Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजपंजाब के भागूपुर हवेलियाँ गुरुद्वारे में बेअदबी के आरोप में एक गिरफ्तार: पहचान की...

पंजाब के भागूपुर हवेलियाँ गुरुद्वारे में बेअदबी के आरोप में एक गिरफ्तार: पहचान की पुष्टि में लगी पुलिस, संगत ने केंद्र पर मढ़ा दोष

पकड़ा गया आरोपित कभी दिल्ली तो कभी शाहजहाँपुर से आने की बात कह रहा है, लेकिन अभी तक उसके असली ठिकाने का पता नहीं चल पाया है। वहीं, जिले के SSP ने बताया कि यह भी जाँच की जा रही है कि आरोपित ने बेअदबी की है या नहीं।

पंजाब के एक और गुरूद्वारे में बेअदबी के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। यह मामला अमृतसर जिले के अजनाला शहर स्थित भागूपुर हवेलियाँ गुरुद्वारा का है। हालाँकि, यह उसकी पहचान और कहाँ का रहने वाला है, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। मामला बुधवार (5 जनवरी) का है और इसका एक वीडियो वायरल हो रहा है।

वायरल हो रहे वीडियो में एक व्यक्ति को कुछ लोगों ने घेर रखा है। उसका नाम-पता पूछने के साथ यह पूछा जा रहा कि उसे किसने भेजा है। पकड़े गए व्यक्ति के चेहरे पर मिट्टी आदि लगी है। वो बेहद घबराया लग रहा है। वह किसी को ठीक से कुछ भी बता नहीं पा रहा है। वीडियो में वह मानसिक रूप से असंतुलित भी नजर आ रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरोपित ने भागने की कोशिश की। इसके बाद उसे गाँव वालों ने उसे पकड़ लिया। बाद में उसे एक कमरे में बंद कर दिया गया था। दमदमी टकसाल के छात्र और सिख उपदेशक भाई रंजीत सिंह ने बताया, “एक अनजान व्यक्ति ने गुरुग्रंथ साहिब के सरूप को पालकी साहिब से उठा कर मेज पर रख दिया। इसके बाद उसने गुटका साहिब को उठाकर अपनी जेब में डाल लिया।”

बताया जा रहा है कि उसने रुमाल साहिब को भी उठाकर जेब में रख लिया और भागने की कोशिश करने लगा। इसी दौरान गुरूद्वारे के प्रबंधकों ने उसे पकड़ कर एक कमरे में बंद कर दिया। बताया जा रहा है कि पकड़े जाने के तुरंत बाद आरोपित ने कुछ कैप्सूल निगल लिया। वहीं, संगत वाले आरोपित को पुलिस के हवाले करने के बजाय पूछताछ के लिए उसे कुछ दिन और अपने पास रखना चाहते थे।

दमदमी टकसाल के मुखी अमरीक सिंह ने इस घटना के लिए केंद्र पर दोष मढ़ दिया। उन्होंने कहा, “सब जानते हैं कि इसके पीछे कौन है। ये सब केंद्र सरकार की सोची-समझी साजिश है। लोगों को खरीद कर, पैसे का लालच देकर ये सब कराया जा रहा है। ये उन गुरुद्वारों को निशाना बनाते हैं, जहाँ कोई सेवादार नहीं होता।”

उन्होंने आगे कहा, “सिंघु बॉर्डर पर कुछ समय पहले जिस व्यक्ति को निहंगों ने मारा था उसने खुद कई बातें कबूल की थीं। तब उसने बताया था कि 20 लोगों को बेअदबी करने के लिए नियुक्त किया गया है। नोज़ामपुर के व्यक्ति ने यहाँ तक माना था कि 9 लोगों को 10 लाख रुपए बेअदबी के लिए दिए गए हैं।”

पुलिस ने बताया कि यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि आरोपित कहाँ का रहने वाला है। पकड़ा गया आरोपित कभी दिल्ली तो कभी शाहजहाँपुर से आने की बात कह रहा है, लेकिन अभी तक उसके असली ठिकाने का पता नहीं चल पाया है। वहीं, जिले के SSP ने बताया कि यह भी जाँच की जा रही है कि आरोपित ने बेअदबी की है या नहीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर के डोडा में 4 जवान बलिदान, जंगल में छिपे थे इस्लामी आतंकवादी: हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमला करने वाले आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी

जम्मू कश्मीर के डोडा में हुए आतंकी हमले में एक अफसर समेत 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली है।

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -