Wednesday, September 22, 2021
Homeराजनीति'ब्राह्मणों को गंगा से वोल्गा भेजेंगे, वो परदेशी हैं': CM भूपेश बघेल के पिता...

‘ब्राह्मणों को गंगा से वोल्गा भेजेंगे, वो परदेशी हैं’: CM भूपेश बघेल के पिता पर होगी कानूनी कार्रवाई, FIR दर्ज

“एक मुख्यमंत्री होने के नाते मेरी ये ज़िम्मेदारी है कि अलग-अलग समुदायों के बीच सद्भाव बनाए रखा जाए। अगर उन्होंने समाज के खिलाफ कोई बात कही है तो, मुझे इसका दुख है। उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश में एक कार्यक्रम के दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल ने ब्राह्मण समाज को लेकर आपतिजनक टिप्पणी की थी। अब इस मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल के खिलाफ केस दर्ज किया है। पिता के ऊपर केस दर्ज होने पर प्रतिक्रिया देते हुए भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार में कोई भी कानून के ऊपर नहीं है।

सीएम बघेल ने एफआईआर दर्ज होने पर कहा, “एक मुख्यमंत्री होने के नाते मेरी ये ज़िम्मेदारी है कि अलग-अलग समुदायों के बीच सद्भाव बनाए रखा जाए। अगर उन्होंने समाज के खिलाफ कोई बात कही है तो, मुझे इसका दुख है। उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि उनके पिता के द्वारा की गई टिप्पणी से उन्हें भी दुख हुआ है। साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ लोगों द्वारा यह बात कही जा रही है कि नंद कुमार बघेल पर कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी क्योंकि वे उनके पिता हैं। लेकिन वो ये साफ कर देना चाहते हैं कि उनकी सरकार सभी को एक समान दृष्टि से देखती है। उनकी सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं है चाहे मुख्यमंत्री के 86 साल के पिता क्यों नहीं हो।

इसके अलावा भूपेश बघेल ने यह भी कहा कि शुरू से ही उनके पिता के साथ उनके वैचारिक मतभेद रहे हैं और सबको इसके बारे में पता है। हमारे राजनीतिक विचार पूरी तरह से अलग हैं। एक पुत्र के रूप में मैं उनका सम्मान करता हूँ लेकिन एक मुख्यमंत्री के नाते ऐसी गलती को माफ़ नहीं किया जा सकता है जिससे व्यवस्था बिगड़े। साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस द्वारा उचित कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल पिछले दिनों लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल ने ब्राह्मण समाज पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा था, “वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा। हम ब्राह्मणों को गंगा से वोल्गा (रुस की एक नदी) भेजेंगे क्योंकि वो परदेशी हैं। जिस तरह से अंग्रेज लोग आए और चले गए। उसी तरह से ये ब्राह्मण लोग या तो सुधर जाएँ या गंगा से वोल्गा जाने के लिए तैयार हों।”

नंद कुमार बघेल के इन बयानों के खिलाफ रायपुर पुलिस ने धारा 153-A और धारा 505-A के तहत मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने सांप्रदायिक माहौल ख़राब करने और सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। नंद कुमार बघेल के इन बयानों को लेकर बीजेपी भी कॉन्ग्रेस सरकार पर हमलावर है। पिछले दिनों ब्राह्मण समाज के लोगों ने राज्यपाल से भी इस मसले पर मुलाक़ात की थी और कार्रवाई करने को लेकर ज्ञापन सौंपा था।

बघेल को भारत से बाहर भेज दिया जाए: शिकायतकर्ता

शिकायतकर्ता नवीन शर्मा ने इस संबंध में कहा कि ब्राह्मणों के खिलाफ टिप्पणी करने वाले नंद कुमार बघेल को भारत से बाहर भेज दिया जाए। उनके इस बयान का मकसद समाज को बाँटना था। बता दें कि दीनदयाल विप्र समाज के सदस्यों ने बघेल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। रायपुर में डीडी नगर थाने की प्रभारी योगिता खोपर्डे ने बताया कि दो सितंबर को उन्हें सर्व ब्राह्मण समाज, सुंदर नगर से शिकायत मिली थी कि नंद कुमार बघेल ने ब्राह्मण समुदाय के खिलाफ टिप्पणी की थी। चार सितंबर को मामला दर्ज किया गया। जाँच शुरू कर दी गई है।

अधिकारी ने शिकायत के हवाले से बताया कि नंद कुमार बघेल पर भगवान राम के बारे में भी कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप है। उन्होंने बताया कि संगठन ने अपनी शिकायत में कहा कि मुख्यमंत्री के पिता की कथित टिप्पणी का वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जब मोपला में हुआ हिंदुओं का नरसंहार, तब गाँधी पढ़ा रहे थे खिलाफत का पाठ; बिना प्रतिकार मरने की दे रहे थे सीख

नरसंहार के बावजूद, भारतीय नेतृत्व जिसमें प्रमुख रूप से गाँधी शामिल थे, उसने हिंदुओं को उनके चेहरे पर मुस्कान के साथ मरते रहने के लिए कहा।

‘20000 हिंदुओं को बना दिया ईसाई, मेरी माँ का भी धर्म परिवर्तन’: कर्नाटक के MLA ने विधानसभा में खोला मिशनरियों का काला चिट्ठा

कर्नाटक विधानसभा में हिंदुओं के ईसाई धर्मांतरण का मसला उठा। बीजेपी विधायक ने बताया कि कैसे मिशनरी विरोध करने पर झूठे मुकदमों में फँसा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,683FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe