Saturday, October 16, 2021
Homeराजनीतिगाँधी परिवार को विदेश में भी SPG सुरक्षा: मोदी सरकार का फैसला, कॉन्ग्रेस ने...

गाँधी परिवार को विदेश में भी SPG सुरक्षा: मोदी सरकार का फैसला, कॉन्ग्रेस ने कहा – ‘ये तो निगरानी करवाना है’

विशेषज्ञों ने बताया कि एसपीजी सुरक्षा कवर प्राप्त व्यक्ति को हमेशा एसपीजी दस्ते को अपने साथ ही रखना होता है लेकिन गाँधी परिवार के तीनों सदस्य समय-समय पर विदेश दौरों पर जाते रहते हैं और इस दौरान वे एसपीजी को साथ नहीं ले जाते।

केंद्र सरकार ने एसपीजी सुरक्षा कवर के नियमों का कड़ाई से पालन करने का निर्णय लिया है। बता दें कि ‘स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप’ की सुरक्षा भारत में गिने-चुने नेताओं को ही मिली हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा गाँधी परिवार के तीनों सदस्यों को एसपीजी सिक्योरिटी कवर मिला हुआ है। यूपीए अध्यक्ष सोनिया गाँधी, पूर्व कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी फ़िलहाल एसपीजी की सुरक्षा का लाभ उठा रही हैं। अब सरकार ने कहा है कि जिन्हें भी एसपीजी कवर मिला हुआ है, उन्हें विदेश दौरों पर भी इसे लेकर जाना होगा

सरकार ने सुरक्षा कारणों ने एसपीजी सिक्योरिटी कवर के दिशा-निर्देशों में कड़ाई की है। नियमों के अनुसार, एसपीजी सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति अगर विदेश दौरे पर भी जाता है तो एसपीजी उसके साथ ही रहेगी। इस तरह से सोनिया, राहुल और प्रियंका अगर विदेश दौरों पर भी जाते हैं तो एसपीजी दस्ता उनके साथ ही जाएगा। कॉन्ग्रेस ने इस फ़ैसले का विरोध करते हुए कहा कि मोदी सरकार गाँधी परिवार की निगरानी कराने के लिए ऐसा कर रही है। भाजपा ने कॉन्ग्रेस के इन आरोपों को नकार दिया।

हालाँकि, एक अनाम कॉन्ग्रेस नेता ने ‘टाइम्स नाउ’ को बताया कि राहुल गाँधी नियम-क़ानून का पालन करने वाले नागरिक हैं और उन्होंने हमेशा से सभी सरकारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन किया है। उक्त नेता ने कहा कि अगर उनके भले के लिए, उनकी सुरक्षा के लिए ऐसा किया गया है तो इस फ़ैसले को सहर्ष स्वीकार करेंगे। उस नेता ने आगे जानकारी दी कि पूरे दस्ते को लेकर विदेश यात्रा पर जाना बड़ा मुश्किल होता है, इसीलिए राहुल गाँधी विदेश दौरों पर 2-3 एसपीजी कमांडो लेकर जाते रहे हैं।

विशेषज्ञों का मानना है कि केंद्र सरकार ने एसपीजी की नियमावली में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किया है बल्कि पहले से ही तय किए गए दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करने का निर्णय लिया है। विशेषज्ञों ने बताया कि एसपीजी सुरक्षा कवर प्राप्त व्यक्ति को हमेशा एसपीजी दस्ते को अपने साथ ही रखना होता है लेकिन गाँधी परिवार के तीनों सदस्य समय-समय पर विदेश दौरों पर जाते रहते हैं और इस दौरान वे एसपीजी को साथ नहीं ले जाते। एसपीजी की टीम को हवाई अड्डे से ही वापस कर दिया जाता है।

केंद्र सरकार को लगता है कि ऐसा करना सुरक्षा में लापरवाही बरतना है। इसीलिए, अब नियमों का कड़ाई से पालन करवाया जाएगा। बता दें कि राहुल गाँधी अभी भी विदेश दौरे पर हैं और वह एसपीजी दस्ते को साथ लेकर नहीं गए हैं। ‘इंडिया टुडे’ के सूत्रों के अनुसार, अगर एसपीजी सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति इन नियमों का पालन करने से इनकार करता है तो सरकार उसके विदेश दौरों पर रोक लगा सकती है। अगस्त 2017 में राजनाथ सिंह ने आरोप लगाया था कि राहुल गाँधी ने जानबूझ कर एसपीजी सुरक्षा के बिना 2 साल में विदेश में 72 दिन गुजारे ताकि वह विदेश दौरे के डिटेल्स छिपा सकें।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दलित युवक लखबीर सिंह की हत्या के बाद संयुक्त किसान मोर्चा के बचाव में कूदा India Today, ‘सोर्स’ के नाम पर नया ‘भ्रमजाल’

SKM के नेता प्रदर्शन स्थल पर हुए दलित युवक की हत्या से खुद को अलग कर रहे हैं। इस बीच इंडिया टुडे ग्रुप अब उनके बचाव में सामने आया है। .

कुंडली बॉर्डर पर लखबीर की हत्या के मामले में निहंग सरबजीत को हरियाणा पुलिस ने किया गिरफ्तार, लगे ‘जो बोले सो निहाल’ के नारे

निहंग सिख सरबजीत की गिरफ्तारी की वीडियो सामने आई है। इसमें आसपास मौजूद लोग तेज तेज 'जो बोले सो निहाल' के नारे बुलंद कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,835FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe