Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजमाँ-बाप और बहन को कुल्हाड़ी से काटा, बिस्किट खाते पहुँचा थाने: मोबाइल गेम में...

माँ-बाप और बहन को कुल्हाड़ी से काटा, बिस्किट खाते पहुँचा थाने: मोबाइल गेम में ‘मर्डर टास्क’ मिलने की आशंका, गूगल पर सुसाइड के तरीके भी किए थे सर्च

रिपोर्ट्स के मुताबिक मोहित ने 1 महीने पहले भी पिता को मारने की साजिश रची थी। लेकिन इसमें कामयाब नहीं हो पाया। कहा जा रहा है कि उसे मोबाइल गेम खेलने का चस्का है, खासकर देश में बैन किए ऐसे गेम्स जो खतरनाक टास्क देते हैं।

आशंका जताई जा रही है कि मोबाइल गेम में मिले टास्क के कारण राजस्थान के नागौर में 20 साल के मोहित ने ट्रिपल मर्डर को अंजाम दिया। उसने नागौर के पादूकलां कस्बे में शनिवार (30 दिसंबर 2023) की रात अपने माता-पिता और दिव्यांग बहन को कुल्हाड़ी से काट दिया। कथित तौर पर उसने सुसाइड की भी कोशिश की।

सुसाइड में नाकाम रहने पर अगले दिन वह बिस्किट खाते हुए थाने पहुँचा और हत्याओं की जानकारी दी। पुलिस के अनुसार उसे अपने किए का पछतावा नहीं है। जाँच से यह बात सामने आई है कि वह दिनभर मोबाइल में लगा रहता था। उसकी मोबाइल हिस्ट्री से पता चला है कि उसने गूगल में कम तकलीफदेह सुसाइड के बारे में भी सर्च किया था। पुलिस के अनुसार वह अस्थिर मानसिक स्थिति का लग रहा है। इसकी जाँच की जा रही है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक मोहित ने 1 महीने पहले भी पिता को मारने की साजिश रची थी। लेकिन इसमें कामयाब नहीं हो पाया। कहा जा रहा है कि उसे मोबाइल गेम खेलने का चस्का है, खासकर देश में बैन किए ऐसे गेम्स जो खतरनाक टास्क देते हैं। पड़ोसियों का कहना है कि वह 20 से 24 घंटे मोबाइल गेम खेला करता था। ग्रेजुएशन के दूसरे साल में पढ़ाई कर रहे मोहित के साइको प्रवृत्ति का होने की बात भी सामने आ रही है। उसके दोस्त भी नहीं थे और वो अपने में ही खोया रहता था।

जानकारी के मुताबिक आरोपित के पिता दिलीप सिंह 15 साल पहले बेटी प्रियंका कंवर के पैदा होने के बाद ही चेन्नई चले गए थे। एक साल पहले ही पूरा परिवार पादूकलां लौटा था। दिलीप यहाँ ज्वेलर्स शॉप में करते थे और मोहित भी उनकी दुकान पर बैठा करता था।

शनिवार की रात उसने सबसे पहले कमरे में सो रही माँ राजेश और बहन प्रियंका की कुल्हाड़ी मार कर हत्या की। शोर सुन पर पिता दिलीप दौड़े। लेकिन इससे पहले की वो कुछ समझ पाते मोहित ने उन पर भी कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ वार कर डाले। हत्याएँ करने के बाद वह रात भर शवों के साथ ही रहा। सुबह वह घर में बने पानी के टैंक में कूद गया। लेकिन थोड़ी देर बाद ही वह टैंक से बाहर निकल आया। 31 दिसंबर की सुबह जब दूधवाला आया तो उसने घरवालों के बाहर जाने की बात कही।

इसके बाद वह गीले कपड़ों में ही घर से बिस्किट खाते-खाते पादूकलां पुलिस थाने जा पहुँचा और परिवार के सदस्यों की हत्या करने का खुलासा किया। इसके बाद एसएचओ मानवेन्द्र सिंह ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की। पुलिस इस बात की भी जाँच कर रही है कि कहीं मोबाइल गेम में दिए गए किसी टास्क की वजह से तो उसने ऐसा कदम नहीं उठाया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

IAS बेटी ऑडी पर बत्ती लगाकर बनाती थी भौकाल, माँ-बाप FIR के बाद फरार: पूजा खेडकर को जाँच के बाद डॉक्टरों ने नहीं माना...

पूजा खेडकर का मामला मीडिया में उठने के बाद उनके माता-पिता से जुड़ी कई वीडियो सामने आई है। ऐसे में पुलिस ने उनकी माँ के खिलाफ एफआईआर की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -