Saturday, May 25, 2024
Homeदेश-समाजअल्लाह हो अकबर... चीखते हुए उत्तराखंड की सड़कों पर उतरे सैकड़ों लोग: इमाम के...

अल्लाह हो अकबर… चीखते हुए उत्तराखंड की सड़कों पर उतरे सैकड़ों लोग: इमाम के कारण स्थिति तनावपूर्ण

अभी भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों को जाँच के लिए समझाने में जुटी है। सुरक्षा के मद्देनजर पूरे क्षेत्र में पीएसी की दो कंपनी तैनात है।

कोरोना वायरस के कारण देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान पूरे देशभर से ऐसी ख़बरें सामने आ रही हैं, जहाँ एक विशेष वर्ग के लोगों ने डॉक्टर्स से लेकर पुलिसकर्मियों का सहयोग करने के बजाए उन पर हमला और बदसलूकी की है। ऐसा ही एक मामला उत्तराखंड के हल्द्वानी में सामने आया है, जहाँ एक मौलवी को क्वारंटाइन करने गई पुलिस के विरोध में तबलीगी समाज से जुड़े हुए देवबंदी विचारधारा के सैकड़ों लोग विरोध में सड़क पर उतर आए।

अल्लाह हो अकबर के अलावा किसी को मुर्दाबाद (शायद सरकार को) भी कह रही है ये भीड़। वीडियो देखकर आपको उस इलाके में रहने वाले गैर-मुस्लिम निवासियों के अंदर डर का अंदाजा लग सकता है। खासकर तब जबकि सरकारों की कोशिश इमाम हो या कोई आम इंसान, कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की है। और उसी के लिए वो आपके गली-मुहल्ले में घूम रहे हैं, खुद की जान को जोखिम में डाल कर। लेकिन आप हैं कि सड़क पर अल्लाह हो अकबर चिल्लाते हुए विरोध में निकल गए हैं।

उत्तराखंड के हल्द्वानी में हॉटस्पॉट बनभूलपूरा क्षेत्र की लेन नम्बर आठ में रविवार (अप्रैल 12, 2020) की दोपहर उस समय हंगामा खड़ा हो गया, जब कोरोना संक्रमितों की जाँच और इमाम के साथ ही अन्य 14 लोगों को क्वारंटाइन करने के उद्देश्य से गई स्वास्थ्य विभाग की टीम के विरोध में एक विशेष समुदाय के देवबंदी समुदाय के लोग सड़क पर उतर गए।

लॉकडाउन में दुकानें खुली, खुले में ताश: रोकने पहुँची पुलिस पर लाठी-डंडे और पत्थर से हमला

कोरोना फैलाने आए थे 3, हरवे-हथियार संग सड़क पर 2000: अलीगढ़ में थूक लगा नोट फेंक गए बाइक सवार

‘सेक्युलर’ केजरीवाल: कोरोना बुलेटिन से हटा दिया ‘मरकज़’ वाला कॉलम, DMC के सामने घुटने टेके

ज्ञात हो कि यह इलाका संवेदनशील होने के कारण पहले से ही सील किया गया था। इस क्षेत्र के जमात में शामिल सात लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। वहीं, मुरादाबाद में भर्ती पाँच कोरोना संक्रमित मरीज भी इसी क्षेत्र के बताए जा रहे हैं।

स्वास्थ्यकर्मियों की टीम ने जब इमाम की जाँच कर क्वारंटाइन करने की बात कही तो लोग उनका विरोध करने लगे। मामला बढ़ता देख पुलिस प्रशासन भी सतर्क हो गया और पूरे क्षेत्र में पुलिसबल तैनात कर दिया गया।

रिपोर्ट्स के अनुसार, स्वास्थ्य विभाग की टीम दोपहर करीब तीन बजे इस क्षेत्र में सैंपल लेने पहुँची, लेकिन तभी वहाँ लोगों ने टीम का विरोध शुरू कर दिया। विरोध कर रहे लोगों का कहना था कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है और उन्हीं में से कुछ लोगों ने इमाम को क्वारंटाइन किए जाने के विषय में कुछ अफवाहें भी चलाईं, जिस कारण मोहल्ले के लोगों ने स्वास्थ्य और पुलिस टीम को बाहर जाने के लिए कहा।

जैसे ही टीम और क्षेत्रवासियों में गहमागहमी शुरू हुई मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। वहाँ अभी भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों को जाँच के लिए समझाने में जुटी है। देहरादून के बाद जिला प्रशासन ने हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्र को पाँच सेक्टरों में बाँटकर हॉटस्पॉट घोषित कर दिया है। अब पूरे इलाके में एक भी दुकान नहीं खुल रही है। सुरक्षा के मद्देनजर पूरे क्षेत्र में पीएसी की दो कंपनी तैनात है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ईवीएम पर नहीं लगा था BJP का टैग, तृणमूल कॉन्ग्रेस ने झूठ फैलाया: चुनाव आयोग ने खोली पोल, बताया- क्यों लिए जाते हैं मशीन...

भारतीय निर्वाचन आयोग ने टीएमसी के आरोपों का जवाब देते हुए झूठे दावे की पोल खोली और बताया कि ईवीएम पर कोई भाजपा का टैग नहीं हैं।

CM केजरीवाल के घर कहाँ हुआ क्या-क्या… दिल्ली पुलिस ने सब सीन री-क्रिएट करवाए, विभव कुमार ने बचने को डाली जमानत याचिका

दिल्ली पुलिस विभव कुमार को मुख्यमंत्री आवास भी लेकर पहुँची, जहाँ स्वाति मालीवाल के साथ हुई घटना का पूरा सीन रिक्रिएट किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -