Wednesday, July 17, 2024
Homeराजनीति'...कॉन्ग्रेस मरवा डालेगी कम से कम 5000 मुसलमान': AIUDF विधायक अमीनुल इस्लाम ने लगाया...

‘…कॉन्ग्रेस मरवा डालेगी कम से कम 5000 मुसलमान’: AIUDF विधायक अमीनुल इस्लाम ने लगाया आरोप, कहा- पहले भी करवाए मुस्लिमों के नरसंहार

विधायक अमीनुल ने आरोप लगाया कि एक बार कॉन्ग्रेस 5 साल तक सत्ता से बेदखली के बाद वापस आई थी तो उसने 1000 मुस्लिमों की हत्या करवाई थी... सत्ता में दोबारा आने के बाद कॉन्ग्रेस पार्टी कम से कम 5000 मुस्लिमों का कत्ल करवाएगी।

असम के विधायक अमीनुल इस्लाम ने दावा किया है कि सत्ता में दोबारा आने के बाद कॉन्ग्रेस पार्टी कम से कम 5000 मुस्लिमों का कत्ल करवाएगी। अमीनुल इस्लाम के मुताबिक ऐसा कॉन्ग्रेस पार्टी हिन्दू वोट बैंक वापस पाने के लिए करेगी। अमीनुल इस्लाम ढिंग विधानसभा से AIUDF (ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट) पार्टी से विधायक हैं। इस पार्टी के मुखिया सांसद बदरुद्दीन अजमल हैं।

विधायक अमीनुल इस्लाम ने यह बयान असम के बारपेटा जिले में रैली के दौरान दिया। उन्होंने कहा, “कॉन्ग्रेस पार्टी 2 बार से सत्ता से बाहर है। यदि वे सत्ता में वापस आएँगे तो हिंदू वोट बैंक वापस पाने के लिए कम से कम 5000 मुसलमानों को मार डालेंगे।”

अमीनुल ने यह भी आरोप लगाया कि एक बार कॉन्ग्रेस 5 साल तक सत्ता से बेदखली के बाद वापस आई थी तो उसने 1000 मुस्लिमों की हत्या करवाई थी। अमीनुल का दावा है कि ऐसा कॉन्ग्रेस खुद को मुस्लिम विरोधी पार्टी साबित करने के लिए करती है, जिस से राष्ट्रवादी उसे गले लगा लें।

अपने भाषण में MLA अमीनुल ने देश में हुई कई नरसंहारों का भी जिक्र किया और उसका जिम्मेदार कॉन्ग्रेस को बताया। ये नरसंहार साल 1979, 1983, 1993, 2002, 2008 और 2014 के थे। इन वर्षों में हुई हिंसा को नरसंहार बताते हुए अमीनुल ने कहा कि जब कॉन्ग्रेस सत्ता में थी, तब सैकड़ों मुसलमानों का क़त्ल करवाया।

इस जनसभा में AIUDF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल सहित कई अन्य नेता मौजूद थे। विधायक अमीनुल ने 40 वर्षों के इतिहास का जिक्र करते हुए कहा कि कॉन्ग्रेस खुद को मुस्लिम विरोधी पार्टी बताते हुए राष्ट्रवादियों को खुश करने के लिए मुस्लिमों की हत्या करवाते आई है। कॉन्ग्रेस शासन में मुस्लिमों को असुरक्षित बताती हुई इस जनसभा में बारपेटा जिले के कायाकुची और धुबरी संसदीय क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं की मौजूदगी थी।

कॉन्ग्रेस का पलटवार

AIUDF विधायक अमीनुल इस्लाम के बयान पर कॉन्ग्रेस पार्टी ने पलटवार किया है। कॉन्ग्रेस ने अमीनुल इस्लाम को मुस्लिमों का असल दुश्मन कहने के साथ भाजपा और RSS का एजेंट बताया है।

कॉन्ग्रेस नेता देबब्रत सैकिया ने सफाई देते हुए कहा कि साल 1983 के नेली नरसंहार के दौरान असम में राष्ट्रपति शासन था और तब कॉन्ग्रेस सत्ता में नहीं थी। देबब्रत ने इस नरसंहार का आरोप भाजपा पर लगाया। कॉन्ग्रेस नेता ने कहा कि AIUDF के अंदर एकजुटता नहीं है। उनका दावा है कि AIUDF के एक विधायक कॉन्ग्रेस के खिलाफ बयान दे रहे जबकि दूसरे विधायक गठबंधन की वकालत कर रहे।

कॉन्ग्रेस एक वायरल ऑडियो के आधार पर यह बताना चाहती है कि AIUDF पार्टी उनसे गठबंधन करना चाहती है। हालाँकि एआईयूडीएफ विधायक ने इसका खंडन किया है और दावा किया कि वायरल ऑडियो में किसी ने उनकी आवाज की नकल की है।

बताते चलें कि AIUDF ने I.N.D.I.A. के समर्थन का एलान किया है और उसमें शामिल होने की उम्मीद भी जताई है। हालाँकि हाल ही में घोषित I.N.D.I.A. में ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट को जगह नहीं दी गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -