Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज'सभी को कैम्पस में बैठ कर शराब पीना चाहिए': वीडियो में छात्रा ने की...

‘सभी को कैम्पस में बैठ कर शराब पीना चाहिए’: वीडियो में छात्रा ने की माँग, CCTV के विरोध में बंगाल की यूनिवर्सिटी के छात्रों का प्रदर्शन

"हम यूनिवर्सिटी को अपना दूसरा घर मानते हैं। यही कारण है कि अगर हम यूनिवर्सिटी कैंपस में शराब और सिगरेट पीना चाहते हैं तो हमें इसका पूरा अधिकार है।"

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में स्थित जादवपुर यूनिवर्सिटी से एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में स्टूडेंट्स यूनिवर्सिटी परिसर में लगाए जा रहे सीसीटीवी का विरोध करते दिखाई दे रहे हैं। इसी दौरान एक लड़की ने यूनिवर्सिटी कैंपस में शराब पीने की वकालत की है। यही नहीं उसने कहा है कि सभी को यूनिवर्सिटी में बैठकर शराब पीना चाहिए।

TNN नामक यूट्यूब चैनल ने यादवपुर यूनिवर्सिटी के कुछ छात्रों से बातचीत की है। इसी दौरान श्रीजाता नामक लड़की ने कहा है, “यूनिवर्सिटी द्वारा यहाँ लगाए जा रहे सीसीटीवी के हम खिलाफ हैं। हमारा मानना है कि आज के इस युग में जहाँ हर किसी के हाथ में फोन हैं। दंगों और भीड़ से जुड़े घण्टों के फुटेज हैं। लेकिन इसके बाद भी अपराध नहीं रोके जा सके हैं। यदि सीसीटीवी फुटेज से किसी प्रकार का अपराध रोका जा सकता है तो देश में किसी भी प्रकार का अपराध नहीं होता।”

सीसीटीवी लगाने का विरोध करते हुए ने आगे कहा है, “सीसीटीवी से हम सिर्फ अपराधी की पहचान कर सकते हैं। उसे अपराध करने से नहीं रोक सकते।” उसने आगे कहा है कि प्रशासन को रैगिंग को लेकर जागरूक अभियान चलाना चाहिए। यूनिवर्सिटी में लोग पढ़ने आते हैं। यहाँ 18-19 साल के लोग हैं। वे बुरे नहीं हैं।”

इसके बाद श्रीजाता से यूनिवर्सिटी में छात्रों को शराब पीने से रोकने की कोशिश को लेकर सवाल किया गया। इस पर उसने कहा है, “हमने कोशिश की है। लेकिन हम असफल रहे हैं। लेकिन जो लोग बड़ी-बड़ी बातें करते हैं कि यहाँ शराब और बियर की बोतल क्यों है? मुझे नहीं लगता कि ये वो लोग हैं जिन्होंने पूरे जीवन में कभी शराब नहीं पी है। बल्कि ये लोग अपने घरों में शराब पीते हैं।”

श्रीजाता ने यूनिवर्सिटी में शराब पीने की वकालत करते हुए कहा है, “हम यूनिवर्सिटी को अपना दूसरा घर मानते हैं। यही कारण है कि अगर हम यूनिवर्सिटी कैंपस में शराब और सिगरेट पीना चाहते हैं तो हमें इसका पूरा अधिकार है।” अपनी बात दोहराते हुए उसने आगे कहा है कि यूनिवर्सिटी में शराब पीने के लिए उसे किसी के अधिकार देने की जरूरत नहीं है। उसके पास शराब और सिगरेट पीने के अधिकार हैं।

इस पर उससे सवाल किया गया कि यदि स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे ऐसी ही माँग करेंगे या क्या वहाँ भी यही सब होना चाहिए? इसके जवाब में श्रीजाता ने कहा कि नहीं वहाँ नहीं होना चाहिए। वे बच्चे हैं। शराब पीने कानूनी उम्र 20 वर्ष से अधिक है। इसके बाद उसने यह भी कहा है कि सिर्फ वह ऐसी माँग नहीं कर रही। बल्कि हर किसी को कैंपस में बैठकर शराब पीना चाहिए। अगर कोई बाथरूम में जाकर शराब पीना चाहता है तो वो वहाँ जाकर पी सकता है।

ज्ञात हो कि 9 अगस्त, 2023 को जादवपुर यूनिवर्सिटी के एक छात्र स्वप्नौदीप कुंडू की कथित तौर पर दूसरी मंजिल से गिरने से मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने अब तक 12 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। छात्र की मौत के बाद ही यूनिवर्सिटी में सीसीटीवी लगाए जा रहे हैं। लेकिन कुछ छात्र इसका विरोध कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इन्सिटटे ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

पहले मोदी सरकार की योजना की तारीफ़ की, आका से सन्देश मिलते ही कॉन्ग्रेस को देने लगे श्रेय: देखिए राजदीप सरदेसाई की ‘पत्तलकारिता’, पत्नी...

कथित पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने पहले तो मोदी सरकार के बजट की तारीफ की, लेकिन कुछ ही देर में 'आकाओं' का संदेश मिलते ही मोदी सरकार पर कॉन्ग्रेसी आरोपों को दोहराने लगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -