Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजबंगाल में 1000 की मुस्लिम भीड़ ने ट्रेन को क्षतिग्रस्त किया, कई यात्री घायल:...

बंगाल में 1000 की मुस्लिम भीड़ ने ट्रेन को क्षतिग्रस्त किया, कई यात्री घायल: NH-34 पर घंटों जाम, सड़क किनारे दुकानों-घरों पर पत्थरबाजी

पूर्वी रेलवे के 'चीफ रिलेशन ऑफिसर' ने बताया कि भीड़ की संख्या लगभग 1000 में थी। फ़िलहाल वहाँ ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया है।

पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में स्थित बेथुआडहरी में मुस्लिम भीड़ ने भारतीय रेलवे को निशाना बनाया है। इस दौरान एक ट्रेन क्षतिग्रस्त हो गई और साथ ही कई यात्रियों को भी चोट पहुँची है। पूर्वी रेलवे के ‘चीफ रिलेशन ऑफिसर’ ने बताया कि भीड़ की संख्या लगभग 1000 में थी। फ़िलहाल वहाँ ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया है। पूर्वी रेलवे राज्य सरकार की अनुमति का इंतजार कर रहा है। मुस्लिम भीड़ ने रेलवे स्टेशन और ट्रेन पर जम कर पत्थरबाजी की।

ये घटना रविवार (12 जून, 2022) को शाम की है। संलग्न किए गए तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि किस तरह ट्रेन की खिड़की के शीशों को नुकसान पहुँचाया गया है। मुस्लिम प्रदर्शनकारियों की भीड़ पहले से ही पटरी जाम कर के वहाँ मौजूद थी। उनमें से कुछ प्लेटफॉर्म पर घुस गए और वहाँ मौजूद ट्रेन पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। यात्रियों को भी निशाना बनाया गया। इस कारण लालगोला लाइन पर ट्रेन सेवाओं में बाधा पहुँची है।

मुस्लिम भीड़ ने नदिया में सड़क भी जाम किया था, लेकिन पुलिस ने जब उनका पीछा किया तो वो रेलवे स्टेशन पर आ धमके। ये घटना तब हुई है, जब पश्चिम बंगाल के हावड़ा और मुर्शिदाबाद में हिंसा के बाद इंटरनेट सेवाएँ अभी भी बंद हैं और पुलिस बल की भारी तैनाती है। पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में पुलिस ने फ्लैग मार्च भी किया है। बेथुआडहरी में भी इंटरनेट सेवा बंद है। पुलिस और RPF ने प्लेटफॉर्म को घेर कर नियंत्रण में ले लिया।

ये भी बताया जा रहा है कि बेथुआडहरी में विरोध प्रदर्शन के नाम पर मुस्लिम संगठनों के बैनर तले जमा भीड़ ने सड़क किनारे स्थित दुकानों और घरों को जम कर निशाना बनाया। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 34 पर आवागमन ठप्प कर दिया गया। स्थानीय पुलिस भी स्थिति को नियंत्रित नहीं कर पाई। इससे पहले भी बंगाल में दिन भर तनाव का माहौल रहा, जब नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी को हावड़ा जाने से रोक दिया गया। नूपुर शर्मा पर वहाँ FIR भी दर्ज हुई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -