Monday, July 15, 2024
Homeराजनीति'बाहर निकलने के बाद देख लूँगा': तिहाड़ के अधिकारियों का दावा- धमका रहे हैं...

‘बाहर निकलने के बाद देख लूँगा’: तिहाड़ के अधिकारियों का दावा- धमका रहे हैं सत्येंद्र जैन, VIP ट्रीटमेंट बंद होने से नाराज हैं AAP के मंत्री

"मुझे पता है कि यह सब मोटे ने करवाया है, जो लॉ ऑफिसर है। मैं बाहर निकलने के बाद इस जेल से सीसीटीवी फुटेज माँगूँगा और इस लॉ ऑफिसर और जेल नंबर 7 के प्रभारी अधीक्षक राजेश चौधरी को बाहर निकलने के बाद देख लूँगा और इसे नौकरी करना सिखा दूँगा।"

दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद सत्येंद्र जैन फिर से विवादों में हैं। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने उन पर धमकी देने का आरोप लगाया है। दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार के मंत्री जैन मनी लॉन्ड्रिंग केस में जेल में बंद हैं। तिहाड़ के अधिकारियों के आरोप से पहले महाठग सुकेश चंद्रशेखर ने उन पर पैसे लेने का आरोप लगाया था। इतना ही नहीं जेल में वीआईपी सुविधा लेने के भी उनके वीडियो सामने आए थे।

धमकी दिए जाने को लेकर तिहाड़ के अधिकारियों ने जेल महानिदेशक (Director General Prisons) को लिखित शिकायत दी है। शिकायत के अनुसार वीआईपी ट्रीटमेंट की बात सामने आने और सुविधाएं वापस लिए जाने से जैन नाराज हैं। उन्होंने जेल ऑफिसर्स को गंभीर परिणाम भुगतने और बाहर निकलकर देख लेने की धमकी दी है। रिपोर्ट्स के अनुसार तिहाड़ जेल के अपर महानिरीक्षक, तिहाड़ जेल नंबर 7 के अधीक्षक, उपाधीक्षक, सहायक अधीक्षक और विधि अधिकारी ने डीजी (जेल) को सत्येंद्र जैन द्वारा धमकाए जाने की शिकायत दी है।

शिकायत में सहायक अधीक्षक जयदेव और जेल उपाधीक्षक प्रवीण कुमार ने 8 दिसंबर 2022 की घटना का जिक्र किया है। इसके अनुसार जब वे सत्येंद्र जैन को कारण बताओ नोटिस देने गए थे तो उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि यह सब मोटे ने करवाया है, जो लॉ ऑफिसर है। मैं बाहर निकलने के बाद इस जेल से सीसीटीवी फुटेज माँगूँगा और इस लॉ ऑफिसर और जेल नंबर 7 के प्रभारी अधीक्षक राजेश चौधरी को बाहर निकलने के बाद देख लूँगा और इसे नौकरी करना सिखा दूँगा।”

लॉ ऑफिसर राजेश चौधरी ने भी अपनी शिकायत में कहा है कि जब उन्होंने सत्येंद्र जैन को पूछताछ के लिए चैंबर में बुलाया तो उन्होंने धमकी दी। चौधरी ने 25 नवंबर 2022 की घटना का जिक्र किया है। शिकायत के अनुसार जब जैन चैंबर में पहुँचे तो उन्होंने कहा, “ये सारा मामला राजनीतिक है। मैं जब भी जेल से बाहर निकलूँगा तो उन सारे सरकारी कर्मचारियों को देख लूँगा, जिन्होंने मेरे खिलाफ कुछ भी किया है। चाहे नौकरी कर रहा हो या रिटायर्ड सबको देख लूँगा।”

शिकायत में राजेश चौधरी ने कहा है कि शुरुआत में उन्हें लगा कि जैन निराशा और हताशा में धमकियाँ दे रहे हैं। लेकिन जब जेल के दूसरे अधिकारियों को भी ऐसी धमकी मिली तो उन्हें डर है कि बाहर निकलने के बाद जैन बदले की भावना से कार्रवाई कर सकते हैं। शिकायतकर्ताओं ने अपील की है कि सत्येंद्र जैन को किसी अन्य जेल में शिफ्ट किया जाए।

उधर पूरे मामले को लेकर दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने सत्येंद्र जैन के खिलाफ लग रहे सभी आरोपों को झूठा करार दिया है। आप का कहना है कि हाई कोर्ट में जमानत अर्जी पर सुनवाई को प्रभावित करने के लिए भाजपा के इशारे पर झूठी शिकायत दर्ज कराई गई है। उल्लेखनीय है कि जैन के जो वीडियो सामने आए थे उसमें वे जेल में मसाज लेते, बाहर के खाने की सुविधा का लाभ उठाते नजर आए थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जो प्रधानमंत्री है खालिस्तानी आतंकियों का ‘हमदर्द’, उसने अब दिलजीत दोसांझ को दिया ‘सरप्राइज’: PM ट्रुडो से मिलकर बोले भारतीय सिंगर- विविधता कनाडा की...

कनाडा पीएम ट्रुडो जो हमेशा से खालिस्तानी आतंकियों के 'हमदर्द' बनकर रहे उन्होंने हाल में दिलजीत दोसांझ को कनाडा में 'सरप्राइज' दिया।

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -