Monday, July 15, 2024
Homeराजनीति'कॉन्ग्रेस के 40 विधायक कैप्टन के खिलाफ, हमारे साथ नवजोत सिंह सिद्धू बना लें...

‘कॉन्ग्रेस के 40 विधायक कैप्टन के खिलाफ, हमारे साथ नवजोत सिंह सिद्धू बना लें सरकार’

पिछले दिनों कॉन्ग्रेस के चारों विधायकों- हरदयाल सिंह कंबोज, मदन लाल जलालपुर, निर्मल सिंह शुत्राना और काका राजिंदर सिंह ने आरोप लगाया था कि पंजाब पुलिस उनके फोन कॉल्स को टैप कर रही है। इसकी शिकायत करने पर भी मुख्यमंत्री उनकी बात नहीं सुन रहे हैं।

आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक ने पंजाब में जल्‍द ही कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली कॉन्ग्रेस सरकार के गिरने का दावा किया है। AAP विधायक अमन अरोड़ा के मुताबिक पंजाब के कई कॉन्ग्रेसी विधायक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ खड़े हो गए हैं। बगावत करने वाले चार विधायक अमरिंदर के गृहनगर के ही हैं।

अरोड़ा ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के गृहनगर के चार कॉन्ग्रेस विधायक सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं। इन चार बागी विधायकों को 40 कॉन्ग्रेस विधायकों का समर्थन हासिल है। अमन अरोड़ा ने कहा, “मैं उन 40 विधायकों और 19 आप विधायकों को साथ लेकर सरकार बनाने के लिए नवजोत सिंह सिद्धू को आमंत्रित करता हूँ। इस संबंध में हम कॉन्ग्रेस के विधायकों के संपर्क में हैं।” गौरतलब है कि सिद्धू अमरिंदर सरकार में मंत्री रह चुके हैं। लेकिन, मतभेदों के चलते उन्होंने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था।

बता दें कि पंजाब में कॉन्ग्रेस के नाराज विधायकों ने आरोप लगाया है कि अफसरशाही विधायकों पर भारी है। अधिकारी विधायकों की नहीं सुन रहे हैं। कॉन्ग्रेस विधायकों ने अपने क्षेत्रों में पुलिस पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए और कहा कि अधिकारी लगातार अपनी मनमानी करते हैं। इस तरह के तमाम मामले लगातार उठाए जाने के बावजूद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बात करने के लिए भी समय नहीं दिया।

विधायकों ने कहा कि अगर पंजाब को नशे से मुक्त बनाना है तो सालों से एक ही जगह जमे पुलिस अधिकारियों को बदलना होगा, सरकार को पुलिस पर सख्ती करनी होगी। चारों विधायकों ने कहा कि अपनी ही सरकार में उनकी नहीं सुनी जा रही। उनका कहना है कि जब विधायकों की नहीं सुनी जा रही तो आम नागरिकों का क्या होगा।

बता दें कि पिछले दिनों कॉन्ग्रेस के चारों विधायकों-  हरदयाल सिंह कंबोज, मदन लाल जलालपुर, निर्मल सिंह शुत्राना और काका राजिंदर सिंह ने आरोप लगाया था कि पंजाब पुलिस उनके फोन कॉल्स को टैप कर रही है। इसकी शिकायत करने पर भी मुख्यमंत्री उनकी बात नहीं सुन रहे हैं। ये चारों नाराज विधायक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के जिला पटियाला के विधानसभा क्षेत्रों से ही हैं। उल्लेखनीय है कि 117 सदस्यीय पंजाब विधानसभा में कॉन्ग्रेस के 77 विधायक हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -