Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजदिल्ली दंगों में 'अपनी' महिलाओं के लिए निर्देश: खौलता तेल, एसिड की बोतलें, पेट्रोल...

दिल्ली दंगों में ‘अपनी’ महिलाओं के लिए निर्देश: खौलता तेल, एसिड की बोतलें, पेट्रोल जमा करो… चार्जशीट दायर

"ये पढ़िए - दिल्ली पुलिस की चार्जशीट पिंजरा तोड़ की लड़कियाँ दंगो से पहले खास इलाकों में कैसे मैसेज कर रही हैं - घरों में तेजाब, खौलता तेल रखिए - छतों पर ईंट और पत्थर रखिए। ताहिर हुसैन ने 22 फरवरी को पिस्टल इश्यू करवाई थी, दंगो की भयानक तैयारी की गई थी।"

दिल्ली में हिन्दू विरोधी दंगों के मामले में क्राइम ब्रांच ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दायर कर दी है। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और पार्षद ताहिर हुसैन पर ना सिर्फ दंगों को फंड करने का आरोप लगाया है बल्कि उसे इन दंगों का मास्टरमाइंड बताया है।

चार्जशीट में पार्षद ताहिर हुसैन समेत 15 लोगों को आरोपित बताया गया है। पुलिस ने एक हजार तीस पन्नों के चार्जशीट में पार्षद ताहिर हुसैन के भाई शाह आलम को भी आरोपित बनाया है। ताहिर हुसैन ने लोगों से बात की थी और उसी वक्त तय किया गया था कि जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दिल्ली आएँगे, तब दिल्ली में हिंसा कराई जाएगी। हालाँकि, पुलिस ने इस चार्जशीट में उमर खालिद को आरोपित नहीं बनाया है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, ताहिर हुसैन के साथ, उसके भाई शाह आलम सहित 15 और अभियुक्तों को उन दंगों में शामिल होने के लिए नामित किया गया है, जिसमें 53 लोगों ने अपनी जान गँवाई। ताहिर हुसैन, शाह आलम और गुलफाम के भाइयों को कथित तौर पर आगजनी के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है।

पुलिस के अनुसार, हिंसा कराने के लिए ताहिर ने एक करोड़ 30 लाख रुपए खर्च किए थे। दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में कहा कि हिंसा से पहले आरोपित ताहिर हुसैन ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरकिता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल लोगों से बातचीत की थी। ताहिर ने जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद से भी बात की थी और सब कुछ उसके नियंत्रण में था।

पुलिस ने अपनी चार्जशीट में कहा है कि हिंसा के वक्त आरोपित ताहिर हुसैन अपनी छत पर था।

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने भी ट्वीट में कुछ पन्ने साझा करते हुए लिखा है – “ये पढ़िए – दिल्ली पुलिस की चार्जशीट पिंजरा तोड़ की लड़कियाँ दंगो से पहले खास इलाकों में कैसे मैसेज कर रही हैं – घरों में तेजाब, खौलता तेल रखिए – छतों पर ईंट और पत्थर रखिए। ताहिर हुसैन ने 22 फरवरी को पिस्टल इश्यू करवाई थी, दंगो की भयानक तैयारी की गई थी।”

इस चार्जशीट में जिक्र किया गया है कि आरोपितों के मोबाइल में व्हाट्सऐप द्वारा भेजे गए कुछ संदेश, जिनसे उनके दिल्ली दंगों में हाथ होने का प्रमाण मिलता है, इस प्रकार थे –

  1. घर में गर्म खौलते हुए पानी और तेल का इंतजाम करें।
  2. बिल्डिंग की सीढ़ियों पर तेल, शैंपू या सर्फ डाल दें।
  3. लाल मिर्च गर्म पानी में या पाउडर के रूप में प्रयोग करें।
  4. दरवाजों को मजबूत करें, जल्द से जल्द ग्रिल या लोहे के गेट लगवाएँ।
  5. तेजाब की बोतलें घर में रखें।
  6. बालकनी व छत पर ईंट और पत्थर रखें।
  7. कार व बाइक से पेट्रोल निकाल कर रखें।
  8. लोहे के दरवाजों में स्विच से करंट का इस्तेमाल करें।
  9. एक इमारत से दूसरी इमारत में जाने के लिए रास्ते का इंतजाम करें।
  10. बिल्डिंग के सारे मर्द हजरात एक साथ इमारत ना छोडें, कुछ लोग महिला सुरक्षा के लिए रुकें।

ताहिर हुसैन पर आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या समेत दिल्ली में हिंसा फैलाने का आरोप है। इसके साथ ही यह भी आरोप है कि ताहिर हुसैन के घर की छत से ही लोगों पर हमला किया जा रहा था।

IB अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या

चाँदबाग़ वही इलाका है, जहाँ आईबी अधिकारी अंकित शर्मा एक नाले में मृत पाए गए थे और यह क्षेत्र दंगों में सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। अंकित शर्मा के परिवार ने और प्रत्यक्षदर्शियों ने ताहिर हुसैन पर सीधे तौर पर इस निर्मम हत्या का आरोप लगाया था।

अंकित के पिता रविन्द्र शर्मा ने प्रशासन से तारिक हुसैन की आपराधिक रिकॉर्ड की जाँच कराने का आह्वान करते हुए कहा था कि ताहिर हुसैन ने अपने आवास पर गुंडों को इकट्ठा किया था। ये सभी ताहिर की छत से लगातार फायरिंग कर रहे थे और नीचे खड़े लोगों पर छत से पेट्रोल बम भी फेंक रहे थे, जिससे इलाके में रहने वाले लोगों में तनाव और डर का माहौल पैदा हुआ। 

दिल्ली में हुए हिन्दू विरोधी दंगों के दौरान ताहिर हुसैन की छत से ईंट, पत्थर, तेजाब के पैकेट, डंडे और अन्य हथियार बरामद हुए थे। ताहिर के घर के नीचे से पहले से लगाया गया गुलेल भी मिला था। इसके साथ ही पेट्रोल बम और बोतल भी बरामद किए गए थे।

एक अन्य चार्जशीट जाफ़राबाद इलाके में हुए दंगों के सिलसिले में दायर की गई थी। पिंजरा तोड़ के कार्यकर्ता पहले से ही इन इलाकों में दंगे भड़काने के मामले में जाँच का सामना कर रहे हैं। हाल ही में, शुक्रवार को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने नताशा नरवाल को कड़े गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) के तहत गिरफ्तार किया और उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के कर्मचारी अंकित शर्मा की निर्मम हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया पूर्व AAP नेता ताहिर हुसैन पूर्वोत्तर दिल्ली दंगों में मुख्य अभियुक्त पाया गया था। दिल्ली के दंगों में उनकी भूमिका के उजागर होने के बाद, सीएए विरोधी प्रदर्शनों के साथ उनके संबंध भी बाद में सामने आए थे।

उल्लखनीय है कि चश्मदीदों के दिल्ली दंगों के दौरान अनुसार ताहिर हुसैन की इमारत में करीब तीन हजार दंगाई जमा थे जिन्होंने हिंदुओं को निशाना बनाया।  दंगों में अपनी भूमिका सामने आने के बाद ताहिर फरार हो गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोज के ₹300, शराब के साथ शबाब भी: देह व्यापार का अड्डा बना टिकरी बॉर्डर, टेंट में नंगे पड़े रहते हैं ‘किसान’

किसान आंदोलन के नाम पर फर्जी किसान टीकरी बॉर्डर शराब और लड़कियों के साथ झाड़ियों के पीछे अय्याशी करते देखे जा सकते हैं।

‘तब तक आराम नहीं… जब तक ओलंपिक स्वर्ण नहीं’ – लवलिना बोरगोहेन ने चोट लगने पर कहा, अब मंजिल की ओर

टोक्यो ओलंपिक में लवलीना बोरगोहेन ने देश के लिए दूसरा मेडल पक्का कर लिया है। लवलीना ने क्वाटर फाइनल में ने चीनी ताइपे की बॉक्सर को हरा...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,980FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe