‘तब्लीगी इज्तिमा’ के लिए भोपाल में इकट्ठा होंगे 25 लाख से अधिक मुसलमान: कमलनाथ खुद देख रहे हैं इंतजाम

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सम्मेलन की तैयारियों में जुटे अधिकारियों से कहा है कि तब्लीगी इज्तिमा के मौक़़े पर बेहतर इंतजाम होना चाहिए। कोशिश होनी चाहिए कि इस जलसे में शामिल होने वाले लोग शासन व्यवस्था से न केवल संतुष्ट रहें, बल्कि उनकी प्रशंसा भी करें।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 3 दिन तक होने वाले एक मज़हबी सम्मेलन के लिए 25 लाख से ज्यादा मुस्लिम इकट्ठा होने जा रहे हैं। जिसके लिए कमलनाथ सरकार द्वारा अभी से तैयारियाँ शुरू कर दी गईं हैं। भोपाल तक पहुँचने में देश भर के मुसलमानों को तकलीफ न हो इसके लिए रेलवे से ट्रेनों में कुछ एक्स्ट्रा कोच लगाने की अपील की गई है। साथ ही स्वयं सीएम कमलनाथ ने इस संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक करके कार्यक्रम के इंतजामों पर चर्चा की है। भोपाल में ये प्रोग्राम इस साल नवंबर महीने में 23 से 25 तारीख तक चलेगा।

जानकारी के अनुसार इस सम्मेलन का नाम ‘तब्लीगी इज्तिमा’ है। जिसका आयोजन भोपाल में कई दशकों से हर साल 3 दिन के लिए होता आया है। इस सम्मेलन में मुख्यत: मजहब से जुड़ी जानकारी दी जाती है। साथ ही इस मज़हबी सम्मेलन में कुछ सामाजिक फैसले भी लिए जाते हैं। जैसे निकाह में दहेज प्रथा को बंद किया जाए, तालीम पर क्या-क्या काम हो, इत्यादि। बीते वर्ष ये प्रोग्राम भोपाल में 4 दिन तक चला था। इस बार भी इसे सफल बनाने की कोशिशों में कमलनाथ सरकार अपनी पूरी कोशिशों में जुटी है।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सम्मेलन की तैयारियों में जुटे अधिकारियों से कहा है कि तब्लीगी इज्तिमा के मौक़़े पर बेहतर इंतजाम होना चाहिए। कोशिश होनी चाहिए कि इस जलसे में शामिल होने वाले लोग शासन व्यवस्था से न केवल संतुष्ट रहें, बल्कि उनकी प्रशंसा भी करें।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार (अक्टूबर 20, 2019) को मंत्रालय में समीक्षा बैठक करने के दौरान कहा कि इज्तिमा में पूरे देश और विदेश से लोग शामिल होने आएँगे। ऐसे में साफ-सफाई की अच्छी व्यवस्था हो। साथ ही इस दौरान बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के अलावा सभी जरूरतों की मॉनिटरिंग व्यवस्था भी चुस्त-दुरूस्त रखने के निर्देश दिए सीएम ने अधिकारियों को दिए।

उन्होंने अधिकारियों से बोला कि हमारी कोशिश यह हो इस साल कि इज्तिमा जलसे की व्यवस्थाएँ और साफ-सफाई पूरे आयोजन की मिसाल बनें। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कार्यक्रम में आने वाले लोगों को सुविधा देने के लिए अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील ने रेलवे से अच्छी व्यवस्था रखने और ट्रेनों में अतिरिक्त बोगियांँ लगाने को कहा।

इसके बाद बैठक में शामिल भोपाल डिवीजन रेलवे मंडल के प्रमुख उदय बोरवनकर ने डीआरएम भोपाल द्वारा प्रस्तावित रेल सुविधाओं की जानकारी दी और कलेक्टर भोपाल तरुण पिथौड़े ने बताया कि इज्तिमा में आने वाले लोगों की दी जाने वाली सुविधाओं की तैयारी सरकारी विभागों (नगर निगम, लोक निर्माण, ग्राम पंचायत, पुलिस, परिवहन, स्वास्थ्य, विद्युत मंडल, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, भारत संचार निगम, सड़क विकास प्राधिकरण और रेलवे) द्वारा कर ली गई है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बरखा दत्त
मीडिया गिरोह ऐसे आंदोलनों की तलाश में रहता है, जहाँ अपना कुछ दाँव पर न लगे और मलाई काटने को खूब मिले। बरखा दत्त का ट्वीट इसकी प्रतिध्वनि है। यूॅं ही नहीं कहते- तू चल मैं आता हूँ, चुपड़ी रोटी खाता हूँ, ठण्डा पानी पीता हूँ, हरी डाल पर बैठा हूँ।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,018फैंसलाइक करें
26,176फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: