Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजदलितों के घर से फिंकवा दी हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियाँ, धोखे से धर्मांतरण: कर्नाटक...

दलितों के घर से फिंकवा दी हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियाँ, धोखे से धर्मांतरण: कर्नाटक में पादरी पत्नी सहित गिरफ्तार, रेप आरोपित नाबालिग बेटा भी धराया

पादरी की पत्नी पर आरोप है कि वह दलितों के बच्चों को चर्च ले जाती थी और उन्हें चर्च की गतिविधियों में शामिल करती थी। पीड़ित ने आरोप लगाया कि जब उसने समुदाय के नेताओं को जबरन धर्मांतरण के बारे में जानकारी दी तो पादरी ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया और मार-पीट की।

कर्नाटक के बेल्लारी इलाके में दलितों को ईसाई धर्म अपनाने को लेकर मजबूर करने का मामला सामने आया है। दलितों को ईसाई बनाने के इल्ज़ाम में एक पादरी और उसके परिवार पर मामला दर्ज किया गया है। इतना ही नहीं पादरी के 17 साल के बेटे पर पिछड़े समुदाय की एक नाबालिग से बलात्कार का आरोप भी लगा है। पुलिस ने कोप्पल के आरोपित पादरी सैमुअल और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया जिसके बाद कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया, जबकि उनके बेटे को बेल्लारी के रिमांड होम में भेज दिया गया।

धर्मांतरण और बलात्कार का मामला बेल्लारी के कोप्पल से आया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पादरी सत्यनारायण उर्फ ​​सैमुअल अपने प्रार्थना घर में लोगों को बरगला कर व प्रलोभन देकर धर्मांतरण कराता है। इलाके के दलित समुदाय के एक शख्स ने ही पादरी के खिलाफ शिकायत दी थी। आरोप है कि पादरी ने इलाके के दलितों को प्रार्थना घर में आने के लिए मना लिया और यहाँ बपतिस्मा (धर्मांतरण वाली एक प्रकार की ईसाई रस्म) करवा दिया। इसके बाद पादरी और उसका परिवार लोगों पर ईसाई धर्म का पालन करने के लिए दबाव बनाने लगा।

दलितों के मुताबिक उन्हें हिंदू देवी-देवताओं की पूजा न करने की चेतावनी दी गई। आरोप है कि धर्मांतरण करा कर दलितों के घर से हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें और मूर्तियाँ भी जब्त कर लीं गईं और उन्हें एक नहर में फेंक दिया गया। दलितों से कहा गया कि यदि उन्होंने हिंदू देवी-देवताओं की पूजा की तो ‘बुरी शक्तियाँ’ उन्हें परेशान करेंगी।

पादरी की पत्नी पर आरोप है कि वह दलितों के बच्चों को चर्च ले जाती थी और उन्हें चर्च की गतिविधियों में शामिल करती थी। पीड़ित ने आरोप लगाया कि जब उसने समुदाय के नेताओं को जबरन धर्मांतरण के बारे में जानकारी दी तो पादरी ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया और मार-पीट की।

इसके अलावा पादरी के नाबालिग बेटे ने समुदाय की ही एक लड़की को शादी का झाँसा देकर बलात्कार किया। जबरन धर्मांतरण का आरोप लगाने के बाद पीड़िता के परिवार ने रेप की शिकायत भी दर्ज कराई जिसके बाद पादरी के परिवार पर दो अलग-अलग मामले दर्ज किए गए। केस दर्ज होने के बाद पुलिस ने पादरी और उसके परिवार को गिरफ्तार कर अदालत के सामने पेश किया। जहाँ से पादरी और उसकी पत्नी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया वहीं उसके नाबालिग बेटे को सुधारगृह में भेजा गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे ‘चाणक्य’ बताया, उसके समर्थन के बावजूद हारा मौजूदा MLC: महाराष्ट्र में ऐसे बिखरा MVA गठबंधन, कॉन्ग्रेस विधायकों ने अपनी ही पार्टी को दिया...

जिस जयंत पाटील के पक्ष में महाराष्ट्र की राजनीति के कथित चाणक्य और गठबंधन के अगुवा शरद पवार खुद खड़े थे, उन्हें ही हार का सामना करना पड़ा।

18 बैंक खाते, 95 करोड़ रुपए, अब तक 11 शिकंजे में… जनजातीय समाज का पैसा डकारने के मामले में कॉन्ग्रेस के पूर्व मंत्री गिरफ्तार,...

सीधे शब्दों में समझें तो पूरा मामला ये है कि ST निगम के कुछ अधिकारियों ने फर्जी हस्ताक्षरों का इस्तेमाल कर के अवैध रूप से 94,73,08,500 रुपए विभिन्न बैंक खातों में भेज दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -