Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजपिता ने डाँटा तो घर छोड़ फरार हुई 17 साल की YouTuber, पुलिस को...

पिता ने डाँटा तो घर छोड़ फरार हुई 17 साल की YouTuber, पुलिस को 500 किलोमीटर दूर मिली: 44 लाख हैं सब्सक्राइबर्स

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में रहने वाली यूट्यूबर काव्या शुक्रवार (9 सितंबर, 2022) को दोपहर 2 बजे घर से निकल गई थी। इसके बाद उसके माता-पिता ने उसकी खोज करनी शुरू की।

महाराष्ट्र की एक 17 वर्षीय यूट्यूबर पिता की डाँट के बाद घर छोड़ कर भाग गई थी, जो कि अब प्रदेश के इटारसी स्टेशन में मिली है। बताया जा रहा है, घर में मिलीडाँट के बाद यह लड़की अपने पैतृक घर लखनऊ जा रही थी। इस लड़की को फैंस के बीच बिंदास काव्या के नाम से जाना जाता है। जबकि वास्तविक नाम काव्या यादव है। इसके यूट्यूब में 44 लाख सब्सक्राइबर्स हैं हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में रहने वाली यूट्यूबर काव्या शुक्रवार (9 सितंबर, 2022) को दोपहर 2 बजे घर से निकल गई थी। जिसके बाद, उसके माता-पिता ने उसकी खोज करनी शुरू की। इसके बाद भी काव्या का कुछ पता नहीं चल रहा था।

काफी परेशान होने के बाद, काव्या के माता-पिता ने उसके यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो अपलोड करते हुए काव्या के लापता होने की जानकारी दी थी। इसके बाद यह वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा था। काव्या के पैरेंट्स ने उसके गुम होने की सूचना औरंगाबाद के छौनी थाने में भी दी थी। इसके बाद औरंगाबाद पुलिस और जीआरपी ने उसे ढूँढने के लिए संयुक्त अभियान शुरू करते हुए कई थानों को सूचना दी थी।

इस सूचना और वायरल वीडियो के आधार पर ही जीआरपी को जानकारी मिली की काव्या महाराष्ट्र के भुसावल से आ रही कुशीनगर एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में है। इसके बाद इटारसी जीआरपी ने सक्रियता दिखाते हुए उसे ढूँढ लिया और फिर उसके पैरेंट्स को इसकी सूचना दी।

इस पूरे मामले में, भोपाल रेल एसपी हितेश चौधरी ने कहा है, “औरंगाबाद पुलिस ने सूचना दी थी कि 17 साल की किशोरी यूट्यूब स्टार है, और वहाँ से लापता हुई है। संभवत: वह एलटीटी-गोरखपुर कुशीनगर एक्सप्रेस में सवार हुई है। इटारसी में कुशीनगर एक्सप्रेस में सर्चिंग की तो किशोरी स्लीपर कोच में बैठी मिली। चाइल्ड लाइन की मदद से उसे थाने लाया गया। रात 12 बजे किशोरी के परिजन इटारसी पहुँचे।” उसके मिल जाने के बाद माता-पिता ने YouTube से सूचना दी कि वो उसे लेने जा रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -