Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीति'तब्लीगी इज्तिमा' के लिए भोपाल में इकट्ठा होंगे 25 लाख से अधिक मुस्लिम: ...

‘तब्लीगी इज्तिमा’ के लिए भोपाल में इकट्ठा होंगे 25 लाख से अधिक मुस्लिम: कमलनाथ खुद देख रहे हैं इंतजाम

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सम्मेलन की तैयारियों में जुटे अधिकारियों से कहा है कि तब्लीगी इज्तिमा के मौक़़े पर बेहतर इंतजाम होना चाहिए। कोशिश होनी चाहिए कि इस जलसे में शामिल होने वाले लोग शासन व्यवस्था से न केवल संतुष्ट रहें, बल्कि उनकी प्रशंसा भी करें।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 3 दिन तक होने वाले एक मज़हबी सम्मेलन के लिए 25 लाख से ज्यादा मुस्लिम इकट्ठा होने जा रहे हैं। जिसके लिए कमलनाथ सरकार द्वारा अभी से तैयारियाँ शुरू कर दी गईं हैं। भोपाल तक पहुँचने में देश भर के मुस्लिमों को तकलीफ न हो इसके लिए रेलवे से ट्रेनों में कुछ एक्स्ट्रा कोच लगाने की अपील की गई है। साथ ही स्वयं सीएम कमलनाथ ने इस संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक करके कार्यक्रम के इंतजामों पर चर्चा की है। भोपाल में ये प्रोग्राम इस साल नवंबर महीने में 23 से 25 तारीख तक चलेगा।

जानकारी के अनुसार इस सम्मेलन का नाम ‘तब्लीगी इज्तिमा’ है। जिसका आयोजन भोपाल में कई दशकों से हर साल 3 दिन के लिए होता आया है। इस सम्मेलन में मुख्यत: मजहब से जुड़ी जानकारी दी जाती है। साथ ही इस मज़हबी सम्मेलन में कुछ सामाजिक फैसले भी लिए जाते हैं। जैसे निकाह में दहेज प्रथा को बंद किया जाए, तालीम पर क्या-क्या काम हो, इत्यादि। बीते वर्ष ये प्रोग्राम भोपाल में 4 दिन तक चला था। इस बार भी इसे सफल बनाने की कोशिशों में कमलनाथ सरकार अपनी पूरी कोशिशों में जुटी है।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सम्मेलन की तैयारियों में जुटे अधिकारियों से कहा है कि तब्लीगी इज्तिमा के मौक़़े पर बेहतर इंतजाम होना चाहिए। कोशिश होनी चाहिए कि इस जलसे में शामिल होने वाले लोग शासन व्यवस्था से न केवल संतुष्ट रहें, बल्कि उनकी प्रशंसा भी करें।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार (अक्टूबर 20, 2019) को मंत्रालय में समीक्षा बैठक करने के दौरान कहा कि इज्तिमा में पूरे देश और विदेश से लोग शामिल होने आएँगे। ऐसे में साफ-सफाई की अच्छी व्यवस्था हो। साथ ही इस दौरान बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के अलावा सभी जरूरतों की मॉनिटरिंग व्यवस्था भी चुस्त-दुरूस्त रखने के निर्देश दिए सीएम ने अधिकारियों को दिए।

उन्होंने अधिकारियों से बोला कि हमारी कोशिश यह हो इस साल कि इज्तिमा जलसे की व्यवस्थाएँ और साफ-सफाई पूरे आयोजन की मिसाल बनें। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कार्यक्रम में आने वाले लोगों को सुविधा देने के लिए अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील ने रेलवे से अच्छी व्यवस्था रखने और ट्रेनों में अतिरिक्त बोगियांँ लगाने को कहा।

इसके बाद बैठक में शामिल भोपाल डिवीजन रेलवे मंडल के प्रमुख उदय बोरवनकर ने डीआरएम भोपाल द्वारा प्रस्तावित रेल सुविधाओं की जानकारी दी और कलेक्टर भोपाल तरुण पिथौड़े ने बताया कि इज्तिमा में आने वाले लोगों की दी जाने वाली सुविधाओं की तैयारी सरकारी विभागों (नगर निगम, लोक निर्माण, ग्राम पंचायत, पुलिस, परिवहन, स्वास्थ्य, विद्युत मंडल, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, भारत संचार निगम, सड़क विकास प्राधिकरण और रेलवे) द्वारा कर ली गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

बिन बुलाए घर पर आकर करने लगा किस, कहा- शिल्पा से रिश्ते ठीक नहीं हैं: राज कुंद्रा पर शर्लिन चोपड़ा ने लगाए यौन उत्पीड़न...

शर्लिन के अनुसार, वह कभी भी एक शादीशुदा शख्स के साथ रिश्ता नहीं बनाना चाहती थीं और न ही उनके साथ कोई व्यापार करना चाहती थीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe