केरल में ABVP की बढ़ती लोकप्रियता से कुढ़े SFI के गुंडों ने किया छात्रों पर जानलेवा हमला

केरल में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर पहले भी हमले होते आए हैं। तब भी केरल में बीजेपी की बढ़ती लोकप्रियता एक बड़ा कारण रही है। हाल ही में, वामपंथी छात्रों की गुंडई का उदाहरण JNU में भी देखने को मिला था।

वामपंथी आतंकवाद JNU से लेकर केरल तक की शिक्षा संस्थानों में अपने पैर पसार रहा है। कहीं न कहीं इसके पीछे वामपंथ का सिकुड़ता आधार भी बड़ी वजह जो इन वामपंथी संगठनों को हिंसा आदि के जरिए युवाओं पर दबाव बनाकर, उन्हें बरगलाकर अपनी रक्तपात की मानसिकता को बचाए रखना चाहता है।

अभी JNU में ABVP के छात्रों और उनके समर्थकों पर वामपंथी नकाबपोशों के हमले के बाद जिसमें चार प्रमुख वामपंथी संगठन हिंसा के लिए दिल्ली पुलिस द्वारा आरोपित ठहराए गए हैं। जिस पर अभी आगे जाँच जारी है। ऐसे में ताजा मामला केरल से है जहाँ SFI के गुंडों द्वारा ABVP के कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला किया गया, जिसमें कई छात्रों और ABVP कार्यकर्ताओं को गहरी चोट आई हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, केरल के वज़ूर NSS कॉलेज में वामपंथी गुंडागर्दी और आतंक के लिए कुख्यात SFI ने ABVP कार्यकर्ताओं पर कायराना हमला किया है। वामपंथी गुट SFI की निरंतर चली आ रही ऐसी हरकतों की वजह से कैम्पस में लगातार माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। कहा जा रहा है, कैम्पस में ABVP की बढ़ती हुई लोकप्रियता को देखकर SFI अब हर तरह की गुंडागिर्दी पर उतर आया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतलब है कि, केरल के वज़ूर NSS कॉलेज में एबीवीपी ने पिछले बृहस्पतिवार को एकता सम्मेलन का आयोजन किया था जिसमें काफी संख्या में छात्रों की उपस्थिति देखी गई। यह देखकर स्वतन्त्रता और सहिष्णुता का दिखावा करने वाले SFI की, छात्रों के बीच ABVP की बढ़ती लोकप्रियता देखकर चिन्ताएँ इतनी बढ़ गईं कि ये गुंडागर्दी और मारपीट पर उतारू हो गए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, ABVP की छात्रों के बीच बढ़ती लोकप्रियता से परेशान SFI के गुंडों द्वारा ABVP के कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला किया गया, जिनमें से कई छात्रों को गहरी चोट आई हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि ABVP कार्यकर्ताओं के खिलाफ हमले इस एक सप्ताह में बढ़ गए हैं, खासकर समारोह में आई भीड़ के बाद से लगातार ABVP के कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, SFI के इस गुंडागर्दी वाले आक्रामक व्यवहार, उनके मार-काट करने वाली मानसिकता के लिए SFI की आलोचना की जा रही है और आम छात्रों द्वारा केरल कॉलेज, CMS कॉलेज, CUSAT आदि परिसरों में आम छात्रों द्वारा इसका बड़े स्तर पर विरोध किया जा रहा है।

SFI द्वारा बनाए जा रहे इस गुंडागिर्दी के माहौल के कारण छात्रों का शान्ति से पढ़ना भी मुश्किल हो चुका है। पीड़ित छात्र निरंतर SFI की इन हरकतों का विरोध कर रहे हैं।

बता दें कि केरल में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर पहले भी हमले होते आए हैं। तब भी केरल में बीजेपी की बढ़ती लोकप्रियता एक बड़ा कारण रही है। हाल ही में, वामपंथी छात्रों की गुंडई का उदाहरण JNU में भी देखने को मिला था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

मोदी, उद्धव ठाकरे
इस मुलाकात की वजह नहीं बताई गई है। लेकिन, सीएम बनने के बाद दिल्ली की अपनी पहली यात्रा पर उद्धव ऐसे वक्त में आ रहे हैं जब एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के साथ अनबन की खबरें चर्चा में हैं। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक सरगर्मियॉं अचानक से तेज हो गई हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

153,901फैंसलाइक करें
42,179फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: