Friday, July 12, 2024
Homeराजनीतिछत्तीसगढ़ महिला कॉन्ग्रेस की जिलाध्यक्ष ने अपनी ही पार्टी की महिला पार्षद से की...

छत्तीसगढ़ महिला कॉन्ग्रेस की जिलाध्यक्ष ने अपनी ही पार्टी की महिला पार्षद से की गाली-गलौज, राजनीतिक द्वेष का आरोप: वीडियो वायरल

बरखा सिंह को महिला कॉन्ग्रेस का जिलाध्यक्ष बनाए जाने के कई लोगों ने इसका विरोध किया था, जिनमें पार्षद संजना शर्मा भी शामिल थीं। उस दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी करने का आरोप लगाया गया था।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायगढ़ नगर निगम में सोमवार (10 जनवरी 2022) को महिला कॉन्ग्रेस (Congress) की जिलाध्यक्ष बरखा सिंह (Barkha Singh) ने अभद्रता करते हुए सभापति के चैंबर में बैठी कॉन्ग्रेस की महिला पार्षद संजना शर्मा के साथ हाथापाई की। इस दौरान सभापति जयंत ठेठवार ने बीच-बचाव करते हुए अन्य पार्षदों के ​साथ मिलकर उन्हें बाहर लेकर गए। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में कॉन्ग्रेस नेता महिला पार्षद के साथ जमकर गाली-गलौच और हाथापाई करती हुई नजर आ रही हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नगर निगम का दस्ता महिला पार्षद संजना शर्मा के वार्ड में अतिक्रमण हटाने के लिए पहुँचा था। पार्षद ने इसका विरोध किया और कहा कि निगम को पहले नोटिस देना चाहिए था। उन्होंने कहा था कि अगर निगम तोड़ने का काम कर रहा है तो सभी पर कार्रवाई करे। उन्होंने नगर निगम पहुँचकर सभापति को इस मामले से अवगत कराया। उसी बीच बरखा सिंह गुस्से में सभापति के चैंबर में पहुँची और पार्षद संजना शर्मा से गाली-गलौज शुरू करना शुरू कर दिया। यही नहीं, उन्होंने पार्षद के साथ हाथापाई भी की।

इस पर बरखा सिंह का कहना है कि पार्षद संजना शर्मा ने उनके नाम की शिकायत की थी, लेकिन जहाँ निगम की टीम तोड़फोड़ के लिए गई थी वहाँ उनका कोई घर नहीं बन रहा, फिर भी संजना शर्मा ने उनका घर तोड़ने के लिए शिकायत की थी। दोनों के बीच विरोध को लेकर बरखा सिंह ने कहा, “मैं पार्षद की दावेदारी थी, लेकिन पार्षद का टिकट उनको मिला और संगठन ने मुझे जिलाध्यक्ष बनाया। शायद इसीलिए उनके मन कुछ मनमुटाव है। मेरे मन में नहीं है, लेकिन उनके मन में है।”

वहीं, पार्षद संजना शर्मा का कहना है कि जहाँ अतिक्रमण तोड़ा जा रहा था उसके आगे बरखा सिंह का मकान भी बन रहा है, लेकिन उसको लेकर उन्होंने कुछ नहीं कहा था। इसके बावजूद वह चैंबर में घुसकर गाली-गलौज करने लगीं। निगम के सभापति ठेठवार ने बताया कि निगम की टीम पार्षद संजना शर्मा के वार्ड में गई थी और उन्होंने एकरूपता के कार्य करने के लिए कहा था।

दरअसल, बरखा सिंह को महिला कॉन्ग्रेस का जिला अध्यक्ष बनाए जाने के कई लोगों ने इसका विरोध किया था, जिनमें संजना शर्मा भी शामिल थीं। उस दौरान कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी कर बरखा सिंह को संगठन में जिम्मेदारी देने का आरोप लगा था।

इस घटना के बाद से सभापति सहित कई पार्षद कॉन्ग्रेस जिलाध्यक्ष के विरोध में आ गए हैं। कॉन्ग्रेस के 22 पार्षदों ने सभापति से कहा है कि अगर बरखा के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो वे सभी अपना इस्तीफा दे देंगे। इसके बाद देर शाम सभी पार्षदों ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष अनिल शुक्ला को लिखित शिकायत कर महिला जिलाध्यक्ष पर कार्रवाई करने और उन्हें बर्खास्त करने की माँग की।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -