Friday, December 3, 2021
Homeराजनीतिकंधा, कलाई, गर्दन, टखना, एड़ी में चोट, सीने में दर्द, साँस में दिक्कत और...

कंधा, कलाई, गर्दन, टखना, एड़ी में चोट, सीने में दर्द, साँस में दिक्कत और बुखार: CM ममता के भतीजे ने BJP को चेताया

CM ममता बनर्जी के भतीजे ने पैर में पट्टी बंधी बुआ की तस्वीर ट्वीट करते हुए भाजपा को चेता कर लिखा - "भाजपा वालो, रविवार (मई 2, 2021) को जनता की ताकत देखने के लिए तैयार रहो!"

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लगी चोट के बाद उनकी पार्टी के नेता भाजपा पर हमलावर हैं। उनका कहना है कि भाजपा ने ये हमला करवाया। वहीं फिलहाल ममता बनर्जी का इलाज SSKM अस्पताल में चल रहा है।

अस्पताल के बाहर रात भर समर्थकों की भारी भीड़ जुटी रही। उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि सीएम ममता के कंधे और टखने में चोट आई है। उन्हें 48 घंटों के लिए मेडिकल देखभाल में रखा गया है। डॉक्टरों का कहना है कि उन्हें बुखार भी है।

डॉक्टर एम बंदोपाध्याय ने बताया कि TMC सुप्रीमो के स्किन में खासी खरोंच आई है और उनके पाँव, दाएँ कंधे, कलाई और गर्दन में जख्म आए हैं। साथ ही उनकी छाती में भी दर्द हो रहा है।

ममता बनर्जी ने साँस रुकने की भी शिकायत दर्ज कराई है। उधर उनके भतीजे और डायमंड हार्बर से सांसद अभिषेक बनर्जी ने अपनी बुआ की अस्पताल की तस्वीर ट्वीट करते हुए भाजपा को चेताया। उन्होंने लिखा, “भाजपा वालो, रविवार (मई 2, 2021) को जनता की ताकत देखने के लिए तैयार रहो!”

मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि कई लोग ममता बनर्जी को रोकना चाहते हैं लेकिन अब तक कोई इसमें सक्षम नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि पहले ADG (कानून-व्यवस्था) को हटाया गया, फिर DG को हटाया गया और आज ये घटना हुई।

पार्थ चटर्जी ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिस चुनाव आयोग ने इतने सारे बदलाव कर डाले, वो इस घटना पर चुप है। उनके अनुसार EC को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वो शुक्रवार (मार्च 12, 2021) को चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिल कर अपनी बात रखेंगे।

ममता बनर्जी को सरकारी अस्पताल के वुडबर्न वार्ड के विशेष केबिन नंबर 12.5 में ले जाया गया और वहाँ चलती फिरती मशीन की मदद से उनका एक्स-रे किया गया। इसी परिसर के बांगुर इंस्टिट्यूट ऑफ न्यूरोसाइंसेज में उन्हें MRI के लिए भी ले जाया गया। उनके बाएँ पैर का एक्स-रे हुआ है।

CM ममता बनर्जी को फिलहाल विशेष वार्ड में रखा गया है। राज्य सरकार द्वारा गठित 5 डॉक्टरों की टीम उनका इलाज कर रही है। ममता बनर्जी का पैर सूज गया है। मुख्यमंत्री का आरोप है कि उनके SUV के दरवाजे का इस्तेमाल कर के बदमाशों ने हमला किया।

बुधवार की रात ये घटना हुई और उसी दिन उन्होंने नंदीग्राम से अपना नामांकन दायर किया था, जहाँ उनका मुकाबला दिग्गज भाजपा नेता शुभेन्दु अधिकारी के साथ है। ममता ने कहा कि स्थानीय पुलिस का कोई जवान वहाँ नहीं था और SP भी मौके पर मौजूद नहीं थे। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने अस्पताल पहुँच कर ममता से मुलाकात की।

तृणमूल सांसद सौगात रॉय ने दावा किया कि भाजपा नेताओं ने इसे ड्रामा बताया है, जबकि देश की एकमात्र महिला मुख्यमंत्री को गंभीर चोटें आई हैं। अरविंद केजरीवाल और अखिलेश यादव जैसे नेताओं ने ‘दीदी’ के उत्तम स्वास्थ्य की प्रार्थना की है।

ममता बनर्जी के साथ ये घटना रानी चौक के गिरीबाजार क्षेत्र में हुई। वहाँ ममता एक मंदिर में दर्शन करने गई थीं। बताया गया कि वहाँ 5000 की भीड़ थी। पूर्वी मिदनापुर पुलिस का कहना है कि भीड़ दिन भर अनियंत्रित थी।

टीवी9 भारतवर्ष ने अपनी रिपोर्ट में चश्मदीदों के हवाले से बताया कि ममता बनर्जी पर किसी ने हमला नहीं किया। उनकी गाड़ी पिलर से टकराई थी। उनके साथ कई सारे पुलिसकर्मी थे। पुलिसकर्मी ने ममता बनर्जी के पैर पर बर्फ लगाया। ममता बनर्जी 5 मिनट रुकीं और फिर चली गईं।

टीवी9 भारतवर्ष की रिपोर्ट की मानें तो 4-5 लोगों द्वारा धकेलने की बात झूठ है। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ”वह मुख्यमंत्री हैं और 300-400 पुलिसकर्मियों के साथ रहती हैं, कोई सपने में भी नहीं सोच सकता है कि ममता बनर्जी पर हमला करे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सियासत होय जब ‘हिंसा’ की, उद्योग-धंधा कहाँ से होय: क्या अडानी-ममता मुलाकात से ही बदल जाएगा बंगाल में निवेश का माहौल

एक उद्योगपति और मुख्यमंत्री की मुलाकात आम बात है। पर जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हों और उद्योगपति गौतम अडानी तो उसे आम कैसे कहा जा सकता?

पाकिस्तानी मूल की ऑस्ट्रेलियाई सीनेटर मेहरीन फारुकी से मिलिए, सुनिए उनकी हिंदू घृणा- जानिए PM मोदी से उनको कितनी नफरत

मेहरीन फारूकी ने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के अच्छे दोस्त PM नरेंद्र मोदी को घेरने के बहाने संघीय सीनेट में घृणा के स्तर तक उतर आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,299FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe