Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाज'तिरंगे को सलामी मत दो, राष्ट्रगान मत गाओ': मौलाना के फतवा का विरोध करने...

‘तिरंगे को सलामी मत दो, राष्ट्रगान मत गाओ’: मौलाना के फतवा का विरोध करने वाले 3 मुस्लिम युवकों ने पी फिनाइल, कहा – किया जा रहा है प्रताड़ित

उस ऑडियो क्लिप को लेकर मौलाना से इन युवकों ने सवाल पूछा। बताया जा रहा है कि मौलाना ने तब कबूल किया कि ये आवाज उसकी ही है और उसने ही बयान दिया है।

गुजरात के पोरबंदर में 3 मुस्लिम युवकों ने फिनाइल पी ली है। इंस्टाग्राम पर वीडियो बना कर उन्होंने आरोप लगाया गया है कि उनके ही समुदाय के कुछ लोग उन्हें प्रताड़ित कर रहे थे। असल में तिरंगा झंडा को लेकर एक मौलवी ने फतवा जारी किया। इस फतवे को उन युवकों ने ख़ारिज कर दिया था। इन तीनों मुस्लिम युवकों का आरोप है कि उन्हें इसी वजह से बदनाम किया जा रहा है। साथ ही उन्हें समाज से बाहर किए जाने की कोशिश भी चल रही है, ऐसा आरोप है।

तीनों लड़कों ने शरीयत कानून का हवाला देकर ये बताने की कोशिश की गई है कि मौलाना का फतवा गलत है, उसका आदेश सही नहीं है। ‘देश गुजरात’ ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि कुछ दिनों पहले मौलाना की एक ऑडियो क्लिप वायरल हुई थी, जिसमें उसने कहा था कि मुस्लिमों को राष्ट्रीय ध्वज फहराना चाहिए लेकिन इसे सलामी देना जायज नहीं है। मौलाना हाफिज वासिफ रज़ा के इस फैसले का विरोध करने 6 मुस्लिम युवक ही उसके पास गए।

उस ऑडियो क्लिप को लेकर मौलाना से इन युवकों ने सवाल पूछा। बताया जा रहा है कि मौलाना ने तब कबूल किया कि ये आवाज उसकी ही है और उसने ही बयान दिया है। इस पर मुस्लिम युवकों ने उसे बताया कि पैगंबर मुहम्मद ने मुस्लिमों को देशभक्ति का सन्देश दिया है। इस ऑडियो के खिलाफ 2 अगस्त को विरोध प्रदर्शन भी किया गया था। पुलिस में दी गई शिकायत में ‘दारुल उलूम संस्थान’ ने मौलाना के साथ मारपीट का आरोप भी लगाया है।

साथ ही मौलाना और कुछ मुस्लिम नेताओं को जान से मारने की धमकी देने की बात भी शिकायत में कही गई है। केस दर्ज होने के बाद शकाली कादरी, सोहेल इब्राहिम और इम्तियाज हारून ने इंस्टाग्राम पर अपना दर्द बयाँ करते हुए फिनाइल पी लिया। पोरबंदर के एसपी भगीरथ सिंह ने इस वीडियो को फॉरेंसिक जाँच के लिए भेजे जाने की बात बताई है। अब ‘दारुल उलूम गौसे’ इस ऑडियो क्लिप को फर्जी बता रहा है।

क्लिप में मौलाना ने राष्ट्रगान गाने के खिलाफ भी फतवा जारी किया था। संस्था ने दावा किया है कि इन तीनों युवकों के खिलाफ पहले से ही केस दर्ज हैं और तिरंगा झंडा को लेकर उसके मौलाना ने कुछ कहा ही नहीं है। फिनाइल पीने का जो वीडियो सामने आया है, जो लकड़ी बन्दर नामक इलाके की घटना है। इसके बाद परिजनों-दोस्तों ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया। गुजरात पुलिस ने अस्पताल पहुँच कर तीनों ही युवकों के बयान रिकॉर्ड किए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -