Saturday, August 15, 2020
Home राजनीति एक थे नेहरू, एक हैं मोदी: वे राम को अयोध्या से बेदखल करना चाहते...

एक थे नेहरू, एक हैं मोदी: वे राम को अयोध्या से बेदखल करना चाहते थे, ये भव्य मंदिर की शिला रखेंगे

नेहरू मूर्तियॉं हटाकर धर्मनिरपेक्ष दिखना चाहते थे। लेकिन, नायर के अड़ने और पंत तथा पटेल के नरम रुख अपनाने के कारण वे अपने इस मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए।

जिस दिन का हिंदुओं को दशकों से इंतजार था वह करीब आ गया है। 5 अगस्त को अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन में शिरकत करेंगे। पीएम बनने के बाद यह उनकी पहली अयोध्या यात्रा होगी।

रिपोर्टों के मुताबिक भूमि पूजन के दौरान श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास लगभग 40 किलो चॉंदी की श्रीराम शिला समर्पित करेंगे। पीएम मोदी इस शिला का पूजन कर स्थापित करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने भले इस दिन की राह खोली हो, लेकिन यह एक झटके में मुमकिन नहीं हुआ। इस दिन के लिए कई बलिदान हुए। कइयों ने अपनी पूरी जिंदगी झोंक दी। ये सब उस वक्त हुआ जब आजाद भारत में भी सत्ताधारी दल अयोध्या आंदोलन को कुचल देना चाहते थे।

यहॉं तक कि पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू भी रामलला को गर्भगृह से बेदखल करने पर अमादा थे। वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा ने अपनी किताब ‘युद्ध में अयोध्या’ में ​विस्तार से इस घटना का ब्यौरा दिया है। नेहरू के मॅंसूबों को केरल के रहने वाले आईसीएस अधिकारी केकेके नायर, जो उस समय फैजाबाद के जिलाधिकारी थे ने विफल कर दिया था।

- विज्ञापन -

हेमंत शर्मा लिखते हैं, “उत्तर प्रदेश के कुछ मुस्लिम नेताओं और देवबंद के उलेमाओं ने नेहरू को तार भेजकर उनका ध्यान अयोध्या की ओर दिलाया। नेहरू ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री गोविंद वल्लभ पंत और राज्य के गृह मंत्री लाल बहादुर शास्त्री को तत्काल मस्जिद से मूर्तियों को हटाने के निर्देश दिए। लगातर केंद्र से संदेश लखनऊ आते और वैसे ही तार लखनऊ से फैजाबाद भेजे जाते कि मूर्तियॉं तुरंत हटाई जाएँ। 24 और 25 दिसंबर 1949 को लखनऊ में इस मुद्दे पर दिन भर उच्च स्तरीय बैठक होती रही। तय किया गया कि मूर्तियों को गर्भगृह से बाहर ले जाकर राम चबूतरे पर रखा जाएगा। पर फैजाबाद के सिटी मजिस्ट्रेट केकेके नायर इस बात पर अड़े रहे कि मूर्ति हटाने की घोषणा से मात्र से खून-खराबा होगा।”

उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्य सचिव भगवान सहाय ने इस संबंध में फैजाबाद के तत्कालीन जिलाधिकारी केकेके नायर को 23 दिसंबर को निर्देश दिए। जवाब में 26 दिसंबर को नायर ने लिखा, “मैं आज भी इसकी कल्पना नहीं कर पा रहा कि मूर्ति को वहॉं से कैसे हटाया जाए। यदि इस कार्य को धार्मिक रीति के अनुसार किया जाना है तो मुझे कोई ऐसा योग्य हिंदू पुजारी नहीं मिलेगा, जो इस काम के लिए अपने जीवन और मोक्ष को दॉंव पर लगाने का इच्छुक हो। यदि ऐसा किसी भी तरह या किसी के द्वारा भी किया जाना है तो इसके परिणामस्वरुप हिंदुओं के सभी वर्गों के विरोध का सामना सरकार को करना पड़ सकता है। मुझे स्पष्ट रूप से बताया जाना चाहिए कि क्या सरकार उस स्थिति का सामना करने के लिए तैयार है।”

इससे पहले की इस पर सरकार कोई प्रतिक्रिया देती अगले ही दिन नायर ने मुख्य सचिव को फिर एक चिट्ठी दाग दी। इस बार उन्होंने लिखा, “यदि सरकार किसी भी कीमत पर मूर्ति हटाने का फैसला लेती है तो मैं अनुरोध करूँगा कि मुझे कार्यमुक्त किया जाए और मेरा कार्यभार किसी ऐसे अधिकारी को दिया जाए, जिसे इस समाधान में वह अच्छाई दिखती हो जो मुझे दिखाई नहीं देती। जहॉं तक मेरा सवाल है मेरा विवेक मुझे ऐसा करने की इजाजत नहीं देता।”

नायर की चिट्ठियों से राज्य सरकार दबाव में आ गई। घबराए सहाय ने उन्हें फोन कर कहा कि वे मौके पर जैसा ठीक समझें करें। लेकिन, नेहरू लगातार अपनी चिंता जताते रहे। जब नायर सरकार की सुनने को तैयार नहीं थे तो नेहरू ने 26 नवंबर 1949 को पंत को एक तार भेजता। इसमें कहा, “अयोध्या में हुई घटनाओं से मैं परेशान हूँ। मैं गंभीरतापूवर्क उम्मीद करता हूँ कि आप इस विषय पर व्यक्तिगत रूप से ध्यान देंगे। वहॉं आपत्तिजनक उदाहरण रखे जा रहे हैं जिनके परिणाम घातक होंगे।”

मूर्तियॉं तो नहीं हटीं। पर नेहरू के प्रयास जारी रहे। 15 फरवरी 1950 को उन्होंने पंत को एक पत्र लिख अयोध्या के हालात पर जानकारी मॉंगी। साथ ही कश्मीर पर इसके कारण पड़ने वाले हालात को लेकर चिंता जताई। 5 मार्च 1950 को किशोरीलाल को लिखे पत्र में नेहरू ने कहा, “उत्तर प्रदेश सरकार ने हिम्मत से काम लिया, लेकिन जो हुआ वो कम था। फैजाबाद के अधिकारियों ने या तो बदमाशी की या फिर हालात को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया।”

यहॉं तक कि नेहरू अयोध्या भी जाना चाहते थे। पर पंत उन्हें टालते गए। यहॉं यह जानना जरूरी है कि पंत को नेहरू पसंद नहीं करते थे। पंत देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभाई पटेल के करीबी माने जाते थे। लिहाजा, नेहरू ने पटेल से भी पंत पर दबाव डलवाने की कोशिश की। 9 जनवरी 1950 को पटेल ने इस संबंध में पंत को पत्र भी लिखा। लेकिन, उन्होंने मूर्तियॉं हटाने के लिए कोई निर्देश देने की बजाए मुख्यमंत्री पंत की ओर से उठाए गए कदमों की तारीफ की। साथ ही इस समस्या के लिए अपनी पार्टी में बढ़ती गुटबंदी को भी जिम्मेदार ठहराया।

शर्मा ने ​अपनी किताब में जिन घटनाओं और चिट्ठियों का जिक्र किया है, उनसे जाहिर होता है कि नेहरू मूर्तियॉं हटाकर धर्मनिरपेक्ष दिखना चाहते थे। लेकिन, नायर के अड़ने और पंत तथा पटेल के नरम रुख अपनाने के कारण वे अपने इस मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत झा
देसिल बयना सब जन मिट्ठा

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुम चुप हो जाओ, वरना तुम्हें भी इंजेक्शन देकर सुला देंगे’: महेश भट्ट ने मुझे भी धमकाया था, मेरी बेटी जैसा ही सुशांत का...

सुशांत केस में महेश भट्ट पर शुरुआत से ही आरोप लग रहे हैं। अब जिया खान की मॉं राबिया ने भी उनके बारे में चौंकाने वाला खुलासा किया है।

वाह री लिबरल मीडिया! नवीन की हत्या के लिए जेहादियों को उकसाने वाली डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट पर चुप्पी

डेक्कन हेराल्ड ने अपनी एक रिपोर्ट में बेंगलुरु हिंसा का ठीकरा नवीन पर ही फोड़ने की कोशिश की है। सूत्रों के हवाले से उसे ‘serial offender’ बताया है।

शाहजेब रिजवी को यूपी पुलिस ने दबोचा, दलित MLA के भतीजे के सर पर रखा था ₹51 लाख का इनाम

शाहजेब रिजवी सपा से जुड़ा रहा है। मेरठ में एफआईआर दर्ज होने के बाद जब पुलिस ने उसके घर दबिश दी तो वह फरार हो गया था। लेकिन, पुलिस की गिरफ्त से ज्यादा दूर भाग नहीं सका।

सुवर्णा न्यूज के पत्रकारों पर बेंगलुरु पुलिस ने नहीं, मुस्लिम भीड़ ने किया था हमला: एडिटर्स गिल्ड के झूठ की चैनल ने खोली पोल

सुवर्णा न्यूज ने पत्रकारों के लिए दिखाई चिंता पर एडिटर्स गिल्ड को धन्यवाद देते हुए कहा है कि उन पर हमला उपद्रवियों की भीड़ ने किया था।

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने देश को किया संबोधित, गलवान के बलिदानियों को किया याद

74वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को देशवासियों को संबोधित किया।

आतंकियों के जिस एनकाउंटर पर रोईं थी सोनिया गाँधी उसमें बलिदान हुए इंस्पेक्टर को गैलेंट्री अवॉर्ड

गैलेंट्री अवॉर्ड का ऐलान कर दिया गया है। इसमें बाटला हाउस एनकाउंटर में बलिदान हुए दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर मोहनचंद शर्मा का भी नाम है।

प्रचलित ख़बरें

‘गोबर मूत्र पीने वाला… जिन्दा जलाओ हराम के औलाद को… रसूलल्लाह की शान में गुस्ताखी’ – बेंगलुरु दंगे के बाद खतरे में नवीन

'ज्वाइन AIMIM' नाम के फेसबुक ग्रुप में नवीन की तस्वीर शेयर की गई है, जिसके कमेंट्स में नवीन को लेकर बेहद भयावह टिप्पणियों के साथ...

…जब पुलिस वालों ने रोते हुए सीनियर ऑफिसर से माँगी गोली चलाने की इजाजत: बेंगलुरु दंगे का सच

वीडियो में साफ सुना जा सकता है कि इस्लामी कट्टरपंथी भीड़ पुलिस वालों पर टूट पड़ती है। हालात भयावह हो जाने के बाद पुलिसकर्मियों ने...

गोधरा पर मुस्लिम भीड़ को क्लिन चिट, घुटनों को सेक्स में समेट वाजपेयी का मजाक: एक राहत इंदौरी यह भी

"रंग चेहरे का ज़र्द कैसा है, आईना गर्द-गर्द कैसा है, काम घुटनों से जब लिया ही नहीं...फिर ये घुटनों में दर्द कैसा है" - राहत इंदौरी ने यह...

मैं मुसलमानों को भाई समझता था, उन्होंने मेरे घर पर पेट्रोल बम फेंके: रो पड़े कॉन्ग्रेस के दलित MLA

11 अगस्त को दंगाइयों ने बेंगलुरु में कॉन्ग्रेस MLA मूर्ति का घर फूॅंक दिया था। उस घटना को याद करते हुए वो रो पड़े।

पैगम्बर मुहम्मद पर FB पोस्ट, दलित कॉन्ग्रेस MLA के घर पर हमला: 1000+ मुस्लिम भीड़, बेंगलुरु में दंगे व आगजनी

बेंगलुरु में 1000 से भी अधिक की मुस्लिम भीड़ ने स्थानीय विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेर लिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी।

आदित्य ठाकरे का कनेक्शन अभिनेत्रियों के साथ हो सकता है, मगर सुशांत की मौत से उसका कोई लेना-देना नहीं: सुब्रमण्यम स्वामी

स्वामी ने आरोप लगाया कि जो व्यक्ति इस मामले में शामिल है वह संभवत: किसी और का बेटा है, जिसका नाम लेने की स्थिति में वे नहीं है क्योंकि उनके पास पर्याप्त सबूत नहीं हैं।

BJP का चीन से याराना बताने के चक्कर में कॉन्ग्रेस की हुई फजीहत, जापानी PM को बता दिया चीनी

जापानी पीएम शिंजो आबे के साथ मोदी की तस्वीर शेयर करते हुए कॉन्ग्रेस ने चीन के साथ संबंधों को लेकर बीजेपी को घेरने की कोशिश की।

‘तुम चुप हो जाओ, वरना तुम्हें भी इंजेक्शन देकर सुला देंगे’: महेश भट्ट ने मुझे भी धमकाया था, मेरी बेटी जैसा ही सुशांत का...

सुशांत केस में महेश भट्ट पर शुरुआत से ही आरोप लग रहे हैं। अब जिया खान की मॉं राबिया ने भी उनके बारे में चौंकाने वाला खुलासा किया है।

वाह री लिबरल मीडिया! नवीन की हत्या के लिए जेहादियों को उकसाने वाली डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट पर चुप्पी

डेक्कन हेराल्ड ने अपनी एक रिपोर्ट में बेंगलुरु हिंसा का ठीकरा नवीन पर ही फोड़ने की कोशिश की है। सूत्रों के हवाले से उसे ‘serial offender’ बताया है।

शाहजेब रिजवी को यूपी पुलिस ने दबोचा, दलित MLA के भतीजे के सर पर रखा था ₹51 लाख का इनाम

शाहजेब रिजवी सपा से जुड़ा रहा है। मेरठ में एफआईआर दर्ज होने के बाद जब पुलिस ने उसके घर दबिश दी तो वह फरार हो गया था। लेकिन, पुलिस की गिरफ्त से ज्यादा दूर भाग नहीं सका।

सुवर्णा न्यूज के पत्रकारों पर बेंगलुरु पुलिस ने नहीं, मुस्लिम भीड़ ने किया था हमला: एडिटर्स गिल्ड के झूठ की चैनल ने खोली पोल

सुवर्णा न्यूज ने पत्रकारों के लिए दिखाई चिंता पर एडिटर्स गिल्ड को धन्यवाद देते हुए कहा है कि उन पर हमला उपद्रवियों की भीड़ ने किया था।

अंकिता के फ्लैट की ईएमआई भी भरते थे सुशांत, ED को फोन नहीं सौंप रही मुंबई पुलिस

सुशांत सिंह राजपूत उस फ्लैट की ईएमआई भी भरते थे, जिसमें उनकी एक्स गर्लफ्रेंंड अंकिता लोखंडे रहती हैं। ED के सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने देश को किया संबोधित, गलवान के बलिदानियों को किया याद

74वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को देशवासियों को संबोधित किया।

बेंगलुरु दंगे एक योजना का हिस्सा हैं, और कुछ नहीं

इस कौम ने फैसला 'सड़कों पर' करने का मन बना लिया है। ये मजहब खुद को किसी भी क़ानून से ऊपर मानता रहा है।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह ने इंडिया टुडे को बताया ‘सुस्त’, कहा- स्टिंग से पहले हो चुकी थी कार्रवाई

इंडिया टुडे ने स्टिंग कर दावा किया था कि वंदे भारत के तहत टिकट के लिए एजेंट्स मनमाने पैसे वसूल रहे हैं। हरदीप सिंह ने बताया कि ऐसे लोगों पर काफी पहले कार्रवाई हो चुकी है।

कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए अमित शाह, 12 दिन पहले पाए गए थे पॉजिटिव

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की कोरोना टेस्ट की रिपार्ट निगेटिव आई है। उन्होंने खुद ट्वीट कर यह जानकारी दी है।

हमसे जुड़ें

246,500FansLike
64,912FollowersFollow
300,000SubscribersSubscribe
Advertisements