Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजराजस्थान में सड़क पर नंगी मिली महिला, बार-बार बयान बदलती रही पुलिस: क्या प्रियंका...

राजस्थान में सड़क पर नंगी मिली महिला, बार-बार बयान बदलती रही पुलिस: क्या प्रियंका गाँधी की रैली के कारण गैंगरेप छिपा रही थी पुलिस?

"ये है राजस्थान पुलिस! पहले उन्होंने रेप से इनकार किया क्योंकि सुबह प्रियंका गाँधी वहाँ रैली कर रही थीं, बाद में उन्होंने स्वीकार किया कि उनके साथ रेप हुआ था।"

राजस्थान के भीलवाड़ा में शनिवार (9 सितम्बर, 2023) की रात में गैंगरेप की एक घटना सामने आई है। मामले में महिला नंगी सड़क पर पाई गई थी। जिसको लेकर रविवार (10 सितम्बर, 2023) को पुलिस बार-बार अपने बयान बदलती रही, पहले कहा कोई रेप नहीं हुआ, फिर कहा परिचितों के साथ गई महिला ने झूठ बोला और बाद में उसी राजस्थान पुलिस ने आरोप को सही बताते हुए दोनों आरोपितों को गिरफ्तार भी कर लिया।

वहीं सोशल मीडिया पर इसे प्रियंका गाँधी की रैली से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, रविवार (10 सितम्बर, 2023) को राजस्थान में भाजपा के परिवर्तन रैली के जवाब में प्रियंका गाँधी की रैली थी। और पुलिस के बयान बदलने की घटना को उसी से जोड़कर लोगों द्वारा देखा जा रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, रेप की यह घटना भीलवाड़ा के गंगापुर में शनिवार (9 सितम्बर, 2023) रात करीब 8 बजे की है।

इस मामले में अंकित जैन नामक एक व्यक्ति ने सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट कर दावा किया, “प्रियंका गाँधी की रैली से सिर्फ़ तीन किलोमीटर दूर एक महिला निर्वस्त्र पाई जाती है, पुलिस की गाड़ी की सीट के कपड़े से उसे ढका जाता है। महिला कहती है उसके साथ गैंगरेप हुआ है। रैली से पहले राजस्थान पुलिस ट्वीट कर कहती है रेप और अपहरण की घटना झूठी निकली, रैली के बाद पुलिस नया ट्वीट कर कहती है रेप की घटना सच है।”

क्या है पूरा मामला 

दरअसल, प्रियंका गाँधी के राजस्थान में रैली को देखते हुए 10 सितंबर को राजस्थान पुलिस द्वारा भीलवाड़ा गैंग रेप के मामले में लापरवाही बरतने और बार-बार अपने बयान बदलने का मामला सामने आया है।

इस मामले में सबसे पहले सुबह 11:05 बजे, राजस्थान पुलिस ने अपने आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल से एक बयान जारी कर दावा किया कि गंगापुर के आमली रोड पर नग्न अवस्था में मिली महिला का न तो अपहरण किया गया था और न ही उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था। उन्होंने बताया कि जाँच के दौरान पुलिस को पता चला कि महिला ने ‘झूठ’ बोला था क्योंकि वह अपने पति से डरती थी।

इसके बाद, एक और पोस्ट कर पुलिस ने कहा कि उसका मेडिकल अस्पताल में किया गया था, और उन्हें उसके फोन पर आरोपित के साथ कॉल रिकॉर्डिंग मिली।

दोपहर करीब 2:59 बजे जब प्रियंका गाँधी की रैली समाप्त हो चुकी थी तब भीलवाड़ा पुलिस ने फिर से बयान जारी कर कहा कि आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अब पुलिस ने साफ कहा कि सामूहिक दुष्कर्म की पुष्टि हुई है, लेकिन अपहरण की शिकायत फर्जी निकली। आरोपित महिला के परिचित थे। उसके साथ बलात्कार करने के बाद वह भाग निकली।

करीब 3:45 बजे, राजस्थान पुलिस के ऑफिसियल एक्स हैंडल ने इस मामले पर एक और बयान जारी किया, जिसमें यह हिस्सा हटा दिया गया कि उसके साथ सामूहिक बलात्कार नहीं हुआ था और कहा गया कि 2 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया था। अपने बाद के ट्वीट में, पुलिस ने पुष्टि की कि जाँच के बाद महिला के खिलाफ दुष्कर्म की पुष्टि की गई, जो कि पुलिस के पहले के बयान के विरोध में था। 

सोशल मीडिया पर हुई राजस्थान पुलिस की किरकिरी 

इस पूरे मामले को लेकर फैक्ट नाम के सोशल मीडिया हैंडल ने लिखा, “ये है राजस्थान पुलिस! पहले उन्होंने रेप से इनकार किया क्योंकि सुबह प्रियंका गाँधी वहाँ रैली कर रही थीं, बाद में उन्होंने स्वीकार किया कि उनके साथ रेप हुआ था। और अब उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है जब उन्होंने कहा था कि पीड़िता के साथ बलात्कार नहीं हुआ है।”

इस पोस्ट में फैक्ट हैंडल ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत और प्रियंका गाँधी को टैग करते हुए इसे शर्म की बात बताया है। साथ ही तंज करते हुए कहा है कि यही लोग महिला सशक्तिकरण और सुरक्षा की बात करते हैं। 

आरोपित गिरफ्तार 

गौरतलब है कि इस मामले में FIR के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एसएचओ गंगापुर, सीओ व अन्य पुलिस टीमों ने सर्च अभियान चलाया। पुलिस का दावा है कि सीडीआर की जाँच से भी उन्हें मामले की पुष्टि करने में मदद मिली। इसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपितों को हिरासत में ले लिया।

आरोपितों के नाम गंगापुर आमली निवासी छोटू (42) पुत्र गणेश सरगरा व चीडखेड़ा निवासी गिरधारी (30) पुत्र नगजीराम गाडरी बताया जा रहा है। फ़िलहाल दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं पुलिस को मौके से एक मोबाइल फोन भी बरामद और वारदात में इस्तेमाल की गई बाइक भी बरामद कर ली है

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -