Wednesday, July 6, 2022
Homeदेश-समाज19 साल की लड़की को अगवा कर ताहिर, सद्दाम और साजिद ने किया रेप:...

19 साल की लड़की को अगवा कर ताहिर, सद्दाम और साजिद ने किया रेप: अलग-अलग जग​ह ले जाकर दूसरों से भी करवाया बलात्कार

अलवर में पिछले 10 दिनों के दौरान बलात्कार के 8 मामले सामने आ चुके हैं। दो साल से एक 20 वर्षीय लड़की से लगातार गैंगरेप की घटना भी यहीं से सामने आई थी।

राजस्थान के अलवर से सामूहिक बलात्कार का एक मामला सामने आया है। 19 वर्षीय लड़की का अपहरण करके उसके साथ 7 लोगों ने बलात्कार किया और बाद में उसे सड़क के किनारे पटककर फरार हो गए। पीड़िता के भाई ने ताहिर, सद्दाम और साजिद समेत 7 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

डीएसपी ओमप्रकाश मीणा ने बताया कि अलवर के एमआईए थाना क्षेत्र के अंतर्गत रहने वाले एक युवक ने 5 जुलाई 2021 को थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। युवक ने बताया कि 4 जुलाई को उसकी बहन रात में करीब 11:30 बजे घर से बाहर गाय बाँधने के लिए गई। उसी समय वहाँ ताहिर, सद्दाम और साजिद बैठकर शराब पी रहे थे। इसके बाद तीनों आरोपित पीड़िता का अपहरण करके ताहिर के घर ले गए, जहाँ तीनों ने बारी-बारी से पीड़िता के साथ बलात्कार किया।

युवक ने अपनी शिकायत में बताया है कि इसके बाद आरोपित उसकी बहन को बोलेरो में सांखला गाँव लेकर गए। वहाँ ताहिर के दोस्त वसीम और परवेज ने पीड़िता के साथ बलात्कार किया। हालाँकि, आरोपित यहाँ नहीं रुके। वो पीड़िता को दिवाकरी लेकर गए जहाँ चतर कुम्हार और अरबान खान ने भी पीड़िता के साथ बलात्कार किया। इसके बाद देर रात आरोपित पीड़िता को बहाला ईंट भट्टे के पास पटककर चले गए। इसके बाद पीड़िता के भाई ने थाने पहुँचकर अपहरण और गैंगरेप की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

पुलिस के अनुसार, पीड़िता के भाई की शिकायत पर अपहरण और गैंगरेप का मामला दर्ज करके जाँच शुरू कर दी गई है। पुलिस ने बताया है कि सीआरपीसी की धारा 161 के तहत पीड़िता के बयान दर्ज कराए गए हैं और मेडिकल भी कराया गया है। इसके अलावा पीड़िता से धारा 164 के तहत भी बयान दर्ज कराए जाएंगे।

हालाँकि, अलवर में बलात्कार का यह कोई पहला मामला नहीं है। पिछले 10 दिनों के दौरान अलवर में करीब 8 बलात्कार के मामले सामने आ चुके हैं। अलवर जिले में ही पिछले दो वर्षों से एक 20 वर्षीय लड़की से कथित तौर पर लगातार गैंगरेप किए जाने की शर्मनाक वारदात सामने आई थी। इस वारदात की शुरुआत अप्रैल 2019 में हुई थी। इसके बाद पीड़िता ने मई 2019 में अलवर के ही मालाखेड़ा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की थी, लेकिन उस दौरान पुलिस ने न मामले में शिकायत दर्ज की और ना ही किसी तरह की कोई कार्रवाई की।

इसके अलावा, अलवर से ही बलात्कार की एक चौंकाने वाली घटना सामने आई थी, जहाँ रेप का आरोप एक पुलिस अधिकारी पर ही लगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक महिला खड़ेली थाना में अपने पति के खिलाफ FIR लिखवाने गई थी। इस दौरान वहाँ तैनात सब-इंस्पेक्टर ने थाना परिसर में ही उसके साथ रेप किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अभिव्यक्ति की आज़ादी सिर्फ हिन्दू देवी-देवताओं के लिए क्यों?’: सत्ता जाने के बाद उद्धव गुट को याद आया हिंदुत्व, प्रियंका चतुर्वेदी ने सँभाली कमान

फिल्म 'काली' के पोस्टर में देवी को धूम्रपान करते हुए दिखाया गया है। जिस पर विरोध जताते हुए शिवसेना ने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता हिंदू देवताओं के लिए ही क्यों?

‘किसी और मजहब पर ऐसी फिल्म क्यों नहीं बनती?’: माँ काली का अपमान करने वालों पर MP में होगी कार्रवाई, बोले नरोत्तम मिश्रा –...

"आखिर हमारे देवी देवताओं पर ही फिल्म क्यों बनाई जाती है? किसी और धर्म के देवी-देवताओं पर फिल्म बनाने की हिम्मत क्यों नहीं हो पाती है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,883FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe