Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजजयपुर के शिव मंदिर के बाहर स्कूटी सवार युवकों ने फेंके मांस के टुकड़े,...

जयपुर के शिव मंदिर के बाहर स्कूटी सवार युवकों ने फेंके मांस के टुकड़े, वीडियो आया सामने: तनाव के बाद इलाके में पुलिस फोर्स तैनात

वहीं, राजस्थान के अजमेर स्थित एक बाजार में बुधवार (19 जून 2024) को मांस बिखेरने पर तनाव फैल गया। CCTV फुटेज में एक व्यक्ति को बाइक से यह हरकत करते देखा गया। हिन्दू संगठनों ने इसे गोमांस बताया और प्रदर्शन शुरू कर दिया। नाराज लोगों ने बाजार बंद करवा दिया। हालात तनावपूर्ण होता देखकर पुलिस ने लाठीचार्ज करके भीड़ को तितर-बितर किया।

राजस्थान की राजधानी जयपुर के एक शिव मंदिर के सामने फिर से मांस का टुकड़ा फेंकने का मामला सामने आया है। घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय लोगों में आक्रोश फैल गया है। वे मंदिर के इकट्ठा होने लगे। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुँची और लोगों को शांत कराया। तनाव को देखते हुए इलाके में पुलिस फोर्स तैनात किया गया है।

जयपुर के सुभाष चौक के चाणक्य मार्ग पर स्थित मंदिर के सामने मांस के टुकड़े डालने का मामला सामने आया है। मंगलवार (18 जून 2024) को कुछ अज्ञात स्कूटी सवार युवाओं ने शिव मंदिर के सामने शाम लगभग 4:30 बजे पर मांस के टुकड़े डाल गए। स्थानीय लोगों ने इस मामले को लेकर सुभाष चौक थाने में में मामला दर्ज करवाया है।

लोगों का कहना है कि असामाजिक तत्वों द्वारा इलाके की धार्मिक एवं सामाजिक सद्भावना को बिगाड़ने के लिए यह काम किया गया है। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें मंदिर के सामने मांस के बड़े-बड़े टुकड़े पड़े दिखाई दे रहे हैं। यह घटना गंगा एकादशी के दिन की बताई जा रही है।

स्थानीय लोगों ने पुलिस को इस संबंध में घटना का सीसीटीवी फुटेज भी उपलब्ध करवाए हैं। सुभाष चौक थाना प्रभारी धर्म सिंह ने कहा कि इसको लेकर स्थानीय लोगों ने लिखित में शिकायत दी है। मामले की जाँच की जा रही है। उन्होंने बताया कि मामले की गंभीरता को लेकर इलाके में पुलिस की तैनाती की गई है।

वहीं, राजस्थान के अजमेर स्थित एक बाजार में बुधवार (19 जून 2024) को मांस बिखेरने पर तनाव फैल गया। CCTV फुटेज में एक व्यक्ति को बाइक से यह हरकत करते देखा गया। हिन्दू संगठनों ने इसे गोमांस बताया और प्रदर्शन शुरू कर दिया। नाराज लोगों ने बाजार बंद करवा दिया। हालात तनावपूर्ण होता देखकर पुलिस ने लाठीचार्ज करके भीड़ को तितर-बितर किया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अजमेर के मदनगंज इलाके के ओसवाल मोहल्ले में सब्जी मंडी लगती है, जहाँ भीड़भाड़ बनी रहती है। बुधवार को लगभग 11:45 बजे एक बाइकसवार मंडी से गुजरा। उसने रास्ते में मांस बिखेर दिए और फरार गया। आरोप है कि इन अवशेषों में कटे पैर और कुछ अन्य अंग थे। इसको लेकर बाजार में गुस्सा और तनाव फैल गया।

कुछ ही देर में वहाँ हिन्दू संगठनों का जमावड़ा शुरू हो गया। आक्रोशित हिन्दू संगठन बाजार बंद करवाने लगे। घटना की जानकारी मिलते ही भारी संख्या में पुलिस बल और अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुँचे। इस दौरान हिंदू संगठनों से पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों से नोकझोंक भी हुई। नाराज लोगों ने डिप्टी एसपी की गाड़ी में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

लोगों द्वारा गुस्से में की गई तोड़फोड़ के कारण डिप्टी एसपी की गाड़ी का शीशा टूट गया और गाड़ी के ड्राइवर को चोटें भी आईं। हालात को गंभीर होता देखकर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। बल प्रयोग के बाद प्रदर्शनकारियों में आफरा-तफरी मच गई। लगभग डेढ़ घंटे तक हुए हंगामे के बाद बाजार फिर से खोल दिए गए।

इस घटना को लेकर DSP सिटी महिपाल सिंह ने बताया कि बिखरे मांस का परीक्षण करवाया गया, जो कि भैंस का निकला। फ़िलहाल आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। SDM अर्चना चौधरी के मुताबिक, मांस जानबूझ कर नहीं बल्कि अनजाने में गिरा था। फ़िलहाल पुलिस पूरे मामले की जाँच कर रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -