Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजतिहाड़ जेल में अरविंद केजरीवाल से पूछताछ, ट्रायल कोर्ट में पेश करेगी CBI: जमानत...

तिहाड़ जेल में अरविंद केजरीवाल से पूछताछ, ट्रायल कोर्ट में पेश करेगी CBI: जमानत पर रोक के बाद सुप्रीम कोर्ट पहुँचे CM

इस मामले पर दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा का बयान आया है। उन्होंने आप नेताओं सौरभ भारद्वाज, आतिशी और संजय सिंह को बीजेपी के बजाय कॉन्ग्रेस पार्टी से सवाल पूछने का सुझाव देते हुए कहा कि जिस मामले पर सीबीआई काम कर रही है, वह कॉन्ग्रेस ने दर्ज कराया था।

केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) ने मंगलवार (25 जून 2024) को तिहाड़ जेल में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछताछ की और दिल्ली शराब घोटाला मामले में उनका बयान दर्ज किया। सीबीआई को कथित तौर पर बुधवार (26 जून 2024) को केजरीवाल की जमानत पर रोक के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई से पहले केजरीवाल को ट्रायल कोर्ट में पेश करने की अनुमति भी मिल गई है। माना जा रहा है कि सीबीआई अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने वाली है। इस बीच, सुप्रीम कोर्ट बुधवार (26 जून 2024) को अरविंद केजरीवाल की जमानत पर रोक के खिलाफ याचिका पर सुनवाई करेगा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल को ट्रायल कोर्ट ने जमानत दे दी थी, लेकिन दिल्ली हाई कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी थी, जिसके खिलाफ अरविंद केजरीवाल सुप्रीम कोर्ट पहुँचे हैं। ये मामला ईडी द्वारा गिरफ्तारी से जुड़ा है, लेकिन अब सीबीआई भी उन्हें गिरफ्तार करने वाली है, तो ये साफ है कि अरविंद केजरीवाल को अभी सलाखों के पीछे ही रहना होगा।

दिल्ली हाई कोर्ट की अवकाश पीठ के जस्टिस सुधीर कुमार जैन ने आदेश पारित करते हुए कहा कि ट्रायल कोर्ट ने दस्तावेजों और तर्कों का उचित मूल्यांकन नहीं किया था। हाई कोर्ट के आदेश पर दिल्ली के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि यह बहुत ही असामान्य बात है कि दिल्ली हाई कोर्ट ने निचली अदालत का आदेश पढ़े बिना ही केजरीवाल को जमानत देने के आदेश पर रोक लगा दी। इसके बाद अरविंद केजरीवाल सुप्रीम कोर्ट पहुँचे हैं।

इस बीच, सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई से पहले केजरीवाल को सीबीआई अदालत में पेश किया जाएगा। जाँच एजेंसी के अधिकारियों ने कहा कि वे आज मामले में केजरीवाल को आधिकारिक रूप से गिरफ्तार कर सकते हैं।

बता दें कि केजरीवाल को आबकारी नीति मामले में ईडी ने 21 मार्च को गिरफ्तार किया था। शीर्ष अदालत ने उन्हें चुनाव प्रचार में भाग लेने के लिए 10 मई को अंतरिम जमानत दी थी और 2 जून तक आत्मसमर्पण करने का निर्देश दिया था। इसके बाद 20 जून को ट्रायल कोर्ट ने उन्हें नियमित जमानत दे दी थी, जिस पर जमानत आदेश जारी होने से पहले ही 21 जून को हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी।

इस मामले पर दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा का बयान आया है। उन्होंने आप नेताओं सौरभ भारद्वाज, आतिशी और संजय सिंह को बीजेपी के बजाय कॉन्ग्रेस पार्टी से सवाल पूछने का सुझाव देते हुए कहा कि जिस मामले पर सीबीआई काम कर रही है, वह कॉन्ग्रेस ने दर्ज कराया था। उन्होंने कहा, “सीबीआई इस मामले में अरविंद केजरीवाल से पहले ही पूछताछ कर चुकी है। मनीष सिसोदिया को भी सीबीआई ने इसी मामले में गिरफ्तार किया है… सौरभ भारद्वाज, आतिशी और संजय सिंह को कॉन्ग्रेस से सवाल पूछना चाहिए, क्योंकि जिस मामले पर सीबीआई काम कर रही है, वह कॉन्ग्रेस ने दर्ज कराया था। उन्हें राहुल गाँधी से पूछना चाहिए कि जब उन्होंने चुनाव के लिए गठबंधन किया था, तब उन्होंने अपनी शिकायत वापस क्यों नहीं ली थी। क्या संजय सिंह चाहते हैं कि जाँच एजेंसियाँ ​​उनके हिसाब से काम करें?”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -