Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजनूपुर शर्मा का समर्थन करने पर काटा गया था उमेश कोल्हे का गला, अब...

नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर काटा गया था उमेश कोल्हे का गला, अब NIA ने दाखिल की चार्जशीट: अब्दुल, शोएब, यूसुफ समेत 11 का नाम

उमेश की हत्या मामले में मुख्य साजिशकर्ता यूसुफ नाम का एक डॉक्टर है, जो उमेश और उनके परिवार का दशकों पुराना जानकार है। उमेश से उसकी दोस्ती भी थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उमेश उसे 2006-07 से जानते थे। यूसुफ ने ही कोल्हे की पोस्ट संदिग्ध व्हॉट्सग्रुप में शेयर कर कट्टरपंथियों को हत्या के लिए उकसाया था। इसके बाद हत्या की प्लानिंग की थी।

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) ने शुक्रवार (16 दिसंबर 2022) को महाराष्ट्र स्थित अमरावती के केमिस्ट उमेश कोल्हे (Umesh Kolhe) हत्याकांड में चार्जशीट दायर कर दी। इस्लाम के पैगंबर मोहम्मद विवाद में कट्टरपंथियों ने उमेश कोल्हे की हत्या कर दी थी। इस मामले में 11 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। इनके खिलाफ मुंबई के NIA कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की गई है।

जानकारी के मुताबिक, एनआईए ने जिन आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट फाइल की है उनमें मुबशिर अहमद, शाहरुख खान, अब्दुल तौसीफ शेख, मोहम्मद शोएब, आतिब राशिद, यूसुफ खान, इरफान खान, अब्दुल अरबाज, मुस्फीक अहमद, शेख शकील और शाहिम अहमद के नाम शामिल हैं।

आपको बता दें कि उमेश कोल्हे हत्याकांड के संबंध में महाराष्ट्र के अमरावती जिले के सिटी कोतवाली पुलिस स्टेशन में 22 जून 2022 को मामला दर्ज किया गया था। जब मामले की जाँच NIA को सौंपी गई तब इस संबंध में 2 जुलाई 2022 को एनआईए ने फिर से मामला दर्ज किया गया था।

अमरावती में 22 जून 2022 को मुस्लिम हमलावरों ने उमेश कोल्हे की गला काटकर मौत के घाट उतार दिया था। उमेश ‘अमित मेडिकल’ के नाम से फार्मेसी चलाते थे। घटना की रात वे अपने बेटे संकेत और बहू वैष्णवी के साथ अलग-अलग बाइक से घर जा रहे थे, तभी हमलावरों ने कोल्हे की गर्दन पर पीछे से चाकू से हमला कर दिया था।

उमेश कोल्हे की हत्या निलंबित भाजपा नेता नूपुर शर्मा का समर्थन करने की वजह से इस्लामिक कट्टरपंथियों ने की थी। कहा जाता है कि उमेश कोल्हे ने नूपुर शर्मा के समर्थन में कोई पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर कर दी थी। इसके बाद से इस्लामिक कट्टरपंथी उनके पीछे पड़े हुए थे।

उमेश की हत्या मामले में मुख्य साजिशकर्ता यूसुफ नाम का एक डॉक्टर है, जो उमेश और उनके परिवार का दशकों पुराना जानकार है। उमेश से उसकी दोस्ती भी थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उमेश उसे 2006-07 से जानते थे। यूसुफ ने ही कोल्हे की पोस्ट संदिग्ध व्हॉट्सग्रुप में शेयर कर कट्टरपंथियों को हत्या के लिए उकसाया था। इसके बाद हत्या की प्लानिंग की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

15 अगस्त को दिल्ली कूच का ऐलान, राशन लेकर पहुँचने लगे किसान: 3 कृषि कानूनों के बाद अब 3 आपराधिक कानूनों से दिक्कत, स्वतंत्रता...

15 सितंबर को जींद और 22 सितंबर को पीपली में किसानों की रैली प्रस्तावित है। किसानों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा 'टेनी' के बेटे आशीष को जमानत दिए जाने की भी निंदा की।

केंद्र सरकार ने 4 साल में राज्यों को की ₹1.73 लाख करोड़ की मदद, फंड ना मिलने पर धरना देने वाली ममता सरकार को...

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि केंद्र सरकार 2020-21 से लेकर 2023-24 तक राज्यों को ₹1.73 लाख करोड़ विशेष मदद योजना के तहत दे चुकी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -