Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजगुंडों के डर से भागने वाली राजस्थान पुलिस नेहरू पर फास्ट, अहमदाबाद से अभिनेत्री...

गुंडों के डर से भागने वाली राजस्थान पुलिस नेहरू पर फास्ट, अहमदाबाद से अभिनेत्री को उठाया

पायल रोहतगी के ख़िलाफ़ राजस्थान यूथ कॉन्ग्रेस के महासचिव चर्मेश शर्मा ने बूँदी जिले के सदर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई थी। पायल को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

आँकड़े बताते हैं कि राजस्थान में कॉन्ग्रेस की सरकार आने के बाद से अपराध बढ़े हैं। लेकिन, गुंडों के डर से थाना छोड़कर भागने वाली राजस्थान की पुलिस कितनी मुस्तैद है इसका नमूना आज (रविवार, 15 दिसंबर 2019) देखने को मिला। राज्य के बूॅंदी जिले की पुलिस अभिनेत्री रोहतगी को हिरासत में लेने के लिए पड़ोसी राज्य गुजरात के अहमदाबाद तक पहुॅंच गई। रोहतगी पर नेहरू को लेकर सोशल मीडिया में आपत्तिजनक पोस्ट करने का आरोप है।

पायल ने पूर्व कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मोतीलाल नेहरू को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। मोतीलाल देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के पिता थे। पायल पर नेहरू खानदान को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप है। ऐसा उन्होंने एक वीडियो के माध्यम से किया था। बता दें कि पूर्व बिग बॉस प्रतियोगी पायल रोहतगी ट्विटर पर अपने वीडियो लेकर आती रहती हैं, जिनमें वो हिंदुत्व को लेकर बातें करती हैं और कॉन्ग्रेस पर निशाना साधती हैं।

सोशल मीडिया पर पायल के समर्थन में ‘आई स्टैंड विथ पायल रोहतगी’ ट्रेंड कर रहा है। लोगों ने राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार और कॉन्ग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए अभिव्यक्ति की आज़ादी की बात की है। सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि अभिव्यक्ति की आज़ादी अथवा फ्रीडम ऑफ स्पीच की बात करने वाली कॉन्ग्रेस की सरकार ने एक टिप्पणी के लिए पायल रोहतगी को गिरफ़्तार करवाया। पायल ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए बताया कि मोतीलाल नेहरू के बारे में उन्होंने जो भी कहा, वो सूचना गूगल से ली गई थी।

वहीं, वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने पायल रोहतगी की गिरफ़्तारी को अवैध, अनुचित और अन्यायपूर्ण बताया है। अलख ने दावा किया कि पायल रोहतगी सोशल मीडिया पर हिंदुत्व की एक मजबूत आवाज़ हैं और उनकी गिरफ़्तारी हिन्दुओं को चुप कराने की बड़ी साज़िश का हिस्सा है। उन्होंने अपना कांटेक्ट नंबर शेयर करते हुए लिखा कि वो पायल को छुड़ाने के लिए उन्हें मुफ़्त लीगल सहायता देंगे और कोर्ट में उनकी तरफ़ से पैरवी करेंगे। पायल ने भी प्रधानमंत्री कार्यालय और गृह मंत्रालय को टैग कर के अपनी गिरफ़्तारी की जानकारी दी।

पायल रोहतगी को बूँदी पुलिस ने गिरफ़्तार किया है। उनके ख़िलाफ़ केस भी दर्ज कर लिया गया है। उन्हें सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। उनके ख़िलाफ़ राजस्थान यूथ कॉन्ग्रेस के महासचिव चर्मेश शर्मा ने बूँदी जिले के सदर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई थी। पायल रोहतगी के ख़िलाफ़ आईटी एक्ट के तहत मामला चलाया जाएगा। ’36 चाइना टाउन’ में काम कर चुकीं पायल ने इससे पहले राजा राममोहन रॉय को अंग्रेजों का चमचा बता कर विवाद खड़ा कर दिया था। फ़िलहाल सोशल मीडिया पर लोग उनकी रिहाई की माँग कर रहे हैं।

न दलित सुरक्षित न महिला, राजस्थान में कॉन्ग्रेस सरकार बनते ही चौपट हुई कानून-व्यवस्था

कॉन्ग्रेस राज में कानून-व्यवस्था चौपट: एमपी में वर्दी वाले गुंडे, राजस्थान में गुंडों के डर से भागे पुलिसवाले

राजस्थान में खनन माफिया 2 पुलिसकर्मियों का अपहरण कर ले गए मध्य प्रदेश, पीट-पीट कर किया अधमरा

राजस्थान पुलिस की प्रताड़ना और धमकियों से तंग आकर दलित महिला ने की आत्महत्या

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सबको नहीं मारा, भाग्यशाली हैं… अब आए तो सबको मार देंगे’ – असम पुलिस को खुलेआम धमकी देने वाले मिजोरम सांसद दिल्ली से ‘गायब’

वनलालवेना ने ने कहा था, ''वे भाग्यशाली हैं कि हमने उन सभी को नहीं मारा। यदि वे फिर आएँगे, तो हम उन सबको मार डालेंगे।''

‘वेब सीरीज में काम के बहाने बुलाया, 3 बौनों ने कपड़े उतार किया यौन शोषण’: गहना वशिष्ठ ने दायर की अग्रिम जमानत याचिका

'ग्रीन पार्क बंगलो' में शूट हो रही इस फिल्म की डायरेक्टर-प्रोड्यूसर गहना वशिष्ठ थीं। महिला ने बताया कि शूटिंग के दौरान तीन बौनों ने उनके कपड़े हटा दिए और उनका यौन शोषण किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,163FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe