Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजहोनी थी शादी, स्माइली फेस के लिए युवक करवा रहा था सर्जरी, हो गई...

होनी थी शादी, स्माइली फेस के लिए युवक करवा रहा था सर्जरी, हो गई मौत: तेलंगाना की घटना, परिजन बोले- ज्यादा एनेस्थीसिया देने से मौत

विन्जम के विषय में यह भी जानकारी सामने आई है कि उसकी पिछले ही सप्ताह सगाई हुई थी और वह अगले माह शादी के बंधन में बंधने वाला था। वह इसकी तैयारियों में जुटा हुआ था। लेकिन, यह ऑपरेशन उनके लिए प्राणघातक साबित हुआ।

तेलंगाना के हैदराबाद में एक युवक ने अपनी हँसी बढ़ाने के लिए डॉक्टरों से ऑपरेशन कराया और बाद में उसकी मौत हो गई। युवक की जल्द ही शादी होने वाली थी। यह ऑपरेशन उसने हैदराबाद के एक नामी क्लीनिक में करवाया था। मृतक के परिजनों ने डॉक्टरों पर उसे बेहोशी की दवा की ओवरडोज देने का आरोप लगाया है।

जानकारी के अनुसार, 28 वर्षीय लक्ष्मी नारायण विन्जम ने हैदराबाद के जुबली हिल्स में स्थित FMS डेंटल क्लीनिक में अपना स्माइल डिजाइनिंग (हँसी बढ़ाना) ऑपरेशन करवाया था। यह ऑपरेशन 16 फरवरी को हुआ था। विन्जम के पिता ने बताया की उनके बेटे की मौत ऑपरेशन के दौरान हो गई थी।

उन्होंने बताया कि उन्हें बीच ऑपरेशन में ही उन्हें बुलाया गया और जब वह क्लीनिक पहुँचे तो डॉक्टरों ने उनके बेटे को मृत घोषित कर दिया। पिता के अनुसार, उनके बेटे ने उन्हें इस ऑपरेशन के विषय में उन्हें कुछ नहीं बताया था। उन्होंने कहा कि उनका बेटा पूरी तरीके से स्वस्थ था और उसकी मौत कुछ गड़बड़ी के कारण हुई है।

विन्जम के विषय में यह भी जानकारी सामने आई है कि उसकी पिछले ही सप्ताह सगाई हुई थी और वह अगले माह शादी के बंधन में बंधने वाला था। वह इसकी तैयारियों में जुटा हुआ था। लेकिन, यह ऑपरेशन उसके लिए प्राणघातक साबित हुआ।

इस मामले पर पुलिस ने बताया, “विन्जम को लगभग 4:30 बजे ऑपरेशन थिएटर के भीतर ले जाया गया था, उनका ऑपरेशन 2 घंटे तक चला, इसके बाद उनके घरवालों को बुलाया गया और उन्हें अपोलो अस्पताल ले जाया गया जहाँ पहुँचने से पहले ही उनकी मौत हो गई थी।”

मृतक विन्जम के पिता ने आरोप लगाया है कि उनके बेटे को ऑपरेशन के लिए जरूरत से अधिक एनेस्थीसिया दे दी गई। इसके कारण ही उसकी मौत हो गई। उन्होंने इस मामले में पुलिस से शिकायत भी दर्ज करवाई है। पुलिस इस मामले में अस्पताल का रिकॉर्ड चेक करके जाँच कर रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -