Thursday, January 20, 2022
Homeदेश-समाजकोरोना की वैक्सीन बनाने वाली सीरम को आग से ₹1000 करोड़ का नुकसान, उद्धव...

कोरोना की वैक्सीन बनाने वाली सीरम को आग से ₹1000 करोड़ का नुकसान, उद्धव बोले- चल रही जाँच

“सौभाग्य से वह स्थान जहाँ टीका का निर्माण और भंडारण किया जाता है, प्रभावित नहीं हुआ। मुझे अदार और प्रबंध निदेशक सायरस द्वारा सूचित किया गया कि आग जहाँ लगी उससे दूरी पर COVID वैक्सीन का निर्माण किया जाता है।”

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की इमारत में लगी आग और जान-माल के नुकसान पर कंपनी के सीईओ अदार पूनावाला ने प्रतिक्रिया दी है। पूनावाला ने कहा कि उस जगह वैक्सीन का निर्माण नहीं हो रहा था, जहाँ ये आग लगी थी। इससे कोरोना की वैक्‍सीन के काम पर असर नहीं पड़ा है। यह पूरी तरह सुरक्षित है। उन्होंने बताया कि करीब 1,000 करोड़ से रुपए से अधिक की संपत्ति का नुकसान हुआ है।

पूनावाला ने कहा कि यह नया संयत्र था, जहाँ भविष्य के लिए बीसीजी और रोटावायरस वैक्सीन का उत्पादन होना था। वहाँ कोई वास्तविक वैक्सीन अभी बनाई ही नहीं जा रही थी। covishield के उत्पादन और संरक्षण का काम पहले की तरह चल रहा है। पूनावाला ने कहा कि आग से सिर्फ वित्तीय नुकसान हुआ है।

पूनावाला ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ एक प्रेस कान्फ्रेंस में यह बात कही। उद्धव ठाकरे से जब अग्निकांड को लेकर पूछा गया तो उन्हें कहा आग लगने की वजह की जाँच की जा रही है। जब तक जाँच रिपोर्ट नहीं आती है, इसके बारे में कोई निष्कर्ष नहीं निकल सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा, “सौभाग्य से वह स्थान जहाँ टीका का निर्माण और भंडारण किया जाता है, प्रभावित नहीं हुआ। मुझे अदार और प्रबंध निदेशक सायरस द्वारा सूचित किया गया कि आग जहाँ लगी उससे दूरी पर COVID वैक्सीन का निर्माण किया जाता है।”

बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे ने आज (जनवरी 22, 2021) सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के निर्माणाधीन भवन का दौरा किया। जहाँ आग लगने से पाँच लोगों की मौत हो गई थी। ठाकरे सीरम संस्थान के उस केन्द्र में भी गए, जहाँ कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड तैयार की जा रही है।

गौरतलब है कि पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट में गुरुवार (जनवरी 21, 2021) को आग लगने से पूरे इलाके में अफरा तफरा मच गई थी। सीरम इंस्टीट्यूट ने दुर्घटना में जान गवाँने वाले मजदूरों के परिजनों को 25 लाख रुपए देने का ऐलान किया था। SII के अध्यक्ष साइरस पूनावाला ने कहा था, “SII में हम सभी के लिए यह एक अत्यंत दुखद दिन है। हमें गहरा दुख हुआ है और दिवंगत परिवारों के प्रति हमारी संवेदना है। हम मानदंडों के अनुसार अनिवार्य राशि के अलावा, प्रत्येक परिवार को 25 लाख रुपए का मुआवजा देंगे।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इंस्टीट्यूट में आग लगने से हुए जानमाल के नुकसान पर अपना दुख व्यक्त किया था। पीएम मोदी ने ट्वीट किया था, “सीरम इंस्टीट्यूट में आग की वजह से जानमाल के नुकसान से दुखी हूँ। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदना मृतकों के परिजनों के साथ हैं। मैं प्रार्थना करता हूँ कि हादसे में जो लोग घायल हुए वो जल्द से जल्द ठीक हो जाएँ।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नसीरुद्दीन के भाई जमीर उद्दीन शाह ने की हिंदू-मुस्लिम के बीच शांति की वकालत, भड़के इस्लामी कट्टरपंथियों ने उन्हें ट्विटर पर घेरा

जमीर उद्दीन शाह वही व्यक्ति हैं जिन्होंने गोधरा दंगे पर गुजरात की तत्कालीन मोदी सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया था।

‘उस समय माहौल बहुत खौफनाक था…’: वे घाव जो आज भी कैराना के हिंदुओं को देते हैं दर्द, जानिए कैसे योगी सरकार बनी सुरक्षा...

योगी सरकार की क्राइम को लेकर जीरो टॉलरेस की नीति ही वह सुरक्षा कवच है जो कैराना के हिंदुओं को भरोसा दिलाती है कि 2017 से पहले का वह दौर नहीं लौटेगा, जिसकी बात करते हुए वे आज भी सहम जाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,413FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe