Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीतिगुजरात ने नया इतिहास बनाया, हिमाचल प्रदेश ने पुराना इतिहास दोहराया: दोनों राज्यों में...

गुजरात ने नया इतिहास बनाया, हिमाचल प्रदेश ने पुराना इतिहास दोहराया: दोनों राज्यों में किसको कितनी सीटें, यहाँ देखें फाइनल आँकड़े

रिपोर्ट के मुताबिक, कॉन्ग्रेस पार्टी ने अपने विधायकों से जीत का प्रमाणपत्र लेकर चंडीगढ़ चले जाने का निर्देश दिया है। वहाँ से कॉन्ग्रेस पार्टी अपने विधायकों को राजस्थान या छत्तीसगढ़ में शिफ्ट कर सकती है। दूसरी तरफ गुजरात में भाजपा का शपथग्रहण समारोह 12 दिसंबर दोपहर 2 बजे तय किया गया है।

गुजरात (Gujarat) और हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के नतीजे सामने आ चुके हैं। हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की कुल 68 और गुजरात में 182 विधानसभा सीटें हैं। वोटों की गिनती सुबह 8 बजे से शुरू हो गई थी और अब दोनों राज्यों की तस्वीर साफ हो गई है। गुजरात में भाजपा प्रचंड बहुमत का रिकॉर्ड बना रही है तो हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस की सरकार बन रही है।

गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे

गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने इतिहास रच दिया है। पार्टी को 156 सीटों पर जीत हासिल हुई है। 1 करोड़ 66 लाख मतदाताओं का वोट पाकर बीजेपी ने 52.50 प्रतिशत वोट शेयर हासिल किया है।

साभार चुनाव आयोग

पीएम ने गुजरात की जनता को दी बधाई

गुजरात के गठन के बाद से सबसे अधिक सीटें लाने के रिकॉर्ड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुजरात प्रदेश के लोगों को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया,

“धन्यवाद गुजरात। अभूतपूर्व चुनाव परिणामों को देखकर मैं भावनाओं से बहुत अधिक अभिभूत हूँ। लोगों ने विकास की राजनीति को आशीर्वाद दिया और इच्छा व्यक्त की है कि यह गति और तेजी से चलती रहे। मैं गुजरात की जन शक्ति को नमन करता हूँ।”

उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ताओं का भी हौसला बढ़ाया। पीएम मोदी ने कहा, “गुजरात बीजेपी के सभी मेहनती कार्यकर्ताओं से मैं कहना चाहता हूँ कि आप चैंपियन हैं। ये ऐतिहासिक जीत आप लोगों के बिना संभव नहीं थी, जो हमारी पार्टी की असली शक्ति हैं।”

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में सत्ता बदलने की परंपरा कायम है। हिमाचल के सभी 68 विधानसभा सीटों पर नतीजों का ऐलान हो चुका है। नतीजों में 40 पर कॉन्ग्रेस और 25 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की है। यहाँ भी तीन निर्दलीय उम्मीदवारों को जीत मिली है। हिमाचल में 2017 के मुकाबले भाजपा को 19 सीटों का नुकसान हुआ है।

साभार चुनाव आयोग

चुनाव आयोग की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक, हिमाचल में भाजपा का वोट शेयर 43 प्रतिशत रहा, जबकि जीत हासिल करने वाली कॉन्ग्रेस का वोट शेयर 43.91 प्रतिशत रहा।

कॉन्ग्रेस को विधायक बिकने का डर

आम आदमी पार्टी (AAP) पहाड़ में खाता भी नहीं खोल पाई है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने नतीजों के बाद इस्तीफा दे दिया है। इधर, कॉन्ग्रेस में मुख्यमंत्री चुनने के लिए मंथन जारी है। चुनाव जीतने के बाद भी कॉन्ग्रेस किसी तरह का जोखिम नहीं लेना चाहती।

रिपोर्ट के मुताबिक, कॉन्ग्रेस पार्टी ने अपने विधायकों से जीत का प्रमाणपत्र लेकर चंडीगढ़ चले जाने का निर्देश दिया है। वहाँ से कॉन्ग्रेस पार्टी अपने विधायकों को राजस्थान या छत्तीसगढ़ में शिफ्ट कर सकती है। दूसरी तरफ गुजरात में भाजपा का शपथग्रहण समारोह 12 दिसंबर दोपहर 2 बजे तय किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के बाद अब तमिलनाडु में YouTuber अजीत भारती के खिलाफ FIR, कॉन्ग्रेस नेता सैमुअल MC ने की शिकायत: राहुल गाँधी से जुड़ा है...

"कर्नाटक उच्च न्यायालय ने स्थगन का आदेश दे रखा है, उस पर कथित घटना और केस पर स्टे के बाद, वापस दूसरे राज्य में केस करना क्या बताता है? "

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -