Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजट्विटर-गूगल के बाद अब WHO ने की भारत के नक्शे से छेड़छाड़: जम्मू-कश्मीर और...

ट्विटर-गूगल के बाद अब WHO ने की भारत के नक्शे से छेड़छाड़: जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को दिखाया पाक-चीन का हिस्सा

शांतनु सेन ने अपने पत्र में पीएम मोदी को बताया, “जब मैंने WHO की कोविड 19 साइट खोली तो मुझे भारत का नक्शा दिखा जिसमें जम्मू-कश्मीर का अलग रंग था और उसके भीतर भी एक छोटा हिस्सा अलग रंग से था। जब उन पर क्लिक किया तो पाकिस्तान और चीन के कोविड आँकड़े नजर आए।”

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) विश्व के नक्शे में जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को पाकिस्तान और चीन का हिस्सा दिखा रहा है। इस बात का खुलासा तृणमूल कॉन्ग्रेस के नेता शांतनु सेन ने वर्ल्ड मैप के स्क्रीनशॉट डालकर किया है। उन्होंने इस मुद्दे पर पीएम मोदी को पत्र लिखकर जल्द से जल्द हस्तक्षेप करने को कहा है।

शांतनु सेन ने अपने पत्र में पीएम मोदी को बताया, “जब मैंने WHO की कोविड 19 साइट खोली तो मुझे भारत का नक्शा दिखा जिसमें जम्मू-कश्मीर का अलग रंग था और उसके भीतर भी एक छोटा हिस्सा अलग रंग से था। जब मैंने उसे जूम करके उन पर क्लिक किया तो पाकिस्तान और चीन के कोविड आँकड़े नजर आए।” 

सेन ने जानकारी दी कि ब्लू हिस्से में क्लिक करने पर मैप में भारत का डेटा आया पर अलग भाग पर क्लिक करने पर वो पाकिस्तान का कोविड डेटा शो कर रहा था। तृणमूल सांसद का कहना है कि अरुणाचल प्रदेश के एक हिस्से को भी भारत से अलग चीन का भाग दिखाया गया है। सेन ने इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बताते हुए भारतीय सरकार से इस संबंध में हस्तक्षेप करने को कहा।

ट्विटर और गूगल भी कर चुके हैं भारत के नक्शे से जम्मू-कश्मीर गायब करने का काम

बता दें कि साल 2021 में ट्विटर ने भारत के नक्शे से जम्मू-कश्मीर को हटाने का प्रयास किया था। इसके अलावा साल 2020 में लेह को ट्विटर द्वारा लेह को चीन का भाग दिखाया गया था। ट्विटर के अलावा गूगल ने अपने ‘ट्रेंड्स’ सेक्शन में भारत का गलत नक्शा दिखाया था, जिसमें जम्मू कश्मीर और लद्दाख के हिस्सों को गायब कर दिया गया था।

इसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने गूगल (Google) को भारत का गलत नक्शा दिखाए जाने पर आपत्ति जताई थी और उसे नक्शा जल्द से जल्द सुधारने की सलाह दी थी। लोगों ने इस दौरान भारत सरकार द्वारा डाले गए नक़्शे को भी शेयर किया था। भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित किए जाने के बाद दोनों का स्पष्ट नक्शा जारी कर दिया था, बावजूद इसके Google और ट्विटर जैसे प्लेटफॉर्म इन्हें भारत का हिस्सा नहीं दिखा रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

‘आपातकाल तो उत्तर भारत का मुद्दा है, दक्षिण में तो इंदिरा गाँधी जीत गई थीं’: राजदीप सरदेसाई ने ‘संविधान की हत्या’ को ठहराया जायज

सरदेसाई ने कहा कि आपातकाल के काले दौर में पूरे देश पर अत्याचार करने के बाद भी कॉन्ग्रेस चुनावों में विजयी हुई, जिसका मतलब है कि लोग आगे बढ़ चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -