी: मेहसाणा में हिन्दुओं पर हमला

गुजरात के मेहसाणा के खेड़ालू में हिन्दू श्रद्धालुओं पर मुस्लिमों ने पथराव किया। यहाँ राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष्य में शोभा यात्रा का आयोजन किया गया था। यात्रा पर पथराव करने में मुस्लिम महिलाएँ भी शामिल थीं। यात्रा को देखते हुए कट्टरपंथी मुस्लिमों ने पहले से ही छतों पर पत्थर जमा कर लिए थे। जब श्रद्धालु इलाके में पहुँचे तो उन पर हमला कर दिया। पुलिस ने अब तक 15 आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

21 जनवरी: वडोदरा में हिन्दुओं पर हुआ हमला

गुजरात के वडोदरा स्थित भोज गाँव में 22 जनवरी के दिन मुस्लिमों ने हिन्दुओं पर उस समय हमला कर दिया, जब वे प्रभु श्रीराम की शोभायात्रा निकाल रहे थे। इस मामले में पुलिस ने 16 लोगों के विरुद्ध FIR दर्ज की है। FIR की कॉपी ऑपइंडिया के पास है। यह यात्रा लगभग डेढ़ घंटे के बाद नगीना मस्जिद पहुँची। यहीं पर मुस्लिमों ने हिन्दुओं पर हमला कर दिया।

नगीना गली पहुँचने के बाद कट्टरपंथियों ने शोभायात्रा को रोक लिया और हिंदुओं से कहा, “दोबारा ऐसा करने की कोशिश मत करना, क्योंकि आज हम 2-4 हिन्दुओं को काटेंगे। जितने भी हिन्दू सामने पड़े मार दो।” इसके बाद कट्टरपंथी यात्रा पर हमला करने के लिए आगे बढ़ गए और चिल्लाने लगे कि किसी को जिन्दा नहीं छोड़ना है।

22 जनवरी: शिवमोगा में अल्लाहु अकबर के नारे, अपमानजनक बातें

कर्नाटक हिन्दू अयोध्या के राम मंदिर में भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर उत्सव मनाने के लिए इकट्ठा हुए थे। यह कार्यक्रम शिवमोगा के शिवप्पा नायक चौक पर हो रहा था। यहाँ एकत्रित हुए हिन्दू ‘जय श्रीराम’ के नारे लगा रहे थे। इसी दौरान एक बुर्के वाली महिला आई और लोगों से बहस करने लगी। महिला ने इस दौरान भक्तों के बीच में अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाए और उल्टी-सीधी बातें कीं। बताया गया कि यह महिला एक बाइक पर यहाँ पहुँची थी और साथ में एक बच्चे को लिए हुए थी।

22 जनवरी: दरभंगा में रामलला की शोभायात्रा पर पथराव

बिहार के दरभंगा में रामलला की शोभा यात्रा पर भी पथराव किया गया। दरभंगा जिले के सिंहवाड़ा थाने के भपुरा गाँव में श्रीराम शोभायात्रा पर पथराव किया गया। उपद्रवियों ने दो बाइक सहित डीजे वाहन को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया। अचानक हुए हमले से शोभायात्रा में शामिल रामभक्तों में अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने मौके पर पहुँचकर स्थिति को नियंत्रित किया।

22 जनवरी: झारखंड के गिरिडीह में हिन्दुओं पर हमला

शोभायात्रा पर हमले को लेकर गिरिडीह में तनाव के कई मामले दर्ज किए गए हैं। ऐसे ही एक मामले में आजाद नगर के पास बिरनी के RSS कार्यकर्ता रोहित महतो पर जानलेवा हमला किया गया। इससे वे गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं, मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चुंजका के पास जमकर पथराव हुआ।

बताया गया कि पूर्णानगर राम मंदिर के पास से लोग जुलूस निकालकर चुंजका ‘बजरंग बली’ मंदिर जा रहे थे। मंदिर के पास पहुँचने के बाद कट्टरपंथी मुस्लिमों की एक भीड़ ने अपने-अपने घरों की छतों से पथराव शुरू कर दिया। इसमें कई लोग घायल हो गए हैं। घायलों में पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।  

22 जनवरी: झारखंड के लोहरदगा में बवाल

झारखंड के लोहरदगा में भी तनाव की खबरें सामने आईं। यहाँ कैरो थाना क्षेत्र के हनहट गाँव में 22 जनवरी को अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान को लेकर उत्सव मनाया जा रहा था। इसी बीच मंदिर में गाना बजाने के दौरान दोनों पक्ष के लोग आमने-सामने हो गए और लाठी डंडे के साथ भीड़ ने मंदिर को घेर लिया। एसपी हारिस बिन जमा ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए पुलिस बल की तैनाती की गई है।

22 जनवरी: झारखंड के धनबाद में भी बवाल

धनबाद के टुंडी थाना इलाके में कदैयाँ में रविवार को तनाव फैला था, इसके बाद 22 जनवरी 2024 की शाम को छाताबाद में जुलूस निकालने के दौरान कट्टरपंथी बाहर निकल आए और हिंदुओं से भिड़ गए। कट्टरपंथियों ने ना सिर्फ बहस की, बल्कि मारपीट भी की। वहीं, 21 जनवरी 2024 को कदैयाँ में धार्मिक झंडा लगाने को लेकर दो पक्षों के बीच भिड़ंत हुई, जिसमें कई लोग जख्मी हो गए थे। इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से टुंडी थाना में लिखित शिकायत की गई है।

22 जनवरी: नांदेड़ में प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव मनाते हिन्दुओं पर हमला

महाराष्ट्र के नांदेड़ में मुस्लिमों ने हिंदू श्रद्धालुओं पर हमला कर दिया। नांदेड़ के चिखली गाँव के मंदिर में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम मनाने पर मुस्लिमों ने हिंदुओं के साथ धक्का-मुक्की की और धमकी दी। पुलिस ने इस मामले का संज्ञान लिया है और असलम खान और गफ्फार खान के खिलाफ मामला दर्ज किया। बताया गया है कि यह दोनों हिन्दू आस्था के विरुद्ध उलटी सीधी बातें कर रहे थे।

22 जनवरी: पनवेल में हिंदू बाइक रैली पर हमला

नवी मुंबई के पनवेल में प्राण प्रतिष्ठा का जश्न मनाने के लिए एक बाइक रैली का आयोजन किया गया था। इस पर कट्टरपंथी मुस्लिमों ने हमला कर दिया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, भीड़ ने पीछे से हमला कर तीन हिंदुओं को गंभीर रूप से घायल कर दिया। इस दौरान वाहनों में तोड़फोड़ की गई और एक व्यक्ति की पीठ और एक के सिर में चाकू मारा गया।

22 जनवरी: नागपुर में हिन्दू युवकों पर हमला

नागपुर के मोमिनपुरा इलाके से गुजरते समय ‘जय श्रीराम’ का नारा लगा रहे कुछ हिंदू लड़कों पर हमला किया गया। बताया गया कि लड़के छोटी खदान में हनुमान मंदिर की ओर जा रहे थे। जब लड़के यह पूछने के लिए रुके कि चप्पल किसने फेंकी तो 30 से अधिक मुस्लिमों की भीड़ इकट्ठा हो गई और 14 वर्षीय हिंदू लड़के की बेरहमी से पिटाई कर दी। इसी तरह का दृश्य संभाजी नगर के पडेगाँव इलाके से सामने आया, जहाँ दो समूहों के बीच लाठियां और पत्थर फेंके गए। इस मामले में 64 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

22 जनवरी: कुशीनगर में शोभायात्रा पर हमला

कुशीनगर में भगवान राम की शोभा यात्रा के आयोजन पर मुस्लिम समुदाय ने विवाद पैदा कर दिया। इस दौरान पथराव भी किया गया। इसमें कुछ मोटरसाइकिलें क्षतिग्रस्त हो गईं और कई लोग घायल हो गए। हालाँकि, पुलिस ने दावों का खंडन किया है। आपसी झगड़े का एक ऐसा ही मामला आज़मगढ़ जिले के जहानाबाद पुलिस थाना क्षेत्र में सामने आया, जब इस्लामी कट्टरपन्थियों ने बड़ी संख्या में सड़कों पर इकट्ठा होकर जुलूस को रोक दिया और साथ में चल रहे डीजे को बंद कर दिया।

22 जनवरी: बिहार के मुजफ्फरपुर में हिन्दुओं पर हमला

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक विवाद के बाद हिंदू और मुस्लिमों के बीच जमकर पथराव हुआ। रिपोर्टों के मुताबिक, मुस्लिमों ने न केवल यात्रा में शामिल युवाओं पर पथराव किया बल्कि कई घरों को भी निशाना बनाया। इसके अलावा तलवारों से भी हमले की खबरें हैं।

22 जनवरी: कर्नाटक के बेलगावी में जय श्रीराम कहने पर पथराव

कर्नाटक के बेलगावी में भी प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव मना रहे हिन्दुओं पर पथराव किया गया। यहाँ मुस्लिमों ने यात्रा निकाल रहे हिन्दुओं के ऊपर पत्थरबाजी की। यह घटना भी 22 जनवरी 2024 की ही है। बताया गया कि जहाँ पथराव हुआ, वे मुस्लिम जनसंख्या वाले इलाके हैं। यहाँ उत्सव मना रहे हिन्दू ‘जय श्री राम’ के नारे लगा रहे थे, जो कट्टरपंथियों को पसंद नहीं आया।

24 जनवरी: बरेली में आतिशबाजी करते हिन्दुओं पर हमला

बरेली के सिरौली में 24 जनवरी 2024 को वरुण रस्तोगी अपने परिवार के साथ घर के बाहर गली में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव मना रहे थे। इस दौरान वे आतिशबाजी कर रहे थे। इसी दौरान सिरौली के ही रहने वाले शावेज, वसीम, सुहैल, कय्यूम, दानिश और सहाना ने वरुण और उनके बच्चों पर लाठी डंडों से हमला बोल दिया

कट्टरपंथी मुस्लिम हमलावरों ने उन पर हमला करते हुए कहा कि ‘बहुत रामभक्त बनते हो, आज तुम्हें जान से मार देंगे’। इस दौरान उन्हें बचाने आई उनकी पत्नी पर भी मुस्लिम हमलावरों ने हमला कर दिया। इस हमले में वरुण, उनकी पत्नी और दो बच्चे घायल हो गए। उन्होंने इसको लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

IAS बेटी ऑडी पर बत्ती लगाकर बनाती थी भौकाल, माँ-बाप FIR के बाद फरार: पूजा खेडकर को जाँच के बाद डॉक्टरों ने नहीं माना...

पूजा खेडकर का मामला मीडिया में उठने के बाद उनके माता-पिता से जुड़ी कई वीडियो सामने आई है। ऐसे में पुलिस ने उनकी माँ के खिलाफ एफआईआर की है।

शूटिंग क्लब का सदस्य था डोनाल्ड ट्रम्प पर गोली चलाने वाला, शिकारी वाली वेशभूषा थी पसंद: रिपब्लिकन पार्टी ने बुलाया राष्ट्रीय सम्मेलन, पूर्व राष्ट्रपति...

वो लगभग 1 साल से पास में ही स्थित 'क्लेयरटन स्पोर्ट्समेन क्लब' का सदस्य भी था। इसमें कई शूटिंग रेंज हैं। पहले से कोई भी आपराधिक या ट्रैफिक चालान का मामला दर्ज नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -