Monday, May 20, 2024
Homeदेश-समाजसुप्रीम कोर्ट में PM मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का मामला: पंजाब के...

सुप्रीम कोर्ट में PM मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का मामला: पंजाब के मुख्य सचिव और DGP को सस्पेंड करने की माँग, CM चन्नी ने भी गठित की जाँच समिति

सुप्रीम कोर्ट के समक्ष दायर याचिका में कहा गया कि सुरक्षा चूक स्पष्ट रूप से जानबूझकर की गई थी। इसके लिए पंजाब में कॉन्ग्रेस सरकार को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि पंजाब में राष्ट्रीय सुरक्षा और वर्तमान राजनीतिक व्यवस्था द्वारा निभाई गई भूमिका गंभीर सवाल उठाती है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया है। चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना के समक्ष इस मामले को लेकर याचिका दायर की गई है। वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह ने अपनी याचिका में चीफ जस्टिस से बुधवार (5 जनवरी 2022) को पंजाब में पीएम मोदी का काफिले को रोके जाने और उनके वापस लौटने के मामले की न्यायिक जाँच कराने की गुजारिश की है।

वरिष्ठ वकील मनिंदर सिंह ने अपनी याचिका में कहा है कि इस तरह की घटना भविष्य में ना हो, ये सुनिश्चित किया जाना जरूरी है। सुप्रीम कोर्ट ने मनिंदर सिंह से कहा है कि वो केंद्र और पंजाब सरकार को भी इस याचिका की एक-एक कॉपी उपलब्ध करा दें। शुक्रवार (7 जनवरी 2021) को सुप्रीम कोर्ट इस पर सुनवाई करेगी।

याचिका में जाँच के अलावा पंजाब के मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी और पुलिस महानिदेशक (DGP) सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय को निलंबित करने की भी माँग की गई है। सुप्रीम कोर्ट के समक्ष दायर याचिका में कहा गया कि सुरक्षा चूक स्पष्ट रूप से जानबूझकर की गई थी। इसके लिए पंजाब में कॉन्ग्रेस सरकार को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि पंजाब में राष्ट्रीय सुरक्षा और वर्तमान राजनीतिक व्यवस्था द्वारा निभाई गई भूमिका गंभीर सवाल उठाती है। 

इधर पंजाब सरकार ने पीएम मोदी के फिरोजपुर दौरे के दौरान हुई चूक की जाँच के लिए उच्चस्तरीय कमेटी का गठन की है। समिति में रिटायर्ड जज मेहताब सिंह गिल और प्रमुख सचिव (गृह मामले एवं न्याय) अनुराग वर्मा शामिल होंगे। कमेटी 3 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी।

हालाँकि, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी बुधवार को ही साफ कह चुके हैं कि घटनाक्रम में पीएम की सुरक्षा में चूक जैसी कोई बात नहीं हुई है। वहीं उप-मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने सीएम चन्नी के बयान के उलट माना कि सचमुच सुरक्षा में चूक हुई है। इस दौरान सीएम चन्नी बार-बार अपना बयान बदलते रहे

गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी बुधवार को हवाई मार्ग से बठिंडा पहुँचे थे, जहाँ से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था। बारिश और खराब विजिबिलिटी के चलते बाद में उनका सड़क मार्ग से जाना तय हुआ। प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक पर जाने के लिए निकले तो उनके काफिले को एक फ्लाईओवर पर प्रदर्शनकारियों ने सड़क ब्लॉक कर रोक लिया। प्रधानमंत्री 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फँसे रहे। इसके बाद पीएम मोदी बठिंडा एयरपोर्ट और वहाँ से दिल्ली वापस लौट आए।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसे पीएम की सुरक्षा में गंभीर चूक मानते हुए पंजाब सरकार से रिपोर्ट माँगी है। यह घटना इसलिए भी बड़ी है, क्योंकि जिस जगह यह घटना हुई, वह पाकिस्तान की सीमा से सिर्फ 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। वहाँ से अक्सर बम बरामद होते रहते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का इंतकाल, सरकारी मीडिया ने की पुष्टि: हेलीकॉप्टर में सवार 8 अन्य लोगों की भी मौत, अजरबैजान की पहाड़ियों...

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहीम रईसी की एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई। यह दुर्घटना रविवार को ईरान के पूर्वी अजरबैजान प्रांत में हुई थी।

विभव कुमार की गिरफ्तारी के बाद पूरे AAP ने किया किनारा, पर एक ‘महिला’ अब भी स्वाति मालीवाल के लिए लड़ रही: जानिए कौन...

स्वाति मालीवाल के साथ सीएम हाउस में बदसलूकी मामले में जहाँ पूरी AAP एक तरफ है वहीं वंदना सिंह लगातार स्वाति के पक्ष में ट्वीट कर रही हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -