Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीति'कॉल पर निकालते थे गंदी आवाज': सोना तस्करी वाली स्वप्ना सुरेश ने केरल के...

‘कॉल पर निकालते थे गंदी आवाज’: सोना तस्करी वाली स्वप्ना सुरेश ने केरल के 3 पूर्व मंत्रियों पर लगाए संगीन इल्जाम, कहा- ‘मुझसे सेक्स के लिए कहते थे’

इससे पहले स्वप्ना ने कहा था कि सोना तस्करी में सीएम विजयन और उनका परिवार शामिल है। इसके साथ ही एक आरोपित का अपहरण करने का आरोप लगाया था। स्वप्ना ने यह भी कहा था कि केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने आतंकियों को भगाने में यूएई वाणिज्य दूतावास की मदद की थी।

केरल के कुख्यात गोल्ड स्मगलिंग (Kerala Gold Smuggling) मामले की मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश (Swapna Suresh) ने राज्य के तीन वरिष्ठ माकपा नेताओं (CPM Leaders) पर यौन दुराचार का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि माकपा के दो पूर्व मंत्रियों और एक पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने उनसे शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहा था।

स्वप्ना ने कहा कि माकपा नेता और पूर्व मंत्री कदकमपल्ली सुरेंद्रन और विधानसभा के पूर्व स्पीकर पी श्रीरामकृष्णन ने उनसे शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहा था। स्वप्ना ने यह भी कहा कि पूर्व वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने भी उनसे परोक्ष रूप में यही माँग की थी। स्वप्ना के इन आरोपों पर सत्ताधारी पार्टी की ओर से किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं आई है।

स्वप्ना ने टाइम्स नाऊ से बात कहते हुए कहा, “ये लोग बेहद नीच, असामाजिक और संस्कारहीन लोग हैं। संयुक्त अरब अमीरात के दूतावास में बेहद उच्च पद पर रहने के बावजूद इन लोगों ने शारीरिक संबंध बनाने की माँग की, क्योंकि ये सोचते थे कि ये बेहद ताकतवर लोग सोचते थे कि ये मंत्री हैं और सरकार में हैं तो कोई भी लड़की आसानी से तैयार हो जाएगी।”

सुरेंद्रन को लेकर स्वप्ना ने कहा, “कुमारापुरम के एक उद्घाटन समारोह में हमारी पहली मुलाकात हुई थी। अगले दिन सुबह-सुबह सीधा मंत्री जी ने अपने पर्सनल फोन से मुझे कॉल किया कि कहा कि वे सुरेंद्रन बोल रहे हैं और वे मंत्री हैं। उन्होंने दूतावास की बात की और फिर अपने बेटे को UAE में कहीं सेट करने के लिए कहा। इसके बाद फोन पर ही वे सेक्सुअल अडवांसमेंट की बात करने लगे और फोनो-सेक्स की तरह गंदी आवाजें निकालने लगे। इसके बाद मैंने फोन रख दिया।”

रामाकृष्णन को लेकर स्वप्ना ने बताया, “दूतावास में इफ्तार पार्टी के दौरान उनसे मुलाकात हुई थी। वे UAE के लिए वीसा आदि के बारे में जानकारी हासिल कर रहे थे। वे लगातार मुझे कॉल करते रहे। इसके बाद हम दोस्त बन गए, लेकिन वे अक्सर मुझे अपने सरकारी आवास पर बुलाते थे।”

स्वप्ना ने आगे बताया, “वे कहते थे कि अपने परिवार के साथ मेरे आवास पर आओ, मुझे कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन, उनके आने से 10 मिनट पहले अकेले आना, ताकि में तुम्हारे साथ कुछ क्वालिटी टाइम बीता सकूँ। वे बच्चों जैसी हरकतें और किसी कॉलेज स्टूडेेंट जैसा व्यवहार करते हुए मुझे आई लव यू का मैसेज और चुम्मा भेजते थे। एक दिन उन्होंने मुझे अपने फ्लैट पर बुलाया और मुझे इस्तेमाल करने की कोशिश की।”

स्वप्ना के नए आरोपों के बाद राज्य की राजनीति में भूचाल आ गया है। कॉन्ग्रेस और भाजपा ने वामपंथी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। केरल कॉन्ग्रेस के अध्यक्षके सुधाकरन और राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता वीडी सतीसन ने कहा कि इन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर जाँच कराने की माँग की।

वहीं, भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि स्वप्ना सुरेश ने मीडिया के सामने जो खुलासे किए हैं, उन्हें कानूनी सबूत के तौर पर मान्यता देते हुए केरल सरकार आरोपित नेताओं के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करे। हालाँकि, पार्टी या सरकार की तरफ से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

बता दें कि इससे पहले स्वप्ना ने कहा था कि सोना तस्करी में सीएम विजयन और उनका परिवार शामिल है। इसके साथ ही एक आरोपित का अपहरण करने का आरोप लगाया था। स्वप्ना ने यह भी कहा था कि केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने आतंकियों को भगाने में यूएई वाणिज्य दूतावास की मदद की थी। चार जुलाई 2017 को यूएई के एक नागरिक को सीआईएसएफ ने कोच्चि हवाई अड्डे पर भारत में प्रतिबंधित थुरया सैटेलाइट फोन के साथ पकड़ा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर के डोडा में 4 जवान बलिदान, जंगल में छिपे थे इस्लामी आतंकवादी: हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमला करने वाले आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी

जम्मू कश्मीर के डोडा में हुए आतंकी हमले में एक अफसर समेत 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली है।

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -