‘हमारी मुट्ठी’ को ‘मोदी की मुट्ठी’ कर अभिसार शर्मा ने मीडिया पर लगाया लांछन, लताड़े जाने पर वीडियो किया डिलीट

जब ट्विटर पर अभिसार शर्मा की कारस्तानी एक यूज़र ने उजागर की तो उन्होंने चुपचाप वह वीडियो डिलीट कर नया वीडियो डाल दिया, जिसमें "मोदी की मुट्ठी" नहीं था। लेकिन उन्होंने न ही आजतक या चित्रा त्रिपाठी से माफ़ी माँगी, न ही अपनी गलती पर खेद जताया।

पत्तलकार अभिसार शर्मा को एक बार फिर से फेक न्यूज़ फैलाते हुए पकड़ा गया है। इस बार उन्होंने आज तक की पत्रकार चित्रा त्रिपाठी को बदनाम करने और “मोदी-भक्त” दिखाने के लिए उनके एक कार्यक्रम के वीडियो के साथ छेड़छाड़ की है। पकड़े जाने पर उन्होंने वीडियो तो डिलीट कर दिया, लेकिन अपनी करतूत के लिए चित्रा त्रिपाठी से माफ़ी नहीं माँगी

चित्रा त्रिपाठी ने चंद्रयान-2 के ऊपर एक कार्यक्रम किया था, जिसका शीर्षक था “अब चांद हमारी मुट्ठी में”। इसे अभिसार शर्मा ने “अब चांद मोदी की मुट्ठी में” वीडियो एडिटिंग से कर दिया और “प्रधानमंत्री की तौहीन” पर चिंता जताने के बहाने ऐसा दिखाने की कोशिश की कि मीडिया चैनल्स प्रधानमंत्री की चाटुकारिता करने में लगे हैं। हालाँकि उन्होंने ‘technically’ चित्रा की तस्वीर धुँधली कर दी, लेकिन फिर भी किसी के लिए यह पता लगाना मुश्किल नहीं था कि उनके निशाने पर कौन-सी पत्रकार हैं।

जब ट्विटर पर अभिसार शर्मा की कारस्तानी एक यूज़र ने उजागर की तो उन्होंने चुपचाप वह वीडियो डिलीट कर नया वीडियो डाल दिया, जिसमें “मोदी की मुट्ठी” नहीं था। लेकिन उन्होंने न ही आजतक या चित्रा त्रिपाठी से माफ़ी माँगी, न ही अपनी गलती पर खेद जताया।

पाकिस्तानियों का ‘कच्चा माल’ रह चुके हैं

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अभिसार शर्मा इसके पहले 370 के मुद्दे पर पाकिस्तान की लाइन रटने वाले पत्तलकारों की फेहरिस्त में भी शामिल रह चुके हैं। पाकिस्तान के पत्रकार हामिद मीर ने उनके एक वीडियो को अपने हिंदुस्तान-विरोधी प्रोपगेंडा का हिस्सा बनाया था, जिसमें अभिसार शर्मा अनुच्छेद 370 हटने के बाद चले जोक्स से तिल का ताड़ बना रहे थे

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रम्प
"भारतीय मूल के लोग अमेरिका के हर सेक्टर में काम कर रहे हैं, यहाँ तक कि सेना में भी। भारत एक असाधारण देश है और वहाँ की जनता भी बहुत अच्छी है। हम दोनों का संविधान 'We The People' से शुरू होता है और दोनों को ही ब्रिटिश से आज़ादी मिली।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

92,234फैंसलाइक करें
15,601फॉलोवर्सफॉलो करें
98,700सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: