Monday, September 21, 2020
Home राजनीति 'बीजेपी की वफादार फेसबुक' ने जब BJP समर्थक कटेंट को किया सेंसर: पेज एडमिन्स...

‘बीजेपी की वफादार फेसबुक’ ने जब BJP समर्थक कटेंट को किया सेंसर: पेज एडमिन्स ने बताया क्या-क्या झेला

वाम-उदारवादी वर्ग द्वारा लगाए जाने वाले आरोप शुरू से ही बेबुनियाद नजर आते हैं। यह भी सम्भव है कि फेसबुक ने अब इन लिबरल्स की शर्तों पर खरा उतरना बंद कर दिया हो, जिस कारण फेसबुक के खिलाफ यह प्रायोजित अभियान छेड़ा जा रहा है।

फेसबुक को भाजपा समर्थक बताने के इरादे से एक प्रोपेगेंडा बड़े स्तर पर शुरू किया गया है। हालाँकि, ये सभी आरोप पहली नजर में ही बेबुनियाद और हास्यास्पद नजर आते हैं। वाम-उदारवादियों ने फेसबुक को अनइनस्टॉल करने की इस मुहिम में तथ्य और तर्कों को सबसे पहले हाशिए पर रख दिया है।

अमेरिकी समाचार पत्र ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ द्वारा फेसबुक के भाजपा समर्थक होने के आरोप लगाते लेख प्रकाशित होने के बाद एक नई किस्म की बहस ने जन्म ले लिया है। फेसबुक के भाजपा समर्थक होने के सभी आरोप बेबुनियाद हैं, क्योंकि फेसबुक की कम्युनिटी गाइडलाइन्स भी हमेशा से ही वामपंथियों के समर्थन में ही रही है।

फेसबुक यूजर की ‘लैंगिक पहचान’, जो कि वामपंथी राजनीतिक विचारधारा की गहराई में समाया हुआ शब्द है, को बेहद वास्तविक अवधारणाओं, जैसे कि नस्ल, जातीयता, धार्मिक पहचान और ऐसी अन्य पहचान के साथ रखता है।

यदि कोई फेसबुक यूजर इस अवधारणा के खिलाफ मुखर है कि एक पुरुष, एक महिला हो सकती है, यदि वह ऐसा होने का दावा करता है, तो यूजर पर ‘हेट स्पीच’ का आरोप लगाया जा सकता है और उसका अकाउंट निलंबित किया जा सकता है। ऐसे में भी हमें यह विश्वास करना होगा कि इस तरह के एक संगठन ने अचानक हिंदुत्ववादी पार्टी में दिलचस्पी दिखाई है।

हेटस्पीच के सम्बन्ध में फेसबुक गाइडलाइंस
- विज्ञापन -

ऐसे भी कई प्रमाण हैं जब देखा गया कि फेसबुक भाजपा के पक्ष में नहीं हो सकता है, क्योंकि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले कुछ लोगों द्वारा अभियान चलाया गया और भाजपा का समर्थन करने वाले कुछ फेमस फेसबुक पेजों को बिना किसी स्पष्ट कारण के सस्पेंड करवाया गया।

उदाहरण के लिए, अप्रैल 2019 में फेसबुक द्वारा INC का समर्थन करने वाले 687 फेसबुक पेजों को निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद भाजपा का समर्थन करने वाले पेजों को भी फेसबुक से हटा दिया गया, लेकिन ख़ास बात यह थी कि भाजपा के ये पेज इंडियन नेशनल कॉन्ग्रेस के हटाए गए पेजों के मुकाबले कहीं अधिक फेमस और ऑडियंस वाले थे।

भाजपा के समर्थन में लिखने वाले ऐसे ही फेसबुक पेजों में से एक ‘चौपाल’ पेज था, जिसके कि वर्तमान में फेसबुक पर करीब 10.8 मिलियन ‘लाइक्स’ हैं। इन पेजों को फेसबुक द्वारा मिलने वाला पैसा भी स्थगित कर दिया गया था। ‘चौपाल’ पेज को 90 दिनों में फिर से ‘री-स्टोर’ कर दिए जाने का भी आश्वासन दिया गया था, लेकिन यह नहीं हुआ।

सोशल मीडिया इन्फ़्लुएन्सर विकास पाण्डेय ने ऑपइंडिया से बातचीत में बताया था कि कॉन्ग्रेस का समर्थन करने वाले जिन पेजों को बंद कर दिया गया था, वह भाजपा के बंद कर दिए गए पेजों की तुलना में बेहद छोटे और ख़ास फेमस भी नहीं थे। इसके अलावा, भाजपा समर्थक पेजों को बंद करने का कारण यह बताया गया कि इन्हें चलाने वाले पेज एडमिन की ‘प्रोफाइल फेक’ थी।

इसी तरह की घटना से ‘द फ्रस्ट्रेटेड इन्डियन’ (The Frustrated Indian) नाम के फेसबुक पेज को भी रूबरू होना पड़ा। IANS समाचार एजेंसी द्वारा प्रकाशित खबर को पब्लिश करने पर बूम लाइव द्वारा उसे फेक बता दिया गया। यह समाचार एजेंसी द्वारा प्रकाशित एक सिंडिकेट न्यूज़ थी। जब इस पेज के एडमिन ने फेसबुक से सम्पर्क करने की कोशिश की तो वह विफल रहा।

इसी तरह से नेशन वांट्स नमो (Nation Wants NaMo) नाम के एक पेज को आम चुनावों से ठीक पहले बिना किसी कारण और चेतावनी के ही हटा दिया गया था।

इसी तरह से ‘पॉलिटिकल कीड़ा’ नाम के पेज चलाने वाले अंकुर सिंह ने ऑपइंडिया को बताया कि फेसबुक की गाइडलाइन्स या तो स्पष्ट नहीं या फिर वह इसे बेहद अस्पष्ट रखते हैं ताकि मनमुताबिक पेजों को हटा दिया जाए। उनका कहना है कि उनके MEME और चुटकुले फैक्टचेक कर दिए जाते हैं। इसके साथ ही, ऐसे वीडियो, जो कॉन्ग्रेस पार्टी को निशाना बनाते हैं, उन्हें वायरल होने से पहले ही फेसबुक से हटा दिया जाता है।

अंकुर सिंह ने कहा कि पेजों को बिना किसी सूचना और जानकारी के विशेष तरीके से हटा दिया जाता है और जब कोई अपील की जाती है, तो उन्हें किसी तरह की कोई प्रतिक्रिया देने के बजाए ऑटो-आंसर द्वारा जवाब दिया जाता है।

फेसबुक से ‘डोभाल फैन क्लब’, ‘आई सपोर्ट अजीत डोभाल ’, ‘आई सपोर्ट ज़ी न्यूज़’ जैसे बड़े फेन फ़ॉलोविंग वाले पेज, जिनके पास 4 मिलियन से लेकर 1 मिलियन तक की ऑडियंस थी, फेसबुक द्वारा सेंसर किए गए थे। भाजपा के समर्थक कई अन्य फेसबुक पेज हैं, जो इसी तरह के कुछ ‘हादसों’ का शिकार हुए हैं।

इन तमाम उदाहरणों के बावजूद वाम-उदारवादी वर्ग द्वारा लगाए जाने वाले आरोप शुरू से ही बेबुनियाद नजर आते हैं। यह भी सम्भव है कि फेसबुक ने अब इन लिबरल्स की शर्तों पर खरा उतरना बंद कर दिया हो, जिस कारण फेसबुक के खिलाफ यह प्रायोजित अभियान छेड़ा जा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

K Bhattacharjee
Black Coffee Enthusiast. Post Graduate in Psychology. Bengali.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ठुड्डी के बगल में 1.5 इंच छेद, आँख-नाक से खून; हाथ मुड़े: आखिर दिशा सालियान के साथ क्या हुआ था?

दिशा सालियान की मौत को लेकर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। अब एंबुलेंस ड्राइवर ने उनके शरीर पर गहरे घाव देखने का दावा किया है।

सिर्फ 194 दिन में बिहार के हर गाँव में फास्ट इंटरनेट, जुड़ेगा ऑप्टिकल फाइबर से, बनेगा देश का पहला ऐसा राज्य

गाँवों में टेली-मेडिसिन के द्वारा जनता को बड़े अस्पतालों के अच्छे डॉक्टरों की सलाह भी मिल सकेगी। छात्र तेज गति इंटरनेट उपलब्ध होने से...

कॉलेज-किताबें सब झूठे, असल में जिहादियों की ‘वंडर वुमन’ बनना चाहती थी कोलकाता की तानिया परवीन

22 साल की तानिया परवीन 70 जिहादी ग्रुप्स का हिस्सा थी। पढ़िए, कैसे बनी वह लश्कर आतंकी। कितने खतरनाक थे उसके इरादे।

सपा-बसपा ने 10 साल में दी जितनी नौकरी, उससे ज्यादा योगी सरकार ने 3 साल में दिए

सपा और बसपा ने अपने 5 साल के कार्यकाल में जितनी नौकरियाँ दी, उससे ज्यादा योगी आदित्यनाथ की सरकार 3 साल में दे चुकी है।

सुदर्शन ‘UPSC जिहाद’ मामला: ऑपइंडिया, इंडिक कलेक्टिव ट्रस्ट और UpWord ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की ‘हस्तक्षेप याचिका’

मजहब विशेष के दोषियों को बचाने के लिए मीडिया का एक बड़ा वर्ग कैसे उनके अपराध को कम कर दिखाता है, इसको लेकर ऑपइंडिया ने एक रिपोर्ट तैयार की है।

बिहार में कुछ अच्छा हो, कोई अच्छा काम करे… और वो मोदी से जुड़ा हो तो ‘चुड़ैल मीडिया’ भला क्यों दिखाए?

सुल्तानगंज-कहलगाँव के 60 km के क्षेत्र को “विक्रमशिला गांगेय डॉलफिन सैंक्चुअरी” घोषित किया जा चुका है। इस काम को और एक कदम आगे ले जा कर...

प्रचलित ख़बरें

‘उसने अपने C**k को जबरन मेरी Vagina में डालने की कोशिश की’: पायल घोष ने अनुराग कश्यप पर लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

“अगले दिन उसने मुझे फिर से बुलाया। उन्होंने कहा कि वह मुझसे कुछ चर्चा करना चाहते हैं। मैं उसके यहाँ गई। वह व्हिस्की या स्कॉच पी रहा था। बहुत बदबू आ रही थी। हो सकता है कि वह चरस, गाँजा या ड्रग्स हो, मुझे इसके बारे में कुछ भी पता नहीं है लेकिन मैं बेवकूफ नही हूँ।”

संघी पायल घोष ने जिस थाली में खाया उसी में छेद किया – जया बच्चन

जया बच्चन का कहना है कि अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाकर पायल घोष ने जिस थाली में खाया, उसी में छेद किया है।

व्हिस्की पिलाते हुए… 7 बार न्यूड सीन: अनुराग कश्यप ने कुबरा सैत को सेक्रेड गेम्स में ऐसे किया यूज

पक्के 'फेमिनिस्ट' अनुराग पर 2018 में भी यौन उत्पीड़न तो नहीं लेकिन बार-बार एक ही तरह का सीन (न्यूड सीन करवाने) करवाने का आरोप लग चुका है।

प्रेगनेंसी टेस्ट की तरह कोरोना जाँच: भारत का ₹500 वाला ‘फेलूदा’ 30 मिनट में बताएगा संक्रमण है या नहीं

दिल्ली की टाटा CSIR लैब ने भारत की सबसे सस्ती कोरोना टेस्ट किट विकसित की है। इसका नाम 'फेलूदा' रखा गया है। इससे मात्र 30 मिनट के भीतर संक्रमण का पता चल सकेगा।

कहाँ गायब हुए अकाउंट्स? सोनू सूद की दरियादिली का उठाया फायदा या फिर था प्रोपेगेंडा का हिस्सा

सोशल मीडिया में एक नई चर्चा के तूल पकड़ने के बाद कई यूजर्स सोनू सूद की मंशा सवाल उठा रहे हैं। कुछ ट्विटर अकाउंट्स अचानक गायब होने पर विवाद है।

जया बच्चन का कुत्ता टॉमी, देश के आम लोगों का कुत्ता कुत्ता: बॉलीवुड सितारों की कहानी

जया बच्चन जी के घर में आइना भी होगा। कभी सजते-संवरते उसमें अपनी आँखों से आँखे मिला कर देखिएगा। हो सकता है कुछ शर्म बाकी हो तो वो आँखों में...

नुसरत जहां की फोटो दिखा लुभा रहा था वीडियो चैट ऐप, TMC सांसद के कंप्लेन पर हरकत में आई पुलिस

टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने अपनी तस्वीर के गलत इस्तेमाल को लेकर एक वीडियो चैट ऐप के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है।

रिया का ड्रग्स कनेक्शन छोटा नहीं, दुबई और आतंकी समूहों से जुड़े हैं तार: NCB प्रमुख राकेश अस्थाना

एनसीबी प्रमुख राकेश अस्थाना ने एक इंटरव्यू में कहा है कि रिया के मामले से बड़े ड्रग्स रैकेट का पता चला है कि जिसके लिंक दुबई और आतंकी समूहों से जुड़े हुए हैं।

ठुड्डी के बगल में 1.5 इंच छेद, आँख-नाक से खून; हाथ मुड़े: आखिर दिशा सालियान के साथ क्या हुआ था?

दिशा सालियान की मौत को लेकर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। अब एंबुलेंस ड्राइवर ने उनके शरीर पर गहरे घाव देखने का दावा किया है।

सिर्फ 194 दिन में बिहार के हर गाँव में फास्ट इंटरनेट, जुड़ेगा ऑप्टिकल फाइबर से, बनेगा देश का पहला ऐसा राज्य

गाँवों में टेली-मेडिसिन के द्वारा जनता को बड़े अस्पतालों के अच्छे डॉक्टरों की सलाह भी मिल सकेगी। छात्र तेज गति इंटरनेट उपलब्ध होने से...

जिसे आज ताजमहल कहते हैं, वो शिव मंदिर ‘तेजो महालय’ है: शंकराचार्य ने CM योगी से की ‘दूषित प्रचार’ रोकने की अपील

ओडिशा के पुरी स्थित गोवर्धन मठ के शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती ने ताजमहल को लेकर बड़ा दावा किया है। उनका कहना है कि ये प्राचीन काल में भगवान शिव का मंदिर था और इसका नाम 'तेजो महालय' था।

बिहार को ₹14000+ करोड़ की सौगात: 9 राजमार्ग, PM पैकेज के तहत गंगा नदी पर बनाए जाएँगे 17 पुल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के 45945 गाँवों को ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट सेवाओं से जोड़ने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि गाँव के किसान...

‘गलत साबित हुई तो माफी माँग छोड़ दूँगी ट्विटर’: कंगना ने ट्रोल करने वालों को कहा पप्पू की चंपू सेना

अपने ट्वीट को तोड़-मरोड़कर पेश करने वालों को कंगना रनौत ने चुनौती दी है। उन्होंने कहा है कि यदि यह साबित हो गया कि उन्होंने किसानों को आतंकी कहा था तो वे ट्विटर छोड़ देंगी।

कॉलेज-किताबें सब झूठे, असल में जिहादियों की ‘वंडर वुमन’ बनना चाहती थी कोलकाता की तानिया परवीन

22 साल की तानिया परवीन 70 जिहादी ग्रुप्स का हिस्सा थी। पढ़िए, कैसे बनी वह लश्कर आतंकी। कितने खतरनाक थे उसके इरादे।

सपा-बसपा ने 10 साल में दी जितनी नौकरी, उससे ज्यादा योगी सरकार ने 3 साल में दिए

सपा और बसपा ने अपने 5 साल के कार्यकाल में जितनी नौकरियाँ दी, उससे ज्यादा योगी आदित्यनाथ की सरकार 3 साल में दे चुकी है।

सुदर्शन ‘UPSC जिहाद’ मामला: ऑपइंडिया, इंडिक कलेक्टिव ट्रस्ट और UpWord ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की ‘हस्तक्षेप याचिका’

मजहब विशेष के दोषियों को बचाने के लिए मीडिया का एक बड़ा वर्ग कैसे उनके अपराध को कम कर दिखाता है, इसको लेकर ऑपइंडिया ने एक रिपोर्ट तैयार की है।

हमसे जुड़ें

263,159FansLike
77,972FollowersFollow
322,000SubscribersSubscribe
Advertisements