Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिइधर राहुल गाँधी से ED पूछताछ, उधर सड़क पर रोने-चिल्लाने लगी अलका लांबा: कहा-...

इधर राहुल गाँधी से ED पूछताछ, उधर सड़क पर रोने-चिल्लाने लगी अलका लांबा: कहा- मेरी गर्दन तोड़ने… देखिए Video

पूर्व विधायक अलका लंबा ने पुलिसकर्मियों को धक्का देना शुरू कर दिया और कहने लगीं कि वो अपनी गर्दन बचाने के लिए ऐसा कर रही हैं, लेकिन इसे दिखाया जाएगा कि अलका लांबा ने वर्दी पर हाथ डाल दिया।

जहाँ एक तरफ ED (प्रवर्तन निदेशालय) कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी से लगातार 5वें दिन ‘नेशनल हेराल्ड’ में घोटाले को लेकर पूछताछ कर रही है, वहीं दूसरी तरफ देश भर में कॉन्ग्रेस पार्टी के नेता-कार्यकर्ता इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी क्रम में अलका लांबा का वीडियो सामने आया है, जहाँ उन्हें विरोध प्रदर्शन के दौरान अजीबोगरीब हरकतें करते हुए देखा जा सकता है। एक बार को तो वो जमीन पर ही लेट गईं।

इस दौरान आसपास मौजूद पुलिसकर्मियों से हाथ जोड़ कर जमीन पर बैठीं अलका लांबा कहती हैं, “भारत माता की जय! हाथ बँधे हुए हैं। जय जवाब, जय किसान। नहीं करने दे रहे हैं। कौन से संविधान या कानून में ये लिखा हुआ है? कैसी ट्रेनंग इन्हें दी गई है? जब अग्निपथ में 4 साल की ट्रेनिंग देकर बाहर हथियार देकर भेजोगे ना, ऐसे ही गर्दनें तोड़ेंगे। निहत्थों की गर्दनें तोड़ते हैं। मेरी भी गर्दन टूटेगी।” इस दौरान वो पुलिस वालों की तरफ इशारा कर रही थीं।

इतना कहते-कहते अचानक पूर्व विधायक अलका लंबा ने पुलिसकर्मियों को धक्का देना शुरू कर दिया और कहने लगीं कि वो अपनी गर्दन बचाने के लिए ऐसा कर रही हैं, लेकिन इसे दिखाया जाएगा कि अलका लांबा ने वर्दी पर हाथ डाल दिया। इस दौरान वो जमीन पर लेट कर नारेबाजी करती रहीं। फिर चिल्लाते और रोते हुए उन्होंने कहा कि मीडिया देख रहा है, वो अपनी गर्दन को बचाने के लिए पुलिस का हाथ पकड़ रही हैं, तो दिखाया जाएगा कि उन्होंने वर्दी का हाथ पकड़ लिया।

उन्होंने दावा किया कि पुलिसकर्मी ने उनकी गर्दन को तोड़ने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा, “इनको बोलो कि मत करें। निहत्थी और अकेली है। यहाँ सब खड़े हैं। मेरे से कोई खतरा है? मेरे हाथ में बम है। बंदूक है? मैंने AK-47 रखी है? मैं सिर्फ बैठी हूँ। गाँधी के देश में…” इस पर महिला पुलिसकर्मियों ने कहा कि वो भी निहत्थी हैं। अलका लंबा इसके बाद जमीन पर लेट कर ‘भारत माता की जय’ और ”जय जवान, जय किसान’ का नारा लगाती रहीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -