Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजजम्मू-कश्मीर में अवैध मस्जिद को ढहाने पहुँची टीम पर हमला: तोड़ डाला बुलडोजर, DSP...

जम्मू-कश्मीर में अवैध मस्जिद को ढहाने पहुँची टीम पर हमला: तोड़ डाला बुलडोजर, DSP समेत 6 पुलिसकर्मी घायल

मस्जिद पर बुलडोजर चलाए जाने की खबर आग की तरह फैल गई और वहाँ गुज्जर बकरवाल समुदाय के लोग भारी संख्या में जमा हो गए और पथराव शुरू कर दिया।

केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में बवाल हो गया। यहाँ अवैध मस्जिद तोड़ने पहुँची प्रशासनिक टीम पर लोगों ने हमला बोल दिया। इस हमले में एक डीएसपी समेत 6 अधिकारी घायल हो गए। इस दौरान भीड़ ने बुलडोजर को भी तोड़ दिया। हिंसक भीड़ को कंट्रोल करने के लिए पुलिस वालों को हवाई फायरिंग करनी पड़ी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये मामला कठुआ जिले के नागरी तहसील स्थित कल्याणपुर पादरी इलाके का है, जहाँ शनिवार (29 जून 2024) की सुबह खूब हंगामा हुआ। यहाँ अवैध रूप से बनाई गई एक मस्जिद को तोड़ने के लिए सरकारी अधिकारी जेसीबी मशीन लेकर पहुँचे थे। मस्जिद पर बुलडोजर चलाए जाने की खबर आग की तरह फैल गई और वहाँ गुज्जर बकरवाल समुदाय के लोग भारी संख्या में जमा हो गए। खबर है कि इन लोगों ने वहां पथराव शुरू कर दिया, जिसमें डीएसपी रेंक के एक अधिकारी सहित 6 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए। इस दौरान मस्जिद तोड़ने के लिए लाई गई जेसीबी भी लोगों ने तोड़ दी। इलाके में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

बताया जा रहा है कि मस्जिद सरकारी जमीन पर बनी है। इस अतिक्रमण रोधी अभियान में शामिल एक अधिकारी ने बताया, “जब उन्होंने अपना अभियान शुरू किया, तो एक विशेष समुदाय के लोगों ने उन पर हमला कर दिया। पुलिस को बिगड़ी हालात को कंट्रोल करने के लिए चेतावनी के तौर पर हवा में गोलियाँ चलानी पड़ीं।” इस घटना में घायल अधिकारियों को तुरंत जिला अस्पताल ले जाया गया, जहाँ उनका इलाज चल रहा है। इलाके में माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है, जिसके चलते वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी स्थिति पर कड़ी नजर रख रहे हैं।

अधिकारियों ने कहा, “अतिरिक्त पुलिस बलों की तैनाती का मकसद हालात को आगे बिगड़ने से रोकना और सभी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।” उन्होंने आगे कहा, “अधिकारी इस घटना को गंभीरता से ले रहे हैं और हालात को काबू में रखते हुए इस मसले का हल निकालने की कोशिश कर रहे हैं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -