Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीतिपार्टी की हार बर्दाश्त नहीं कर पाए कॉन्ग्रेस जिलाध्यक्ष, मतगणना केंद्र पर ही हार्ट...

पार्टी की हार बर्दाश्त नहीं कर पाए कॉन्ग्रेस जिलाध्यक्ष, मतगणना केंद्र पर ही हार्ट अटैक से हुई मौत

मतगणना केंद्र पर नतीजे देख कर वह गश खाकर कुर्सियों पर गिर पड़े। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। ऐसा कहा जा रहा है कि वो कॉन्ग्रेस की हार का गम सहन नहीं कर पाए और उनको दिल का दौरा पड़ गया।

मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में एक मतगणना केंद्र पर सीहोर जिला कॉन्ग्रेस अध्यक्ष रतन सिंह ठाकुर की हार्ट अटैक से मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, रतन सिंह ठाकुर मतगणना केंद्र पर वोटों की गिनती देखने पहुँचे थे, लेकिन अचानक वो बेहोश होकर गिर पड़े। वहाँ पर मौजूद लोगों ने बताया कि अपने दोस्तों के साथ मतगणना केंद्र पर पहुँचे रतन सिंह नतीजे देखते हुए गश खाकर कुर्सियों पर गिर पड़े। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। ऐसा कहा जा रहा है कि वो कॉन्ग्रेस की हार का गम सहन नहीं कर पाए और उनको दिल का दौरा पड़ गया।

देशभर में लोकसभा चुनाव की काउंटिंग चल रही है। रुझानों में बीजेपी 300 से अधिक के का आँकड़ा पार करती हुई नजर आ रही है। कॉन्ग्रेस के कई दिग्गज नेता हारते हुए दिखाई दे रहे हैं। मध्य प्रदेश में भी भाजपा बड़ी जीत की ओर अग्रसर है। यहाँ की 29 लोकसभा सीटों में से भाजपा 28 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि कॉन्ग्रेस को एक पर बढ़त मिलती हुई दिखाई दे रही है। भोपाल से भाजपा की साध्वी प्रज्ञा सिंह कॉन्ग्रेस के दिग्विजय सिंह से 69 हजार से अधिक मतों से बढ़त बनाई हुई हैं, जबकि गुना लोकसभा सीट से कॉन्ग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा के केपी यादव से 50 हजार से अधिक वोटों से पीछे चल रहे हैं।

गौरतलब है कि, साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश में भाजपा ने बड़ी बाजी मारी थी। यहाँ की 29 लोकसभा सीटों में से 27 सीटों पर भाजपा ने कब्जा किया था, जबकि कॉन्ग्रेस केवल 2 सीटें ही जीत पाई थी। लेकिन इस बार कॉन्ग्रेस की बची हुई सीटें भी भाजपा की झोली में जाती हुए दिखाई दे रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -