Sunday, January 24, 2021
Home राजनीति नेहरू की ऐतिहासिक भूलों और निर्लज्ज कॉन्ग्रेस से फिर मुकाबिल मोदी-शाह: सब याद रखा...

नेहरू की ऐतिहासिक भूलों और निर्लज्ज कॉन्ग्रेस से फिर मुकाबिल मोदी-शाह: सब याद रखा जाएगा

अब देखना दिलचस्प होगा कि उपर जिक्र की गई अपनी बीमारियों और 'शीर्ष परिवार जो कहे वही सही', वाली मानसिकता से निकलने का कॉन्ग्रेस कोई रास्ता तलाश पाती है या फिर इतिहास के पन्नों में ऐतिहासिक भूल के तौर पर दफन हो जाना ही उसकी नियति है।

कॉन्ग्रेस मतलब क्या? जो अपनी गलतियों से नहीं सीखे। जो इतिहास से सबक ना ले। जो हमेशा उस पाले में खड़ी नजर आए जो देश और जनमत के खिलाफ हो।

यदि कॉन्ग्रेस के चरित्र के मूल के में ये सब बातें न होती तो क्या कारण था कि वह साल भर से भी कम समय में दूसरी बार एक जैसी ही गलती करती। आज जिस तरह से वह चीन के प्रोपेगेंडा के साथ खड़ी दिख रही है, ठीक इसी तरह वह पिछले साल पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा के साथ खड़ी नजर आई थी, जब जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया गया था।

दिलचस्प यह है कि कश्मीर भी नेहरू की ऐतिहासिक भूल थी और चीन के साथ सीमा विवाद भी उनकी ही ‘आकांक्षाओं’ की उपज है। 370 हटाए जाने के बाद भी कॉन्ग्रेस ने पार्टी के भीतर की आवाजों को अनसुना कर दिया था और अबकी बार भी वह यही दोहरा रही है।

उस समय भी कॉन्ग्रेस और उसके चाटुकारों के प्रोपेगेंडा तथा नेहरू की ऐतिहासिक भूलों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मुकाबिल थे। यही वजह है कि आज दोनों ने एक के बाद एक चीन और उसकी जुबान बोलने वालों को पाठ पढ़ाया

मोदी ने मन की बात में चीनी सुर में बोलने वालों को राष्ट्रधर्म का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि जिन परिवारों ने अपने बेटों को खोया है, वे अब भी अपने बच्चों को सेना में भेज रहे हैं। उनकी भावना और त्याग अतुलनीय है। साथ ही यह भी दोहराया कि भारत अपनी संप्रभुत्ता की रक्षा के लिए संकल्पबद्ध है। उन्होंने कहा कि लद्दाख में भारत की भूमि पर आँख उठाकर देखने वालों को करारा जवाब मिला है, भारत मित्रता निभाना जानता है तो आँख में आँख डालकर देखना और उचित जवाब देना भी जानता है।

इसके कुछ घंटों बाद एएनआई को दिए इंटरव्यू में कहा, “भारत विरोधी प्रोपेगेंडा का जवाब देने में हम पूरी तरह सक्षम हैं। लेकिन तब तकलीफ होती है जब इतने बड़े राजनीतिक दल का अध्यक्ष ऐसे वक्त में ओछी राजनीति करने लगे।”

उन्होंने कहा, “चर्चा करनी है आइए, करेंगे। कोई चर्चा से नहीं डरता है। 1962 से आज तक दो-दो हाथ हो जाए। मगर जब देश के जवान संघर्ष कर रहे हैं, सरकार स्टैंड लेकर ठोस कदम उठा रही है उस वक्त ऐसे बयान नहीं देने चाहिए।”

ऐसा नहीं है कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मसलों पर इस तरह के स्टैंड के लिए कॉन्ग्रेस को बीजेपी से ही नसीहतें मिल रही हैं। उसकी खुद की पार्टी और सहयोगी दल के नेता भी इसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कॉन्ग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने ट्विटर पर लिखा है कि एकजुट होने के वक्त हो रही राजनीतिक कीचड़बाजी से हम दुनिया में तमाशा बन गए हैं।

देवड़ा ने कहा, “यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि जब चीन के अतिक्रमण के खिलाफ राष्ट्रीय आवाज एक होनी चाहिए, तब उसकी जगह राजनीतिक कीचड़बाजी हो रही है। हम दुनिया में तमाशा बन गए हैं। चीन के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत है।”

इससे पहले  शनिवार (जून 27, 2020) को राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने राहुल गाँधी पर निशाना साधते हुए कहा था कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए। 1962 के युद्ध का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि किसी पर आरोप लगाते समय यह भी देखना चाहिए कि अतीत में क्या हुआ था। इसे भूला नहीं जा सकता है। चीन ने हमारी 45 हजार वर्ग किमी क्षेत्र में अतिक्रमण कर लिया था।

लेकिन लगता नहीं कि कॉन्ग्रेस का राष्ट्रीय हितों से कोई सरोकार है। यही कारण है कि चीनी प्रोपेगेंडा के साथ खड़े नहीं होने के कारण उसने संजय झा को प्रवक्ता पद से हटा दिया। संजय झा ने हाल ही में एक लेख के माध्यम से पार्टी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा किया था।

कॉन्ग्रेस की कार्यशैली को लेकर ऐसी ही प्रतिक्रियाएँ सोशल मीडिया में भी सामने आ रही हैं। एक हालिया सर्वे में भी चीन के मोर्चे पर कॉन्ग्रेस को लोगों ने नकार दिया है। एबीपी न्यूज़ और सी वोटर की ओर से कराए गए एक सर्वे में यह बात सामने आई कि चीन के साथ हालिया तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता बनी हुई है। सर्वे में करीब 73 फीसदी लोगों ने उनके नेतृत्व में भरोसा जताया। वहीं सर्वे में शामिल करीब 61 फीसदी लोगों का कहना था कि कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी भरोसे के लायक नहीं हैं।

राहुल गाँधी का व्यवहार इन दिनों भारत में चीनी एजेन्ट जैसा लग रहा है। राहुल गाँधी लगातार सरकार से सवाल कर रहे हैं। वह विपक्ष के नेता हैं सवाल उठाना उनका अधिकार है, लेकिन उनके सवालों से ऐसा क्यों लग रहा है कि वह देश के गौरव से बेवजह खिलवाड़ कर रहे हैं।

राहुल गाँधी के ट्विटर संदेशों के लहजे से साफ पता चलता है कि वह देश की जनता को ये संदेश देना चाहते हैं कि भारतीय सीमाओं में चीनी सेना घुस गई है और देश की सुरक्षा खतरे में है। इस अनर्गल प्रलाप से देश की प्रतिष्ठा को होने वाले नुकसान की चिंता राहुल गाँधी को नहीं है। 

बता दें कि कॉन्ग्रेस का शीर्ष परिवार जब चीन के हित में अपनी ही सरकार के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे संवेदनशील मसले पर लगातार बोल रही है, चीन के भीतर वहॉं की सरकार के खिलाफ नाराजगी लगातार बढ़ रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि चीनी सरकार मारे गए सैनिकों का आँकड़ा सार्वजनिक नहीं कर रही है और साथ ही दवाब डालकर सैनिक के परिवारों पर चुप कराने में जुटी हुई है।

राहुल गाँधी चीन के समर्थन में अपरोक्ष कैंपेन ऐसे ही नहीं चला रहे हैं। उनके चीन से बड़े मधुर संबंध हैं। इस बात का सबूत साल 2017 में पूरे देश को मिल चुका है। जब भारत और चीन के बीच डोकलाम में विवाद चल रहा था, तब तत्कालीन कॉन्ग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने 8 जुलाई को आधी रात को अंधेरे में तत्कालीन चीनी राजदूत लुओ झाओहुई से मुलाकात की थी। कॉन्ग्रेस ने इस बारे मे जानकारी छुपाने की कोशिश भी की।

2008 को सोनिया गाँधी की अगुवाई वाली कॉन्ग्रेस और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी पार्टी के बीच एक समझौता होने की बात भी सामने आ चुकी है। इसके अलावा ये बातें भी सामने आई है कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने समय-समय पर राजीव गाँधी फाउंडेशन में बहुत बड़ी मात्र में ‘वित्तीय सहायता’ दी थी।

वैसे, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्क्रिय किए जाने के समय भी कॉन्ग्रेस के कुछ नेताओं ने पार्टी को आइना दिखाया था और पार्टी लाइन से अलग रुख अपनाते हुए जनभावना के साथ खड़े हुए थे। भुवनेश्वर कालिता ने यह कहते हुए, ‘कॉन्ग्रेस आत्महत्या कर रही है और मैं इसमें उसका भागीदार नहीं बनना चाहता’, राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया था । जर्नादन द्विवेदी, दीपेंद्र हुड्डा, मिलिंद देवड़ा जैसे गॉंधी परिवार के करीबी रहे नेताओं ने भी पार्टी से इतर राय रखने में वक्त जाया नहीं किया था। 

जर्नादन द्विवेदी ने उस समय कहा था, “मैंने राम मनोहर लोहिया जी के नेतृत्व में राजनीति की शुरूआत की थी। वह हमेशा इस अनुच्छेद के खिलाफ थे। आज इतिहास की एक गलती को सुधार लिया गया है।” इतना कुछ होने के बाद भी पार्टी ने सीख बजाए नेहरू की करतूतों को ढकने के लिए राष्ट्र विरोधी प्रोपेगेंडा के सुर में सुर मिलाया।

अब देखना दिलचस्प होगा कि उपर जिक्र की गई अपनी बीमारियों और ‘शीर्ष परिवार जो कहे वही सही’, वाली मानसिकता से निकलने का कॉन्ग्रेस कोई रास्ता तलाश पाती है या फिर इतिहास के पन्नों में ऐतिहासिक भूल के तौर पर दफन हो जाना ही उसकी नियति है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवपुरी बाबा की समाधि को पहले हरे रंग से पोता, पढ़ी नमाज और अब मस्जिद निर्माणः बीजेपी MLA के दखल पर रुका काम

"धर्मनगरी बिठूर में कुछ लोग मंदिर के स्थान पर मस्जिद बनाने का प्रयास कर रहे थे, स्थानीय पुलिस तक इसमें शामिल थी।"

₹118 करोड़ की अवैध संपत्ति, 4.5 Kg सोना मिला: ईसाई प्रचारक पॉल दिनाकरन के 25 ठिकानों पर पड़ा था छापा

तमिलनाडु के ईसाई प्रचारक और उसकी कई संस्थाओं के खिलाफ बड़ी रकम की धोखाधड़ी और अवैध रूप से संपत्ति अर्जित करने व कर चोरी के कई आरोप हैं।

12 साल की लड़की का स्तन दबाया, महिला जज ने कहा – ‘नहीं है यौन शोषण’: बॉम्बे HC का मामला

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच ने शारीरिक संपर्क या ‘यौन शोषण के इरादे से किया गया शरीर से शरीर का स्पर्श’ (स्किन टू स्किन) के आधार पर...

‘दीदी पाठ करेंगी… जय श्री राम का विरोध नहीं करेंगी’: ममता बनर्जी को भेजी रामायण, 1 लाख रामनामी पोस्टकार्ड भी

पराक्रम दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान ममता बनर्जी ने जय श्री राम के नारों को अपनी बेइज्जती करार देते हुए भाषण देने से इनकार कर दिया था।

चुनने की आजादी बेटियों का अधिकार, समानता की हकीकत को पुरुषों को स्वीकार करना होगा

24 जनवरी को 'राष्ट्रीय बालिका दिवस' (National Girl Child Day) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य लड़कियों के सम्मान और महत्व को बढ़ावा देना है।

UP देश का पहला राज्य, IAF के लिए सड़क पर बना दी 3 एयर स्ट्रिप: पूर्वांचल Expressway पर भी उतरेंगे लड़ाकू विमान

उत्तर प्रदेश अब 3-3 एयरस्ट्रिप वाला देश का पहला राज्य। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर भी एयरस्ट्रिप बनकर तैयार। यहाँ वायुसेना के विमानों की...

प्रचलित ख़बरें

नकाब हटा तो ‘शूटर’ ने खोले राज, बताया- किसान नेताओं ने टॉर्चर किया, फिर हत्या वाली बात कहवाई: देखें Video

"मेरी पिटाई की गई। मेरी पैंट उतार कर मुझे पीटा गया। उलटा लटका कर मारा गया। उन्होंने दबाव बनाया कि मुझे उनका कहा बोलना पड़ेगा। मैंने हामी भर दी।"

मदरसा सील करने पहुँची महिला तहसीलदार, काजी ने कहा- शहर का माहौल बिगड़ने में देर नहीं लगेगी, देखें वीडियो

महिला तहसीलदार बार-बार वहाँ मौजूद मुस्लिम लोगों को मामले में कलेक्टर से बात करने के लिए कह रही है। इसके बावजूद लोग उसकी बात को दरकिनार करते हुए उसे धमकाते हुए नजर आ रहे हैं।

मटन-चिकेन-मछली वाली थाली 1 घंटे में खाइए, FREE में ₹1.65 लाख की बुलेट ले जाइए: पुणे के होटल का शानदार ऑफर

पुणे के शिवराज होटल ने 'विन अ बुलेट बाइक' नामक प्रतियोगिता के जरिए निकाला ऑफर। 4 Kg की थाली को ख़त्म कीजिए और बुलेट बाइक घर लेकर जाइए।

‘नकाब के पीछे योगेंद्र यादव’: किसान नेताओं को ‘शूट करने’ आए नकाबपोश की कहानी में लोचा कई

किसान नेताओं ने एक नकाबपोश को मीडिया के सामने पेश किया, जिसने दावा किया कि उसे किसान नेताओं को गोली मारने के लिए रुपए मिले थे।

‘कोहली के बिना इनका क्या होगा… ऑस्ट्रेलिया 4-0 से जीतेगा’: 5 बड़बोले, जिनकी आश्विन ने लगाई क्लास

अब जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया में जाकर ही ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दिया है, आइए हम 5 बड़बोलों की बात करते हैं। आश्विन ने इन सबकी क्लास ली है।

शाहजहाँ: जिसने अपनी हवस के लिए बेटी का नहीं होने दिया निकाह, वामपंथियों ने बना दिया ‘महान’

असलियत में मुगल इस देश में धर्मान्तरण, लूट-खसोट और अय्याशी ही करते रहे परन्तु नेहरू के आदेश पर हमारे इतिहासकारों नें इन्हें जबरदस्ती महान बनाया और ये सब हुआ झूठी धर्मनिरपेक्षता के नाम पर।
- विज्ञापन -

 

शिवपुरी बाबा की समाधि को पहले हरे रंग से पोता, पढ़ी नमाज और अब मस्जिद निर्माणः बीजेपी MLA के दखल पर रुका काम

"धर्मनगरी बिठूर में कुछ लोग मंदिर के स्थान पर मस्जिद बनाने का प्रयास कर रहे थे, स्थानीय पुलिस तक इसमें शामिल थी।"

₹118 करोड़ की अवैध संपत्ति, 4.5 Kg सोना मिला: ईसाई प्रचारक पॉल दिनाकरन के 25 ठिकानों पर पड़ा था छापा

तमिलनाडु के ईसाई प्रचारक और उसकी कई संस्थाओं के खिलाफ बड़ी रकम की धोखाधड़ी और अवैध रूप से संपत्ति अर्जित करने व कर चोरी के कई आरोप हैं।

12 साल की लड़की का स्तन दबाया, महिला जज ने कहा – ‘नहीं है यौन शोषण’: बॉम्बे HC का मामला

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच ने शारीरिक संपर्क या ‘यौन शोषण के इरादे से किया गया शरीर से शरीर का स्पर्श’ (स्किन टू स्किन) के आधार पर...

‘दीदी पाठ करेंगी… जय श्री राम का विरोध नहीं करेंगी’: ममता बनर्जी को भेजी रामायण, 1 लाख रामनामी पोस्टकार्ड भी

पराक्रम दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान ममता बनर्जी ने जय श्री राम के नारों को अपनी बेइज्जती करार देते हुए भाषण देने से इनकार कर दिया था।

6 लोग (3 औरत+2 मर्द+1 नाबालिग) और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारेः खान मार्केट में हुई घटना की पड़ताल कर रही दिल्ली पुलिस

दिल्ली के खान मार्केट मेट्रो स्टेशन के पास 24 जनवरी की रात 1 बजे के करीब 6 लोगों ने कथित तौर पर ‘पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाए।

चुनने की आजादी बेटियों का अधिकार, समानता की हकीकत को पुरुषों को स्वीकार करना होगा

24 जनवरी को 'राष्ट्रीय बालिका दिवस' (National Girl Child Day) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य लड़कियों के सम्मान और महत्व को बढ़ावा देना है।

UP देश का पहला राज्य, IAF के लिए सड़क पर बना दी 3 एयर स्ट्रिप: पूर्वांचल Expressway पर भी उतरेंगे लड़ाकू विमान

उत्तर प्रदेश अब 3-3 एयरस्ट्रिप वाला देश का पहला राज्य। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर भी एयरस्ट्रिप बनकर तैयार। यहाँ वायुसेना के विमानों की...

राधे के मर्डर में सास साबिरा और साला जावेद गिरफ्तार: शौचालय में मिला था गला रेता शव, 6 महीने पहले शहनाज से की थी...

मृतक के साले और सास को सेक्टर-37 के पास से दबोचा गया। इनकी पहचान भाटिया मोड़ दौलतपुरा गाजियाबाद निवासी जावेद और साबिरा के रूप में हुई है।

जाह्नवी कपूर की फिल्म की शूटिंग में ‘किसान प्रदर्शनकारियों’ का फिर अड़ंगा, कहा- बाहर निकलो और हमारा समर्थन करो

किसान प्रदर्शनकारियों ने एक बार फिर पंजाब में जाह्नवी कपूर की फिल्म 'गुड लक जेरी' की शूटिंग में व्यवधान डाला है।

5-10-100 रुपए वाले पुराने नोट अगले महीने से बंद, RBI ने खुद बताया, मीडिया में भी छपी खबर – Fact Check

RBI अधिकारियों के हवाले से कई मीडिया संस्थानों ने खबर चलाई कि अब 100, 10 और 5 रुपए के पुराने नोट चलन में नहीं रहेंगे और बंद हो जाएँगे।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
385,000SubscribersSubscribe