Saturday, October 16, 2021
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र में 14 अप्रैल की रात से धारा 144 के साथ 'Lockdown' जैसी सख्त...

महाराष्ट्र में 14 अप्रैल की रात से धारा 144 के साथ ‘Lockdown’ जैसी सख्त पाबंदियाँ, उद्धव को बेस्ट CM बताने में जुटे लिबरल

CM उद्धव ठाकरे ने सभी संगठनों से मदद की अपील करते हुए कहा कि राज्य में हालात गंभीर हैं। हम बुधवार रात आठ बजे से सख्त प्रतिबंध लागू करने जा रहे हैं। 14 अप्रैल रात 8 बजे से पूरे राज्य में अगले 15 दिनों तक धारा 144 यानी बिना जरूरत के आना-जाना प्रतिबंधित होगा। ये जनता कर्फ्यू है। हालाँकि, मैं इन प्रतिबंधों को लॉकडाउन का नाम नहीं दूँगा।

महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने राज्य में कोरोना की बेकाबू होती रफ्तार पर काबू पाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है। उन्होंने पीएम से अपील की है कि राज्य में विमान से ऑक्सीजन भेजी जाए। टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाई जाए। इसके अलावा उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कोरोना से लड़ाई जारी है। हमें लगा था कि हम कोरोना से जंग जीत चुके हैं लेकिन ऐसा नहीं है। पिछले साल जब कोरोना ने देश में कदम रखा था तब की सुविधा और अब की सुविधा में फर्क है। पहले महाराष्ट्र में जाँच के लिए एक-दो लैब थे, अब 523 लैब हैं।

CM उद्धव ठाकरे ने सभी संगठनों से मदद की अपील करते हुए कहा कि राज्य में हालात गंभीर हैं। ठाकरे ने कहा कि हम बुधवार रात आठ बजे से सख्त प्रतिबंध लागू करने जा रहे हैं। 14 अप्रैल रात 8 बजे से पूरे राज्य में अगले 15 दिनों तक धारा 144 यानी बिना जरूरत के आना-जाना प्रतिबंधित होगा। ये जनता कर्फ्यू है। हालाँकि, उन्होंने कहा कि मैं इन प्रतिबंधों को लॉकडाउन का नाम नहीं दूँगा।

मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन शब्द का इस्तेमाल न करते हुए इसे ‘ब्रेक द चेन अभियान’ करार दिया। ठाकरे ने साफ किया कि जरूरी सेवाओं को छोड़कर सारे दफ्तर बंद रहेंगे। ई-कॉमर्स, बैंक, मीडिया, पेट्रोल पंप, सुरक्षा गार्ड जैसे लोगों को इसमें छूट दी गई है।

उन्होंने कहा कि लोकल ट्रेन और बस सेवा केवल आवश्यक सेवाओं के लिए चलेगी। पेट्रोल पंप, सेबी से संबंधित वित्तीय संस्थान और निर्माण कार्य चालू रहेंगे। रेस्तराँ आदि खुले रहेंगे, लेकिन वहाँ बैठकर खाने पर रोक होगी। सिर्फ होम डिलिवरी और टेक-अवे की सुविधा रहेगी।

उन्होंने आगे कहा कि हमने लंबे समय तक विचार किया है, लेकिन अब सख्त कदम उठाने का वक्त आ गया है। हमें इस मामले में ब्रिटेन से सीख लेने की जरूरत है। उद्धव ठाकरे ने नए डॉक्टरों से अपील की कि वे कोरोना के संकट में मदद करें। इसके अलावा उन्होंने रिटायर्ड डॉक्टरों से भी कोरोना संकट में आगे आने की अपील की।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि हम कोरोना के पीक तक पहुँचे हैं या नहीं, यह कह नहीं सकते। आँकड़ों में कब तक इजाफा जारी रहेगा, यह भी नहीं कहा जा सकता। ऐसे में हमें कोरोना वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को तेज करना होगा ताकि आने वाली लहर को कमजोर किया जा सके। हमने पिछली बार आप लोगों की मदद से कोरोना को नियंत्रित किया था, लेकिन इस बार हालात अलग हैं।

महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना के 60,212 नए मामले सामने आए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन की दुकानों से 3 किलो गेंहूँ, 3 किलो चावल मुफ्त में मिलेगा। कार्ड धारकों को 3 महीने तक मुफ्त राशन दिया जाएगा। 12 लाख मजदूरों को 1500-1500 रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी। 

वहीं, जो पत्रकार पहले केवल ट्वीटर थ्रेड के कारण उद्धव को बेस्ट CM बताने में लगे थे। वह अब फिर काम पर लग गए हैं। वह कह रहे हैं कि पूर्ण लॉकडाउन न लगाकर उद्धव ने कोरोना की जंग जीत ली है। ऐसे ट्वीट करके वह भले ही उन्हें पुनः बेस्ट CM साबित करने में लग गए हों, लेकिन सच्चाई इससे परे है। जिसे मुख्यमंत्री भी देश के समक्ष कबूलते नजर आ रहे हैं कि उनके राज्य में कोरोना के कारण भयावह स्थिति का मंजर देखने को मिल रहा है।

बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन को लेकर उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के साथ महत्‍वपूर्ण बैठक की थी। इस बैठक में राज्‍य के लॉकडाउन से प्रभावित होने वाले लोगों के लिए एक वित्‍तीय पैकेज तैयार करने को लेकर चर्चा की गई थी। इसके बाद लॉकडाउन को लागू करने और उसकी अवधि को लेकर अंतिम फैसला लिया गया था। रविवार को हुई टास्क फोर्स के साथ बैठक में मुख्यमंत्री ने 8 दिनों का लॉकडाउन लगाने, जबकि टास्क फोर्स के कुछ सदस्य 14 दिनों के सख्त लॉकडाउन के पक्ष में थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में 10 साल की हिंदू बच्ची की मौत, जुमे की नमाज के बाद हुआ था गैंगरेप: मौसी और नानी से भी दुष्कर्म, उलटे...

10 साल की मासूम के साथ कट्टरपंथियों की भीड़ ने रेप किया था। अब खबर है कि ज्यादा खून बह जाने से उसकी जान चली गई।

गहलोत सरकार में मदरसों की बल्ले-बल्ले, मिलेगा 25-25 लाख रुपए का ‘दीवाली बोनस’, BJP का तंज – ‘जनता के टैक्स का सदुपयोग’

राजस्थान में मुख्यमंत्री मदरसा आधुनिकीकरण योजना के तहत मदरसों के लिए मुस्लिमों को 25 लाख रुपए तक की राशि सरकार देगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,973FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe