Wednesday, May 25, 2022
HomeराजनीतिCAA के विरोध में चर्च का प्रोपेगेंडा: टोपी और हिजाब पहन लड़के-लड़कियों ने गाया...

CAA के विरोध में चर्च का प्रोपेगेंडा: टोपी और हिजाब पहन लड़के-लड़कियों ने गाया कैरोल, थरूर ने किया शेयर

केरल के एक चर्च में क्रिसमस कैरौल गाते हुए क़रीब 14 लड़कों ने मुस्लिम टोपी पहनी और लड़कियों ने हिजाब। और हाँ, इन्होंने किसी भ्रम में ऐसा नहीं किया है। चर्च ने जानबूझकर ऐसा करवाया है, जो यह बेहद खतरनाक है।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर मुस्लिम समुदाय को भड़काकर कॉन्ग्रेसी-वामपंथी या देश विरोधी ताकतें दंगा कराने की कोशिश में लगातार हिंसा भड़का रही हैं। पुलिस ने कई लोगों को हिंसा करने और भड़काने के आरोप में गिरफ्तार भी किया है। इसी बीच केरल के एक चर्च में क्रिसमस कैरौल गाते हुए क़रीब 14 लड़कों ने मुस्लिम टोपी पहनी और लड़कियों ने हिजाब। और हाँ, इन्होंने किसी भ्रम में ऐसा नहीं किया है। चर्च ने जानबूझकर ऐसा करवाया है, जो यह बेहद खतरनाक है।

सोशल मीडिया में यह वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है। प्रोपेगेंडा से भरे वीडियो वायरल करवाए भी जाते हैं। बता दें कि यह वीडियो केरल के पठानमथिट्टा के कोजेनचेरी के सेंट थॉमस मार थोमा चर्च में क्रिसमस समारोह का है।
इस वीडियो को “क्रिसमस: शरणार्थियों का उत्सव” कैप्शन के साथ सर्कुलेट किया जा रहा है।

इस वीडियो में, युवाओं को, मप्पीला पटु (mappila pattu) की धुन में क्रिसमस कैरोल गाते हुए देखा जा सकता है, जो कि मुस्लिम समुदाय द्वारा गाए जाने वाले पारम्परिक गीत है। इस वीडियो में लड़कियों को ताली बजाते हुए देखा जा सकता है।

The News Minute की ख़बर के अनुसार, चर्च के फ़ादर डैनियल टी फिलिप, सहायक विकर, बताते हैं कि क्रिसमस के उत्सव के दौरान युवाओं द्वारा पहनी गई मुस्लिम पोशाक CAA के ख़िलाफ़ आंदोलन के प्रति एकजुटता व्यक्त करने का ज़रिया है। बेहतर होता चर्च के फादर धर्म स्थान से धर्म की बात करते राजनीति की नहीं। हालाँकि धर्म-परिवर्तन में लिप्त रहने वाले चर्च से इस तरह की आदर्श बातें बेमानी ही है!

फादर डैनियल ने यह भी बताया कि क्रिसमस का सही अर्थ लोगों के बीच शांति का संदेश देना है। उन्होंने कहा, “इस के ज़रिए हमने यही दर्शाने का प्रयास किया। समुदायों या विभिन्न व्यक्तियों के बीच भेदभाव करने का कोई मतलब नहीं है, हम सभी के बीच शांति की ज़रूरत है।”

वायरल हुए इस वीडियो के पीछे के प्रोपेगेंडा को समझना है तो इसे किन हस्तियों द्वारा कैसे शेयर किया गया, ये देखें। इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर करते हुए कॉन्ग्रेस सांसद शशि थरूर ने लिखा, “ओह यस- उनके कपड़ों को देखकर आप बता सकते हैं कि वो कौन हैं।”

दरअसल पीएम नरेंद्र मोदी ने देश में CAA के ख़िलाफ़ विरोध-प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए टिप्पणी की थी कि CAA के विरोध-प्रदर्शन के दौरान हिंसा करने वालों को उनके द्वारा पहनी जाने वाली पोशाक से पहचाना जा सकता है।

रवीना टंडन, भारती सिंह और फ़राह खान पर केस: एक शब्द को लेकर ईसाई संगठन की शिक़ायत

‘सोनिया खुद इटली से आकर नागरिकता ले लीं, लेकिन सताए गए हिंदू-सिख भाइयों पर सवाल उठा रहीं’

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकियों ने कश्मीरी अभिनेत्री की गोली मार कर हत्या की, 10 साल का भतीजा भी घायल: यासीन मलिक को सज़ा मिलने के बाद वारदात

जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने कश्मीरी अभिनेत्री अमरीना भट्ट की गोली मार कर हत्या कर दी है। ये वारदात केंद्र शासित प्रदेश के चाडूरा इलाके में हुई, बडगाम जिले में स्थित है।

यासीन मलिक के घर के बाहर जमा हुई मुस्लिम भीड़, ‘अल्लाहु अकबर’ नारे के साथ सुरक्षा बलों पर हमला, पत्थरबाजी: श्रीनगर में बढ़ाई गई...

यासीन मलिक को सजा सुनाए जाने के बाद श्रीनगर स्थित उसके घर के बाहर उसके समर्थकों ने अल्लाहु अकबर की नारेबाजी की। पत्थर भी बरसाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,823FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe