Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजरुपेश पांडेय के परिवार से मिलने जा रहे थे कपिल मिश्रा, राँची एयरपोर्ट...

रुपेश पांडेय के परिवार से मिलने जा रहे थे कपिल मिश्रा, राँची एयरपोर्ट पर ही झारखंड पुलिस ने रोका: मुस्लिम भीड़ ने कर दी थी हत्या

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने अपने ट्वीट में बताया कि वो सिर्फ रुपेश पांडेय के शोक संतप्त परिवार से मिलन आए हैं और पुलिस के वाहन में चंद लोगों के साथ भी उनके घर जाने को तैयार हैं। लेकिन इस तरह एयरपोर्ट पर रोका जाना झारखंड की सरकार की नीयत पर सवाल खड़ा करते हैं।

झारखंड के हजारीबाग में रुपेश पांडेय (Rupesh Pandey) के घरवालों से मिलने जा रहे भाजपा नेता कपिल मिश्रा को राँची एयरपोर्ट पर पुलिस ने हिरासत में लिया। बताया जा रहा है कि उनके राँची एयरपोर्ट पहुँचने पर कई बीजेपी समर्थकों की भीड़ ने उन्हें घेरा था जिसके बाद राँची पुलिस आई और उन्हें बाहर जाने से रोक दिया। राँची एयरपोर्ट पर पुलिस के रवैये को लेकर कपिल मिश्रा सुबह से अपने फॉलोवर्स को अपडेट दे रहे थे और अब उनके हिरासत में लिए जाने के बाद उनके समर्थक हेमंत सरकार से सवाल कर रहे हैं।

उन्होंने सुबह 8:29 पर ट्वीट करके बताया कि वह आज रुपेश की परिजनों से मिलने राँची एयरपोर्ट उतरे, लेकिन उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया गया। उन्होंने लिखा, “राँची एयरपोर्ट पर मुझे पुलिस द्वारा रोका गया है, एयरपोर्ट से बाहर निकलने पे रोक लगाई जा रही है। ये कौन सा कानून है?” वह पूछते हैं, “रुपेश पांडेय के शोक संतप्त परिवार से मिलने से रोक क्यों? कैसा डर?”

देख सकते हैं कि इस ट्वीट के दस मिनट बाद एक और ट्वीट आया है। इस ट्वीट में उन्होंने प्रदेश मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से सवाल किया। उन्होंने पूछा, “मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी, एक शोक संतप्त परिवार के दरवाजे पर जाने से क्यों रोका जा रहा हैं? रुपेश पांडेय अगर तबरेज अंसारी होते तब भी किसी को नहीं जाने देते क्या? हजारीबाग जाना तो दूर, एयरपोर्ट से निकलने से भी रोकना? ये कैसा भय? मुझे नहीं हत्यारों, अपराधियों को रोकिए।

करीब 9:20 पर भी कपिल मिश्रा ने एक ट्वीट किया। जिससे पता चला कि उन्हें तब तक बाहर नहीं आने दिया गया था। अपने ट्वीट में उन्होंने अपनी बात स्पष्ट बताई। उन्होंने लिखा कि वो सिर्फ रुपेश पांडेय के शोक संतप्त परिवार से मिलन आए हैं और पुलिस के वाहन में चंद लोगों के साथ भी उनके घर जाने को तैयार हैं। लेकिन इस तरह एयरपोर्ट पर रोका जाना झारखंड की सरकार की नीयत पर सवाल खड़ा करते हैं।

बता दें कि कपिल मिश्रा के राँची पहुँचने के बाद उनकी एक वीडियो भी सामने आई है। इसमें पुलिस ने उन्हें घेरा है और उनके साथ-साथ चल रही है। इसी के साथ उन्होंने कुछ देर पहले जानकारी दी है कि पुलिस द्वारा रोके जाने के कारण उनकी रुपेश की माँ से वीडियो कॉल पर बात हुई है। माँ ने हत्यारों को फाँसी दिलाने की माँग की है।

रुपेश पांडे हत्याकांड

गौरतलब है कि कपिल मिश्रा ने 15 फरवरी को अपने ट्वीट में बताया था कि वो हजारीबाग रुपेश पांडे की माता-पिता से मिलने जा रहे हैं। वह रुपेश के साथ हुई घटना के बाद परिवार को समर्थन देने के लिए फंड इकट्ठा कर रहे थे। रुपेश की हत्या मुस्लिम भीड़ द्वारा हजारीबाग में 5 फरवरी को सरस्वती पूजन के समय हुई थी। इससे पहले रुपेश के भाई भी कुछ साल पहले सांप काट लेने के कारण परिवार को छोड़ गए थे। अब रुपेश की हत्या से परिवार पर एक बार फिर दुखों का पहाड़ टूटा है। पुलिस ने इस केस में कई लोगों के खिलाफ़ मामला दर्ज कर लिया है। इस बीच कई जगह रुपेश के परिवार के लिए फँड इकट्ठा किया जा रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -