Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'ईसाई बन जाओ, अमेरिका से पैसे मिलेंगे': तेलंगाना में सरकारी स्कूल टीचर बच्चों को...

‘ईसाई बन जाओ, अमेरिका से पैसे मिलेंगे’: तेलंगाना में सरकारी स्कूल टीचर बच्चों को देता है लालच, कहता है- माँ सरस्वती का चित्र हटाओ

इसके पहले बेंगलुरु के ऑर्किड स्कूल के टीचर का मामले सामने आया था, जिसमें टीचर ने सजा देने के लिए इस्लामी ढंग से प्रार्थना करवाई थी और कहा था कि सवाल हल ना हो तो अल्लाह की इबादत करे।

तेलंगाना में एक स्कूल के एक शिक्षक पर धर्म परिवर्तन (Religious Conversion) के लिए प्रलोभन देने का मामला सामने आया है। मेलवार जिले के विकाराबाद में स्थित ZPHS सरकारी स्कूल के छात्र ने बताया कि उसके गणित के शिक्षक के. रत्नम उसे ईसाई धर्म (Christianity) में कन्वर्ट होने के लिए कह रहे हैं। साथ ही वो अमेरिका से गिफ्ट और पैसे मिलने का प्रलोभन भी दे रहे हैं। Legal Rights Protection Forum ने अपने ट्विटर हैंडल पर यह जानकारी दी है।

इससे पहले कुछ छात्रों ने इस टीचर पर छात्रों के बीच भेदभाव करने का आरोप लगाया था। आरोप है कि मामूली बात पर यह टीचर दलित छात्रों को अन्य छात्रों के पैर छूने (माफी माँगने के लिए) के लिए कहता है। इतना ही नहीं, उनसे जातिगत भेदभाव करते हुए उन्हें पीटता है। इससे छात्र अपमानित महसूस करते हैं।

यही नहीं, मैथ का टीचर छात्रों को कक्षा की दीवारों से माँ सरस्वती की तस्वीरों को भी हटाने के लिए भी कहता है। इसके साथ ही वह अभद्र भाषा का भी प्रयोग करता है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 295-ए के तहत प्राथमिकी दर्ज की, लेकिन आईपीसी और जुवेनाइल जस्टिस एक्ट की अन्य धाराएँ जो इस अपराध से संबंधित हैं, उन्हें एफआईआर में शामिल नहीं किया गया है। इस मामले में नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (NCPCR) से हस्तक्षेप की माँग की गई है।

बेंगलुरु के एक स्कूल में हिन्दू बच्ची को अल्लाह की इबादत करने को कहा

इस तरह का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी दक्षिण भारत के कई राज्यों में इस तरह के मामले ​सामने आ चुके हैं, जब स्कूलों में शिक्षकों द्वारा बच्चों को प्रलोभन देकर, डरा धमकाकर इस्लाम और ईसाई धर्म को मानने के लिए कहा गया। इस महीने की शुरुआत में बेंगलुरु के एक स्कूल में एक बच्ची को सजा देने के लिए उससे इस्लामी ढंग से प्रार्थना करवाई गई थी। कथित तौर पर ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूल (Orchid International School) की मैथ टीचर ने छात्रा से एक सवाल हल न होने पर कहा कि वो अल्लाह की इबादत करे और इस बारे में किसी को कुछ न बताए।

‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज बाँटता दिखा था एसडीपीआई का कार्यकर्ता

इसके अलावा, ​दिसंबर 2021 में केरल के एक स्कूल में बच्चों को अपनी राजनीति में शामिल करने और उन्हें मजहब के नाम पर गुमराह करने का मामला सामने आया था। कोट्टंगल के चुंगप्पारा सेंट जॉर्ज स्कूल के बच्चों को एसडीपीआई (SDPI) का एक कथित कार्यकर्ता ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज बाँटता दिखा था। सोशल मीडिया पर उसकी कुछ तस्वीरें भी सामने आई थीं, जिसमें कार्यकर्ता बच्चों की शर्ट पर बैज लगाता हुआ भी दिख रहा था।

maths teacher asking to students convert to christianity in telangana

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -