Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक में पेड़ की टहनियों से झड़े करारे-करारे नोट, कॉन्ग्रेस प्रत्याशी के भाई के...

कर्नाटक में पेड़ की टहनियों से झड़े करारे-करारे नोट, कॉन्ग्रेस प्रत्याशी के भाई के घर पर IT विभाग ने मारी थी रेड: देखिए Video

कर्नाटक में बुधवार (10 मई, 2023) को ही विधानसभा चुनाव होने हैं, वैसे में अवैध धन की आवाजाही पर ख़ुफ़िया विभाग नजर रखे हुए हैं।

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान आयकर विभाग (Income Tax Department) को बड़ी सफलता मिली है। IT विभाग ने एक आम के पेड़ पर बजे में छिपा कर रखे गए 1 करोड़ रुपए जब्त किए हैं। मैसूर में IT अधिकारियों ने सुब्रमण्य राय के घर छापेमारी की, जहाँ ये रुपए बरामद हुए। बता दें कि सुब्रमण्य राय पुत्तूर विधानसभा क्षेत्र से कॉन्ग्रेस के प्रत्याशी अशोक राय के भाई हैं। इस कार्रवाई का वीडियो भी सामने आया है।

IT के अधिकारियों को इस वीडियो में आम की टहनी पर रखे एक बक्से के बारे में पूछताछ करते हुए देखा जा सकता है। जब इस बक्से को खोला गया तो उसमें से करारे-करारे नोट निकले, जो 1 करोड़ रुपए के थे। जिस पेड़ से ये रुपए बरामद हुए हैं, वो काफी घना पेड़ है। IT विभाग को गुप्त सूचना मिली थी कि परिसर में कई बक्सों में रुपए छिपा कर रखे गए हैं। जिस पुत्तूर से उनके भाई चुनाव लड़ रहे हैं, वो दक्षिण कन्नड़ जिले में पड़ता है।

हालाँकि, ये छापेमारी अभी जारी ही है और इस संबंध में पूरी जानकारी अभी आनी बाक़ी है। अभी ये भी नहीं पता चल पाया है कि ये पैसे आए कहाँ से थे और इनका इस्तेमाल किस काम में किया जाना था। कर्नाटक में बुधवार (10 मई, 2023) को ही विधानसभा चुनाव होने हैं, वैसे में अवैध धन की आवाजाही पर ख़ुफ़िया विभाग नजर रखे हुए हैं। मुख्य लड़ाई सत्ताधारी भाजपा, विपक्षी कॉन्ग्रेस और स्थानीय पार्टी जदस के बीच है।

पिछले महीने भी इस तरह का मामला सामने आया था, जब एक ऑटो से 1 करोड़ रुपए मिले थे। बेंगलुरु पुलिस ने इस मामले में 2 लोगों को गिरफ्तार भी किया था। दोनों ने इसे एक कंपनी का कैश बताया था, लेकिन वो कोई दस्तावेज नहीं दिखा पाए। 1 दिन पहले ही केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली PSU कंपनी WAPCOS (वॉटर एंड पॉवर कंसल्टेंसी) लिमिटेड के पूर्व CMD (चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर) राजेंद्र कुमार गुप्ता के ठिकानों पर छापेमारी के दौरान केंद्रीय जाँच एजेंसी को 20 करोड़ रुपए से भी अधिक नकद बरामद करने में सफलता मिली थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेशी महिला के 5 छोटे बच्चे, 3 लड़कियाँ… इसलिए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दे दी जमानत: सपा विधायक की मदद से भारत में रहने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जेल में बंद एक बांग्लादेशी महिला हिना रिजवान को जमानत दे दी। महिला अपने बच्चों के साथ अवैध रूप से भारत में रही थी।

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -