Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजबस ड्राइवर वसीम ने 'सोनू' बन फार्मा कंपनी में काम करने वाली हिन्दू लड़की...

बस ड्राइवर वसीम ने ‘सोनू’ बन फार्मा कंपनी में काम करने वाली हिन्दू लड़की को फँसाया: रेप के बाद करने लगा ब्लैकमेल, मुस्लिम बनने का डालने लगा दबाव

उसने पीड़िता से कहा, "तेरे अश्लील फोटो और वीडियो हैं मेरे पास। ज्यादा तेज चलेगी तो वायरल कर दूँगा। इसलिए अब जैसा मैं कहूँ वैसा ही करना। मुस्लिम बन जा इसमें ही तेरी भलाई है, नहीं तो अच्छा नहीं होगा।" वसीम पीड़िता पर धर्मांतरण करके निकाह करने का लगातार दबाव बनाता था। वसीम ने इस्लाम कबूल नहीं करने पर लड़की और उसके माता-पिता को मार डालने की धमकी दी।

मध्य प्रदेश के इंदौर से लव जिहाद का एक और मामला सामने आया है। बस ड्राइवर वसीम खान ने फार्मा कम्पनी में जॉब करने वाली एक हिंदू लड़की को निशाना बनाया है। वसीम ने सोनू बनकर पीड़िता को प्यार के जाल में फँसाकर रेप किया और फिर इस्लाम कबूल करने का दबाव बनाया। बजरंग दल ने के सहयोग से पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज करके वसीम को हिरासत में ले लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीड़िता इंदौर के उमरिया की रहने वाली है। वह राउ की एक फार्मा कम्पनी में जॉब करती है। ऑफिस वह अक्सर इंदौर-महू के बीच चलने वाली बस से आया-जाया करती थी। वहीं बस स्टैंड पर वसीम मिला और अपना नाम सोनू बताकर पीड़िता से दोस्ती कर ली। वसीम ड्राइवर था। कुछ समय बाद दोनों ने अपने मोबाइल नंबर एक-दूसरे को दे दिए।

इसके बाद दोनों के बीच बातचीत होने लगी। एक दिन सोनू उर्फ़ वसीम ने पीड़िता को अपने एक दोस्त से मिलवाने के नाम पर साथ चलने को कहा। पीड़िता वसीम की बातों में आ गई। दोनों एक साथ मैडीकैप्स इलाके में आए। यहाँ सोनू ने पीड़िता को पहले खाना खिलाया और बाद में चाय पिलाई। चाय पीने के बाद पीड़िता पर बेहोशी छाने लगी।

लड़की को आशंका है कि उसकी चाय में सोनू ने कोई नशीला पदार्थ डाल दिया था। चाय पीकर लड़की बेसुध हुई तो वसीम ने उसके साथ रेप किया। इस दौरान उसने लड़की की अश्लील फोटो और वीडियो बना ली। लड़की को जब होश आया तो इस घटना से दुखी होकर रोने लगी। इसके बाद सोनू ने शादी का वादा करके उसे चुप करवा दिया।

इसके बाद वसीम ने पीड़िता को ब्लैकमेल करके कई बार रेप किया। एक दिन सोनू के बैग से मिले आधार कार्ड से लड़की को उसके मुस्लिम होने की जानकारी हुई। जब लड़की ने खुद को धोखे में रखने की वजह पूछी तो वसीम भड़क गया। उसने पहले पीड़िता को उसके अश्लील फोटो-वीडियो का डर दिखाया और बाद में हिन्दू धर्म छोड़कर इस्लाम कबूल करने का दबाव बनाने लगा।

उसने पीड़िता से कहा, “तेरे अश्लील फोटो और वीडियो हैं मेरे पास। ज्यादा तेज चलेगी तो वायरल कर दूँगा। इसलिए अब जैसा मैं कहूँ वैसा ही करना। मुस्लिम बन जा इसमें ही तेरी भलाई है, नहीं तो अच्छा नहीं होगा।” वसीम पीड़िता पर धर्मांतरण करके निकाह करने का लगातार दबाव बनाता था। वसीम ने इस्लाम कबूल नहीं करने पर लड़की और उसके माता-पिता को मार डालने की धमकी दी।

उसकी धमकियों से पीड़िता काफी डर गई। उसने वसीम से दूरी बनानी शुरू कर दी। बुधवार (12 जून 2024) को पीड़िता राउ बाजार के विश्वकर्मा मंदिर गई थी। तभी वहाँ सोनू उर्फ़ वसीम आ गया। उसने लड़की को अपने साथ ले जाना चाहा। पीड़िता ने विरोध किया तो सोनू ने उसे बहुत पीटा। इससे पीड़िता बेहद हताश हो गई और हिंदू संगठनों से संपर्क किया।

आखिरकार परेशान होकर पीड़िता ने सारी बात बजरंग दल के जिला संयोजक राम दांगी को बताई। दांगी ने पीड़िता के साथ थाने पहुँचकर शिकायत दी और केस दर्ज करवाया। पुलिस ने सोनू उर्फ वसीम पर मध्य प्रदेश धर्मान्तरण विरोधी कानून सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। वसीम को हिरासत में ले लिया गया है। मामले की जाँच चल रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -