Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाज'अपनी मर्जी से गई, पापा के साथ नहीं रहना': वसीम अकरम के कमरे से...

‘अपनी मर्जी से गई, पापा के साथ नहीं रहना’: वसीम अकरम के कमरे से बरामद हुई राजस्थान के कॉन्ग्रेस नेता की बेटी, पिता ने दर्ज करवाया था अपहरण का केस

अपहरण का केस दर्ज होने की वजह से पुलिस ने दोनों को कोर्ट के सामने पेश किया। कोर्ट में दिए बयान में लड़की ने कहा कि वो अपनी मर्जी से घर छोड़कर गई थी।

राजस्थान के पूर्व राज्यमंत्री और कॉन्ग्रेस नेता गोपाल केसावत की बेटी अभिलाषा केसावत (22 साल) अहमदाबाद से बरामद हुई। गोपाल केसावत ने अपनी बेटी का अपहरण का केस दर्ज करवाया था। बरामदगी के बाद लड़की ने कहा कि वे अपनी मर्जी से घर छोड़कर गई थी। अभिलाषा ने कॉन्ग्रेस नेता गोपाल केसावत के पास जाने से मना कर दिया।

दरअसल, 20 नवंबर, 2022 की शाम अभिलाषा जयपुर से अचानक गायब हो गई थी। लापता होने के बाद कॉन्ग्रेस नेता गोपाल केसावत ने प्रताप नगर थाने में बेटी के अपहरण का केस दर्ज कराया था। पुलिस ने अभिलाषा की तलाश शुरू कर दी। अब पुलिस ने कॉन्ग्रेस नेता की बेटी को गुजरात के अहमदाबाद से बरामद किया है। अभिलाषा अहमदाबाद के बोपल में एक सैलून के पास अपने दोस्त वसीम अकरम के साथ ठहरी हुई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वसीम उसी सैलून में काम करता है। वसीम टोंक के राजमहल का रहने वाला बताया जा रहा है। जयपुर पुलिस अभिलाषा और उसके दोस्त वसीम अकरम को लेकर जयपुर पहुँची।

अपहरण का केस दर्ज होने की वजह से पुलिस ने दोनों को कोर्ट के सामने पेश किया। कोर्ट में दिए बयान में लड़की ने कहा कि वो अपनी मर्जी से घर छोड़कर गई थी। उसने पिता के पास जाने से इनकार कर दिया। उसने कहा कि वो झूठ बोलकर अहमदाबाद गई थी। अब दिल्ली जाकर पढ़ाई पूरी करना चाहती है। कोर्ट के सामने लड़की ने कहा कि पूरे घटनाक्रम में उसके दोस्त वसीम अकरम की कोई गलती नहीं है। कोर्ट ने बयान के बाद बालिग होने के कारण दोनों को जाने दिया।

बता दें कि 22 नवंबर, 2022 को कॉन्ग्रेस नेता गोपाल केसावत ने प्रताप नगर थाने में बेटी के अपहरण का केस दर्ज करवाया था। उन्होंने बताया था कि उनकी बेटी सोमवार शाम करीब पाँच बजे सब्जी खरीदने निकली थी। शाम छह बजे उसका फोन आया जिसमें लड़की ने कहा कि उसके पीछे कुछ लड़के लगे हुए हैं। साथ ही गाड़ी लेकर आ जाने को भी कहा। लेकिन, जब कॉन्ग्रेस नेता घटनास्थल पर पहुँचे तो वहाँ न बेटी मिली और न उसकी स्कूटी।

अभिलाषा ने जानकारी दी कि उसने घर वालों से झूठ बोला था कि लड़के उसके पीछे पड़े हैं। उसने बताया कि उसके घर से कुछ ही दूरी पर स्थित एयरपोर्ट रोड पर उसने स्कूटी खड़ी की। उसके बाद बस में बैठकर अहमदाबाद के लिए निकल गई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -